Create
Notifications
Favorites Edit
Advertisement

2010-2019: पिछले एक दशक की श्रेष्ठ टेस्ट टीम पर एक नजर

  • इस टीम में भारतीय खिलाड़ियों को भी जगह मिली है
Naveen Sharma
FEATURED WRITER
विशेष
Modified 21 Dec 2019, 01:24 IST

विराट कोहली
विराट कोहली

क्रिकेट के तीनों प्रारूप में टेस्ट क्रिकेट का स्वरूप अलग ही होता है। इस प्रारूप में एक खिलाड़ी की कड़ी परीक्षा होती है। गेंदबाज हो या बल्लेबाज हो, टेस्ट क्रिकेट दोनों के लिए ही आसान नहीं होता। ऐसा कहा भी जाता है कि टेस्ट क्रिकेट की असली खेल होता है। इस प्रारूप से कई दिग्गजों ने विश्व क्रिकेट ने अपना नाम बनाया और अलग ही छाप छोड़ी। इस लेख में 2009 से 2019 यानि पिछले दशक के श्रेष्ठ खिलाड़ियों से एक टेस्ट एकादश का जिक्र किया गया है।

यह भी पढ़ें: आईपीएल नीलामी के लिए 332 खिलाड़ियों को अंतिम सूची में शामिल किया गया


1. हाशिम अमला- इस खिलाड़ी ने बतौर ओपनर दक्षिण अफ्रीका के लिए शानदार काम किया और कई जमकर टेस्ट क्रिकेट का आनन्द उठाया। पिछले एक दशक में उनका दबदबा रहा और उन्होंने करियर में 6695 रन बनाए, इसमें 21 शतक थे। इस साल उन्होंने संन्यास लिया।

2. एलिस्टेयर कुक- दूसरे ओपनर बल्लेबाज के तौर पर कुक का नाम ही आएगा। अपने अंतिम टेस्ट में उन्होंने भारत के खिलाफ शतक जड़ा और पिछले एक दशक तक हावी रहे।

3. स्टीव स्मिथ- ऑस्ट्रेलिया के कप्तान की टेस्ट क्रिकेट में मौजूदा समय में सबसे ज्यादा औसत है। उन्हें दशक की श्रेष्ठ टीम में तीसरे स्थान पर रखा गया है।

4. विराट कोहली (कप्तान)- मौजूदा टेस्ट रैंकिंग में पहले नम्बर पर काबिज भारतीय कप्तान ने टेस्ट क्रिकेट में धाक जमाई है। वे टीम के कप्तान भी हैं और उन्हें चौथा स्थान मिलना चाहिए।

5. एबी डीविलियर्स- रिटायर हो चुके इस दक्षिण अफ़्रीकी खिलाड़ी ने अपना तगड़ा खेल पिछले एक दशक में दिखाया है। उन्हें पांचवे स्थान पर बल्लेबाजी के लिए रखा जाना चाहिए।

6. बेन स्टोक्स- गेंद और बल्ले दोनों से कमाल दिखाने वाले बेन स्टोक्स को इस सूची में ऑल राउंडर के तौर पर शामिल किया जाना बनता है।

7. कुमार संगकारा- टेस्ट करियर में दस हजार से ज्यादा रन बनाने वाले संगकारा को विकेटकीपर के तौर पर शामिल करना चाहिए क्योंकि अन्य कोई कीपर उनके आस-पास नजर नहीं आता है।

Advertisement

8. रविचंद्रन अश्विन- भारतीय स्पिनर अश्विन का प्रदर्शन पिछले कुछ सालों से कैसा है, यह किसी से छुपा नहीं है इसलिए उन्हें टीम में जगह मिलना लाजमी है। वे बल्ले से भी प्रदर्शन करने में सक्षम हैं।

9. रंगना हेराथ- करियर में 433 टेस्ट विकेट लेने वाले रंगना हेराथ दूसरे स्पिनर के तौर पर इस टीम में आने के हकदार हैं।

10. डेल स्टेन- करियर में 439 विकेट लेने वाला यह खिलाड़ी बतौर तेज गेंदबाज शामिल किया जाना चाहिए।

11. जेम्स एंडरसन- टेस्ट करियर 600 विकेट के बड़े कीर्तिमान के पास खड़े इस खिलाड़ी के बारे में कोई चर्चा करने की जरूरत नहीं है। उनका स्थान इस टीम में स्वतः ही बनता है।

Published 16 Dec 2019, 14:14 IST
Advertisement
Fetching more content...