Create

बेंगलुरु टेस्ट मैच की पिच को लेकर आईसीसी ने की कड़ी कार्रवाई, अहम वजह आई सामने

आईसीसी ने पिच को औसत से भी नीचे बताया
आईसीसी ने पिच को औसत से भी नीचे बताया

हाल ही में समाप्त हुई भारत और श्रीलंका (IND vs SL) के बीच टेस्ट सीरीज का दूसरा मैच बेंगलुरु में खेला गया था। डे-नाइट टेस्ट में भारत ने अपना दबदबा बनाया था और जीत दर्ज की थी। अब इस मैच की पिच को लेकर आईसीसी द्वारा कड़ी कार्रवाई की गई है। आईसीसी मैच रेफरी जवागल श्रीनाथ ने चिन्नास्वामी की पिच को औसत दर्जे से भी ख़राब बताया है और वेन्यू को एक डिमेरिट अंक भी दिया है।

इस टेस्ट मैच में भारतीय टीम ने पहले बल्लेबाजी करते हुए अपनी पहली पारी में 252 रन बनाये थे। जवाब में श्रीलंका की पहली पारी महज 109 रन पर सिमट गई थी। दूसरी पारी में भारत ने ऋषभ पंत और श्रेयस अय्यर की अर्धशतकीय पारियों की मदद से 9 विकेट पर 303 रन बनाये थे और श्रीलंका को 447 रन का लक्ष्य दिया था। मेहमान टीम दिमुथ करुणारत्ने के शतक के बावजूद महज 208 रन बना पाई और 238 रन से मैच हार गई।

श्रीनाथ ने अपनी रिपोर्ट में पिच को लेकर लिखा,

पिच ने पहले दिन ही काफी टर्न की पेशकश की और हालांकि हर सत्र के साथ इसमें सुधार हुआ, मेरे विचार में, यह बल्ले और गेंद के बीच एक समान मुकाबला नहीं था।

संशोधित आईसीसी पिच और आउटफील्ड निगरानी प्रक्रिया के अनुसार, जिन वेन्यू की पिचों को मैच रेफरी द्वारा औसत से नीचे रेट किया जाता है, उन्हें एक डिमेरिट अंक प्राप्त होता है, जबकि तीन और पांच डिमेरिट अंक उन स्थानों को दिए जाते हैं जिनकी पिचों को क्रमशः खराब और अनफिट के रूप में चिह्नित किया जाता है। डिमेरिट अंक पांच साल की अवधि के लिए सक्रिय रहते हैं और यदि डिमेरिट अंकों की संख्या पांच से ज्यादा हो गई तो वेन्यू को 12 महीने की अवधि के लिए किसी भी अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट की मेजबानी से निलंबित कर दिया जाता है।

Quick Links

Edited by Prashant Kumar
Be the first one to comment