ज़िम्बाब्वे के खिलाफ दो मैचों की टेस्ट सीरीज के कार्यक्रम में बांग्लादेश कर सकता है बदलाव, अहम वजह आई सामने 

बांग्लादेश को ज़िम्बाब्वे की मेजबानी करनी है
बांग्लादेश को ज़िम्बाब्वे की मेजबानी करनी है

बांग्लादेश अपने घर पर ज़िम्बाब्वे (BAN vs ZIM) के खिलाफ होने वाली दो मैचों की टेस्ट सीरीज के कार्यक्रम में बदलाव का विचार कर रहा है, ताकि उसे 1 जून से वेस्टइंडीज और यूएसए में होने वाले टी20 वर्ल्ड कप की तैयारियों के लिए समय मिल सके।

क्रिकबज से बीसीबी के एक टॉप अधिकारी ने कार्यक्रम में बदलाव की संभावना की पुष्टि की और बताया कि आगामी कुछ दिनों में अंतिम निर्णय लिया जायेगा।

मंगलवार को बीसीबी के क्रिकेट ऑपरेशन जलाल यूनुस ने ने कहा,

यह सच नहीं है कि हम जिम्बाब्वे के खिलाफ दो टेस्ट मैच नहीं खेलेंगे। निश्चित तौर पर हम दो टेस्ट (जिम्बाब्वे के खिलाफ) खेलेंगे लेकिन हम वह टेस्ट कब खेलेंगे यह हमें तय करने की जरूरत है।

बांग्लादेश को 19 जनवरी से आगामी बांग्लादेश प्रीमियर लीग के साथ आगामी आईसीसी टूर्नामेंट के लिए अपनी तैयारी शुरू करनी है। बीपीएल के बाद बांग्लादेश को श्रीलंका और जिम्बाब्वे के खिलाफ घरेलू सीरीज खेलनी है। श्रीलंका को दो टेस्ट के अलावा तीन वनडे और तीन टी20 अंतरराष्ट्रीय मैच खेलने हैं जिसके बाद बांग्लादेश को मई में जिम्बाब्वे के खिलाफ दो टेस्ट और पांच टी20 अंतरराष्ट्रीय मैच खेलने हैं।

बीसीबी टेस्ट मैचों के कार्यक्रम में बदलाव करने पर विचार कर रहा है क्योंकि इससे उन्हें टी20 वर्ल्ड कप की तैयारी के लिए कुछ अतिरिक्त समय मिल जाएगा। बांग्लादेश के मुख्य कोच चंडिका हथुरूसिंघा के 20 जनवरी को पहुंचने की उम्मीद है और उनके आने के बाद बीसीबी वर्ल्ड कप के लिए अपनी योजना तैयार करेगा।

माना जा रहा है कि अगर जिम्बाब्वे के खिलाफ टेस्ट सीरीज के कार्यक्रम में बदलाव किया जाता है तो बोर्ड परिस्थितियों से सामंजस्य बैठाने के लिए अपनी टीम को पहले अमेरिका भेज सकता है। फ्लोरिडा में 2018 में वेस्टइंडीज के खिलाफ अपने दो मैचों के बाद यह दूसरी बार है जब बांग्लादेश अमेरिका में क्रिकेट खेल रहा है।

Quick Links

Edited by Prashant Kumar