Create

भारत के खिलाफ सीरीज के लिए अनोखे तरह से तैयारी कर रही है बांग्‍लादेश टीम

New Zealand v Bangladesh - 1st Test: Day 1
मुशफिकुर रहीम ने एनसीएल के दूसरे राउंड में शानदार शतक जमाया

भारतीय टीम (India Cricket team) दिसंबर में बांग्‍लादेश दौरे पर जाएगी। 2015 के बाद पहला मौका होगा जब भारतीय टीम बांग्‍लादेश दौरे पर अलग-अलग प्रारूपों की सीरीज में हिस्‍सा लेगी। भारत और बांग्‍लादेश (Bangladesh Cricket team) के बीच दो टेस्‍ट और तीन वनडे मैचों की सीरीज खेली जाएगी।

बांग्‍लादेश क्रिकेट बोर्ड आगामी नेशनल क्रिकेट लीग (फर्स्‍ट क्‍लास टूर्नामेंट) में ड्यूक बॉल का उपयोग करेगा ताकि भारत के खिलाफ सीरीज के लिए तैयारी कर सके। ड्यूब बॉल के उपयोग से बांग्‍लादेशी बल्‍लेबाजों को भारतीय तेज गेंदबाजी आक्रमण के खिलाफ तैयारी करने का मौका मिलेगा।

क्रिकबज ने रिपोर्ट दी थी कि बीसीबी एनसीएल में ड्यूक बॉल का परिचय करने के बारे में विचार कर रहा है ताकि विदेशी परिस्थितियों के लिए टीम को तैयारी मुहैया करा सके। मगर भारत के खिलाफ टेस्‍ट सीरीज ज्‍यादा दूर नहीं है तो अब ड्यूक बॉल का उपयोग इस सीरीज की तैयारी के लिए होगा।

बल्‍लेबाजों के लिए ड्यूक का परिचय कठिन रहा। मुशफिकुर रहीम के अलावा एनसीएल के शुरूआती दो राउंड में अन्‍य बल्‍लेबाज इसके खिलाफ संघर्ष करते हुए दिखे। एनसीएल के पहले राउंड में कोई भी मुकाबला चौथे दिन तक नहीं गया जबकि दूसरे राउंड में रहीम ने शानदार शतक जमाया।

पूर्व टेस्‍ट कप्‍तान मोनिमुल हक और टेस्‍ट ओपनर महमुदुल हसन ने एनसीएल के शुरूआती राउंड में हिस्‍सा नहीं लिया क्‍योंकि उनके तमिलनाडु के खिलाफ दो मैचों की सीरीज के लिए भारत की यात्रा करने की संभावना है। उस सीरीज का कार्यक्रम दोबारा तय हुआ तो वह चटगांव में दूसरे राउंड के मुकाबले खेले, लेकिन एसबीएनएस पर कोई बड़ा प्रभाव नहीं छोड़ सके।

मोनिमुल ने 13 और 22 जबकि महमुदुल ने 11 और 7 रन बनाए। अन्‍य बल्‍लेबाज ड्यूक के सामने संघर्ष करते दिखे। पिच पर अच्‍छा उछाल और गति थी क्‍योंकि फर्स्‍ट क्‍लास टूर्नामेंट में छह मिलिमीट घास होना अनिवार्य है।

राष्‍ट्रीय चयनकर्ता हबीबुल बशर ने शुक्रवार को क्रिकबज से बातचीत में कहा, 'हम ड्यूक से खेलना चाहते हैं ताकि हमारे बल्‍लेबाजों को मदद मिले। हम जानते हैं कि भारत के खिलाफ घरेलू सीरीज में ड्यूक गेंद का उपयोग नहीं होगा, लेकिन हम इससे खेलना जारी रखेंगे क्‍योंकि ड्यूक से स्विंग और बाउंस होता है, जो भारतीय तेज गेंदबाज अन्‍य गेंदों से कराते हैं।'

उन्‍होंने आगे कहा, 'हमारे बल्‍लेबाज एनसीएल में संघर्ष कर रहे हैं। वो पिच पर समय बिताने के बावजूद भी संघर्ष कर रहे हैं क्‍योंकि गेंद का बर्ताव इस तरह का है। हमें भारतीय गेंदबाजों से भी इसी तरह की उम्‍मीद है कि वह अपनी शैली और अनुभव के दम पर कभी भी गेंद को स्विंग करा सकते हैं। इसलिए हम ड्यूक के साथ उनके खिलाफ सीरीज के लिए अच्‍छी तरह तैयारी करना चाहते हैं।'

Quick Links

Edited by निशांत द्रविड़
Be the first one to comment