Create
Notifications

AUS vs IND - 3 गलतियां जो भारत को दूसरे टी20 मुकाबले में नहीं करनी चाहिए

भारतीय क्रिकेट टीम
भारतीय क्रिकेट टीम
सावन गुप्ता

सिडनी क्रिकेट ग्राउंड में जब भारतीय टीम रविवार को ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ दूसरे टी20 मुकाबले के लिए उतरेगी तो उनकी निगाहें लगातार 9वीं टी20 जीत पर होंगी। भारतीय टीम सीरीज का पहला मुकाबला जीत चुकी है और इसी वजह से उनका कॉन्फिडेंस ज्यादा अच्छा होगा। ऐसे में उनके पास ये मुकाबला जीतकर सीरीज अपने नाम करने का सुनहरा मौका रहेगा।

पहला मैच जीतने के बाद भारतीय टीम के पास अचानक से कई विकल्प बन गए हैं। हालांकि रविंद्र जडेजा के चोटिल होने से टीम को बड़ा झटका जरुर लगा है, लेकिन युजवेंद्र चहल ने कनकशन सब्सीट्यूट के तौर पर जिस तरह का प्रदर्शन पहले मुकाबले में किया था उससे कप्तान विराट कोहली ने राहत की सांस ली होगी।

ये भी पढ़ें: दो बदलाव जो दूसरे टी20 के लिए भारतीय टीम में हो सकते हैं

भारतीय टीम ने पहला टी20 मुकाबला जरुर जीता था लेकिन कई कमियां भी निकलकर सामने आई थीं। इस जीत के बावजूद भारतीय टीम का बेस्ट प्रदर्शन निकलकर सामने आना है। भारत ने पहले मैच में कुछ गलतियां की थीं जिन्हें दूसरे टी20 में बिल्कुल भी नहीं दोहराया जाना चाहिए। हम आपको बताते हैं कि वो कौन-कौन सी गलतियां हैं जो भारत को दूसरे टी20 में नहीं करना चाहिए।

3 गलतियां जो भारत को ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ दूसरे टी20 मुकाबले में नहीं करनी चाहिए

3.ऑस्ट्रेलिया के पांचवे गेंदबाज को सेटल होने देना

ऑस्ट्रेलिया क्रिकेट टीम
ऑस्ट्रेलिया क्रिकेट टीम

भारत ने एक बड़ी गलती पहले मुकाबले में ये की थी कि उन्होंने ऑस्ट्रेलियाई टीम के पांचवें गेंदबाज को सेटल होने का मौका दिया था। कंगारु टीम मिचेल स्टार्क, जोश हेजलवुड, सीन एबॉट, एडम जैम्पा और मिचेल स्वैपसन जैसे गेंदबाजों के साथ उतरी थी। हालांकि इन सबके बीच ऑलराउंडर मोइसिस हेनरिक्स कई अहम विकेट निकाल ले गए और भारतीय टीम से ये बड़ी चूक हो गई।

हेनरिक्स ने अपनी स्लोअर गेंदों से भारतीय बल्लेबाजों को खूब परेशान किया और टीम उनके खिलाफ रन ही नहीं बना पाई। दूसरे टी20 मुकाबले में भारतीय बल्लेबाजों को हेनरिक्स को सेटल होने का मौका नहीं देना चाहिए। इससे कंगारू टीम पर अतिरिक्त दबाव पड़ेगा।

ये भी पढ़ें: टी-20 के 3 ऐसे बेहतरीन खिलाड़ी जिनको कम करके आंका गया

2.संजू सैमसन और मनीष पांडे को ड्रॉप करना

मनीष पांडे
मनीष पांडे

भारतीय टीम को दूसरे टी20 मुकाबले के लिए संजू सैमसन और मनीष पांडे में से किसी भी खिलाड़ी को ड्रॉप करने की गलती बिल्कुल भी नहीं करना चाहिए। अभी तक इस दौरे पर इन दोनों प्लेयर्स को सिर्फ एक ही मैच खेलने का मौका मिला है और ऑस्ट्रेलिया के कंडीशंस में किसी भी खिलाड़ी को सेटल होने के लिए थोड़े टाइम की जरुरत जरुर होती है।

मनीष पांडे और संजू सैमसन जिस स्तर के खिलाड़ी हैं वो अकेले दम पर मैच जिताने की क्षमता रखते हैं। ऐसे में इन दोनों खिलाड़ियों को बिल्कुल भी ड्रॉप नहीं करना चाहिए।

1.मिडिल ओवर्स में विकेट गंवाने की गलती

हार्दिक पांड्या
हार्दिक पांड्या

पहले टी20 के दौरान भारतीय टीम की शुरुआत तो अच्छी हुई थी और लग रहा था कि टीम एक बड़े स्कोर की तरफ बढ़ रही है। संजू सैमसन और के एल राहुल जबरदस्त तरीके से पारी को आगे बढ़ा रहे थे। हालांकि सैमसन के आउट होने के बाद भारतीय पारी लड़खड़ा गई और एक के बाद एक उन्होंने कई विकेट गंवा दिए।ये गलती भारत दूसरे मुकाबले में नहीं कर सकता है।

पहले टी20 के दौरान रविंद्र जडेजा ने अपनी धुंआधार पारी से टीम को एक चुनौतीपूर्ण स्कोर तक पहुंचा दिया था। लेकिन अब जडेजा टीम में मौजूद नहीं हैं और अगर ऐसी कोई परिस्थिति आई तो फिर निचले क्रम में कोई भी बल्लेबाज पारी को संभालने वाला नहीं रहेगा। ऐसे में भारत को मिडिल ओवर्स में विकेट बचाकर रखने की जरुरत है और आखिर में वो खुलकर बैटिंग कर सकते हैं।

Edited by सावन गुप्ता

Comments

Quick Links:

More from Sportskeeda
Fetching more content...