"विराट कोहली के टेस्ट कप्तानी से अचानक इस्तीफे के बाद बीसीसीआई को अलग-अलग कप्तानी की योजना बदलने के लिए मजबूर होना पड़ा"- पूर्व खिलाड़ी ने दी प्रतिक्रिया 

विराट कोहली के टेस्ट कप्तानी छोड़ने के बाद रोहित अगले टेस्ट कप्तान बने हैं
विराट कोहली के टेस्ट कप्तानी छोड़ने के बाद रोहित अगले टेस्ट कप्तान बने हैं

भारतीय क्रिकेट में एक समय में अलग-अलग कप्तानों की नियुक्ति कम ही देखी जाती है और अक्सर हम देखते हैं कि एक ही खिलाड़ी को तीनों प्रारूपों का कप्तान बना दिया जाता है। हालांकि कुछ समय पहले तक ऐसा संभव लग रहा था लेकिन कुछ कारणों से ऐसा नहीं हुआ। पूर्व भारतीय खिलाड़ी सबा करीम (Saba Karim) ने भी स्प्लिट कप्तानी को लेकर प्रतिक्रिया दी है। उनके मुताबिक बीसीसीआई (BCCI) अलग-अलग कप्तानी के बारे में योजना बना रही थी लेकिन विराट कोहली (Virat Kohli) के टेस्ट कप्तानी छोड़ने से ऐसा संभव नहीं हो पाया और रोहित शर्मा (Rohit Sharma) को सभी प्रारूपों में कप्तान बना दिया गया।

यूट्यूब चैनल खेलनीति पर उन्होंने माना कि कोहली के इस्तीफे के बाद शर्मा को कप्तानी सौंप कर चयनकर्ताओं ने सही काम किया है। उन्होंने कहा,

विराट कोहली के टेस्ट कप्तानी से अचानक इस्तीफे के बाद बीसीसीआई को विभाजित कप्तानी की योजना बदलने के लिए मजबूर होना पड़ा। कोहली से लाल गेंद की कप्तानी छोड़ने की उम्मीद नहीं थी और उनके इस्तीफे के कारण, भारत को रोहित शर्मा को सभी प्रारूपों में कप्तान बनाना पड़ा।

उन्होंने कहा कि ऋषभ पंत, जसप्रीत बुमराह और केएल राहुल जैसे खिलाड़ियों को उपकप्तान बनाने से साफ़ संकेत मिल रहा कि भविष्य के कप्तान को तैयार करने की योजना शुरू हो चुकी है। पूर्व खिलाड़ी ने आगे कहा,

शर्मा नेतृत्व की भूमिका के लिए एक आदर्श उम्मीदवार हैं और हम उनके अंडर युवाओं को तैयार कर सकते हैं। केएल राहुल, ऋषभ पंत और जसप्रीत बुमराह को उपकप्तानी के अवसर देना दर्शाता है कि ग्रूमिंग की प्रक्रिया शुरू हो गई है।

श्रीलंका के खिलाफ 4 मार्च से शुरू होने वाली दो टेस्ट मैचों की सीरीज टेस्ट कप्तान के रूप में रोहित शर्मा के लिए पहला असाइनमेंट होगा।

खेलनीति चैनल पर सबा करीम के साथ विराट कोहली के बचपन के कोच राजकुमार शर्मा भी मौजूद थे। उन्होंने भी रोहित शर्मा को सभी प्रारूपों में कप्तान बनाए जाने को लेकर प्रतिक्रिया दी। उनके मुताबिक अलग-अलग कप्तानी के पीछे वर्कलोड को कम करने की सोच थी लेकिन उन्होंने रोहित को सभी प्रारूपों में कप्तान बना दिया।

शर्मा ने मेंशन किया कि चयनकर्ताओं के पास रोहित के अलावा और कोई विकल्प नहीं था। उन्होंने कहा,

कई बार ऐसे बयान आए जैसे भारतीय कप्तान पर बहुत दबाव होता है और स्प्लिट कप्तानी होनी चाहिए। लेकिन फिर, एक नए ऑल-फॉर्मेट कप्तान की घोषणा की जाती है। मेरा मानना है कि चयनकर्ताओं ने रोहित शर्मा को कप्तान बनाया है, क्योंकि इस पद के लिए और कोई दावेदार नहीं था।

Quick Links

Edited by Prashant Kumar