Create
Notifications
Favorites Edit
Advertisement

AUS vs IND, चौथा सिडनी टेस्ट: भारत 622/7 पारी घोषित, चेतेश्वर पुजारा के बाद ऋषभ पंत का भी शानदार शतक  

FEATURED WRITER
न्यूज़
886   //    Timeless

Enter caption

पहला सत्र:

पहले दिन के स्कोर 303/4 से आगे खेलते हुए भारतीय टीम ने दूसरे दिन लंच तक 117 ओवर में पांच विकेट के नुकसान पर 389 रन बना लिए थे। दूसरे दिन पहले सत्र में भारत ने 27 ओवर में एक विकेट के नुकसान पर 86 रन बनाये। ऑस्ट्रेलियाई टीम को एकमात्र सफलता हनुमा विहारी के रूप में मिली, जिन्हें नाथन लायन ने 42 के निजी स्कोर पर आउट किया। हनुमा विहारी ने चेतेश्वर पुजारा के साथ पांचवें विकेट के लिए 101 रनों की साझेदारी निभाई। 329 के स्कोर पर विहारी के आउट होने के बाद पुजारा ने ऋषभ पंत के साथ मिलकर स्कोर को आगे बढ़ाया।

पुजारा ने अपने 150 रन भी पूरे किये और लंच के समय 181 रन बनाकर नाबाद थे। उन्होंने ऋषभ पंत (27*) के साथ छठे विकेट के लिए 60 रन जोड़ लिए थे।

दूसरा सत्र:

दूसरे दिन लंच से चाय के बीच भारतीय टीम ने 29 ओवर में एक विकेट के नुकसान पर 102 रन बनाये और दूसरे सत्र के बाद स्कोर 146 ओवर में 491/6 था। कल से बेहतरीन बल्लेबाजी कर रहे चेतेश्वर पुजारा अभाग्यशाली रहे कि अपना दोहरा शतक पूरा नहीं कर सके और नाथन लायन की गेंद पर 193 रन बनाकर आउट हुए। आउट होने से पहले पुजारा ने ऋषभ पंत के साथ छठे विकेट के लिए 89 रन जोड़े।

ऋषभ पंत ने भी सीरीज का अपना पहला अर्धशतक लगाया और रविंद्र जडेजा के साथ मिलकर टीम को चाय के समय तक 500 के करीब पहुंचा दिया था। दोनों के बीच सातवें विकेट के लिए 73 रनों की साझेदारी हो चुकी थी। चाय के समय पंत 88 और जडेजा 25 रन बनाकर नाबाद थे।

Enter caption

तीसरा सत्र:

चाय के बाद ऋषभ पंत और रविंद्र जडेजा ने धुआंधार बल्लेबाजी का नज़ारा पेश किया और भारतीय टीम ने 167.2 ओवर में 622/7 के विशाल स्कोर पर पारी घोषित की। ऋषभ पंत ने दूसरा टेस्ट शतक लगाया और ऑस्ट्रेलिया में शतक लगाने वाले पहले भारतीय विकेटकीपर बने। उन्होंने 159 रनों की शानदार पारी खेली और नाबाद रहे। रविंद्र जडेजा ने 81 रनों की जबरदस्त पारी खेलकर ऋषभ पंत का बखूबी साथ दिया और दोनों के बीच सातवें विकेट के लिए 204 रनों की साझेदारी हुई, जो ऑस्ट्रेलिया में सातवें विकेट की सबसे बड़ी साझेदारी है। इसके अलावा ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ भारत की तरफ से भी यह सातवें विकेट की सबसे बड़ी साझेदारी का रिकॉर्ड है। 168वें ओवर में नाथन लायन की गेंद पर रविंद्र जडेजा के आउट होते ही विराट कोहली ने पारी घोषित कर दी। रविंद्र जडेजा अभाग्यशाली रहे कि अपना शतक पूरा नहीं कर सके, लेकिन उनकी पारी ने भारत को 600 के पार पहुंचने में काफी मदद की।ऑस्ट्रेलिया की तरफ से नाथन लायन ने चार, जोश हेज़लवुड ने दो और मिचेल स्टार्क ने एक विकेट लिया।

Advertisement

चाय के बाद भारत ने 21.2 ओवर में सिर्फ एक विकेट खोकर 131 रन बनाये और लगभग 12 साल बाद भारतीय टीम ने भारतीय उपमहाद्वीप से बाहर 600 का आंकड़ा पार किया। इससे पहले 2007 में इंग्लैंड के खिलाफ ओवल में भारतीय टीम ने 664 रन बनाये थे।

भारत के विशाल स्कोर के जवाब में ऑस्ट्रेलिया ने दूसरे दिन स्टंप्स तक 10 ओवर में बिना विकेट खोये 24 रन बना लिए थे और वह अभी भी पहली पारी में 598 रन पीछे हैं। कल भारतीय टीम का लक्ष्य ऑस्ट्रेलिया को फॉलोऑन देने का होगा, वहीं मेजबान भी पहली पारी में ज्यादा से ज्यादा स्कोर बनाना चाहेंगे। स्टंप्स के समय मार्कस हैरिस 19 और उस्मान खवाजा 5 रन बनाकर नाबाद थे।

संक्षिप्त स्कोरकार्ड:

भारत: 622/7 (चेतेश्वर पुजारा 193, ऋषभ पंत 159*, रविंद्र जडेजा 81, नाथन लायन 4/178)

ऑस्ट्रेलिया: 24/0


ऑस्ट्रेलिया-भारत टेस्ट सीरीज की सभी खबरों को पढ़ने के लिए इस लिंक पर क्लिक करें

Tags:
Advertisement
Advertisement
Fetching more content...