2013 में स्पॉट फिक्सिंग में फंसने वाली राजस्थान रॉयल्स की टीम को प्रवीण ताम्बे ने दी थी भावुक स्पीच, पूर्व खिलाड़ी ने किया खुलासा

प्रवीण ताम्बे ने अधिक उम्र का होने के बावजूद अपने प्रदर्शन से सभी को हैरान कर दिया था
प्रवीण ताम्बे ने अधिक उम्र का होने के बावजूद अपने प्रदर्शन से सभी को हैरान कर दिया था

आईपीएल (IPL) 2013 में स्पॉट फिक्सिंग स्कैंडल हुआ था जिस वजह से उस सीजन की काफी बदनामी हुई थी और विशेष रूप से राजस्थान रॉयल्स (Rajasthan Royals) के लिए उनके तीन खिलाड़ियों को स्पॉट फिक्सिंग के आरोप में गिरफ्तार किया गया था। राजस्थान अपने अभियान के अंत में थी और टीम प्लेऑफ में जगह बनाने की कगार पर थी, लेकिन फिक्सिंग स्कैंडल से टीम की छवि और खिलाड़ियों को बड़ा झटका लगा।

ऐसे कठिन समय के दौरान, सीनियर खिलाड़ियों और कोचिंग स्टाफ से प्रेरणा अक्सर टीम को काफी प्रेरित करती है और ये काम एक अनकैप्ड खिलाड़ी ने किया था। उन्होंने कहा था कि, "हम चलते रहेंगे।" 2013 की राजस्थान टीम का हिस्सा रहे पूर्व ऑस्ट्रेलियाई क्रिकेटर ब्रैड हॉग ने प्रवीण ताम्बे की इस शानदार स्पीच को याद किया।

ताम्बे की फिल्म 'कौन प्रवीण ताम्बे?' पर अपने यूट्यूब चैनल पर हॉग ने इस स्टार गेंदबाज को "अत्यधिक प्रेरणादायी" और हार ना मानने वाले जज्बे के लिए गेम का महान खिलाड़ी बताया।

ताम्बे की स्पीच ने सभी को प्रेरणा दी - ब्रैड हॉग

ब्रैड हॉग ने 2013 में ताम्बे के साथ ड्रेसिंग रूम शेयर करने के बारे में बात की और साथ ही साथ जब 2013 में हैदराबाद के खिलाफ अंतिम लीग गेम से पहले टीम को आगे बढ़ने के लिए प्रेरणा दी। उन्होंने कहा,

एक समय राजस्थान रॉयल्स के साथ था। हम मुंबई में थे और हम मैच फिक्सिंग की घटना से गुजरे। मैं खिलाड़ियों का जिक्र नहीं करने जा रहा हूं लेकिन हम मुंबई खेलने के बाद और अगली सुबह हैदराबाद जाने के लिए बस में चढ़ गए। 3-4 खिलाड़ी उस बस में नहीं थे, उन्हें गिरफ्तार कर लिया गया था। हम हैदराबाद पहुंचे और वहां हर जगह कैमरे थे और हम बस से उतरकर अपने कमरों में जाना चाहते थे।
फिर कोच ने हमें पूल के आसपास बैठने और स्थिति पर चर्चा करने के लिए बुलाया और पूछा कि सभी कैसा महसूस कर रहे हैं। हर कोई परेशान था। कुछ लोगों के एक्शन ने बाकी सभी को प्रभावित किया और उन चार खिलाड़ियों ने जो किया बाकी सभी खिलाड़ी दूर तक भी वह करने के बारे में नहीं सोच सकते थे। हम बहुत निराश थे।
सब एक दूसरे से सवाल कर रहे थे और जब प्रवीण की बात आई तो वह फूट-फूट कर रो पड़े। टीवी पर उच्च स्तर पर खेलने का अवसर अभी चार अन्य खिलाड़ियों की हरकतों से शर्मसार हुआ था और फिर ताम्बे की छोटी सी भावुक स्पीच और जवाबों ने हमे महसूस कराया कि हमें चलते रहना है और हम अभी भी राजस्थान रॉयल्स के लिए खेलेंगे। हमें अभी भी एक ग्रुप के रूप में खेलना है और उस लक्ष्य को प्राप्त करने की कोशिश करनी है जो हमने निर्धारित किया था।

Quick Links

Edited by Prashant Kumar
App download animated image Get the free App now