Create

"मेरा टेस्‍ट करियर शुरू होने से पहले ही खत्‍म हो जाता", ब्रेट ली ने किया खुलासा

ग्‍लेन मैक्‍ग्रा की मजेदार हरकत के कारण ब्रेट ली का करियर शुरू होने से पहले ही खत्‍म हो जाता
ग्‍लेन मैक्‍ग्रा की मजेदार हरकत के कारण ब्रेट ली का करियर शुरू होने से पहले ही खत्‍म हो जाता
Vivek Goel

ऑस्‍ट्रेलिया (Australia Cricket team) के पूर्व तेज गेंदबाज ग्‍लेन मैक्‍ग्रा (Glenn McGrath) और ब्रेट ली (Brett Lee) साल 2000 की शुरूआत से लेकर 2007 तक तेज गेंदबाजी आक्रमण का प्रमुख हिस्‍सा रहे। दोनों ने आखिरी बार 2007 में साथ खेला था। जहां ब्रेट ली अपनी पैर तोड़ यॉर्कर और खतरनाक बाउंसर के लिए मशहूर थे, वहीं मैक्‍ग्रा अपने अनुशासन के लिए जाने जाते थे।

ग्‍लेन मैक्‍ग्रा के बारे में कहा जाता था कि वो एक ही टप्‍पे पर पूरे दिन गेंद डाल सकते हैं और वो विश्‍व के सर्वश्रेष्‍ठ बल्‍लेबाजों को आउट करने में भी कामयाब रहते थे।

दोनों तेज गेंदबाज रिकी पोंटिंग के नेतृत्‍व वाली दमदार ऑस्‍ट्रेलियाई टीम का हिस्‍सा थे, जिसने दुनिया पर कई सालों तक राज किया है। मैक्‍ग्रा और ली ने मिलकर अपने अंतरराष्‍ट्रीय करियर में 1600 से ज्‍यादा विकेट लिए हैं। वह सबसे सफल तेज गेंदबाजी जोड़ी में से एक के रूप में जाने जाते हैं।

ग्‍लेन मैक्‍ग्रा ने टेस्‍ट में 563 विकेट लिए जबकि वनडे में 381 विकेट लिए। मगर मैक्‍ग्रा मैदान में जितने सख्‍त गेंदबाज थे, वहीं मैदान के बाहर उनकी छवि कुछ और थी, जिसका खुलासा ब्रेट ली ने किया। ली ने मैक्‍ग्रा के साथ अपनी यादों का खुलासा किया। मैक्‍ग्रा को सर्वश्रेष्‍ठ तेज गेंदबाज करार देते हुए ली ने वो बातें बताई, जिसके बारे में ज्‍यादा लोग जानते नहीं हैं।

ब्रेट ली ने अपने यूट्यूब चैनल पर कहा, '1999 में बॉक्सिंग डे टेस्‍ट के दौरान मैं मैक्‍ग्रा और गिलक्रिस्‍ट के बीच में बैठा था। गिली मुझे देखकर कह रहे थे कि जाकर आनंद उठाना और मैं युवा लड़के की तरह बाते सुन रहा था, लेकिन मेरी आंखें मैदान पर लगी हुईं थी। मैक्‍ग्रा मेरे पास में बैठे थे। उन्‍होंने मेरे दोनों जूतों की लेस आपस में बांध दी तो जब मैं उठा, गिर पड़ा। मेरा टेस्‍ट करियर शुरू होने से पहले ही खत्‍म हो जाता।'

ली ने मैक्‍ग्रा के सिडनी में संघर्ष के बारे में बात की और उनकी विशेषता के बारे में भी बताया। ली ने कहा, 'मैक्‍ग्रा पूरे दिन गेंद को एक टुकड़े पर फेंक सकते हैं।' ली ने बताया कि मैक्‍ग्रा का एक्‍स फैक्‍टर उनका लंबा कद और सटीक लाइन पर गेंदबाजी करना था।

मैक्‍ग्रा को अपना मेंटर बताते हुए ब्रेट ली ने कहा कि मैक्‍ग्रा ने ही उन्‍हें एक्‍शन में सुधार करने में मदद की और गेंदबाजी स्‍पेल के दौरान लाइन-लेंथ बरकरार रखने के बारे में बताया। ली ने याद किया कि टीम मीटिंग के दौरान वो दोनों इस बारे में विचार करते थे कि दिग्‍गज बल्‍लेबाज सचिन तेंदुलकर और ब्रायन लारा को किस तरह आउट करना है।

बातचीत को याद करते हुए ली ने कहा, 'मैक्‍ग्रा हमेशा कहते थे कि अच्‍छी बाउंसर, अच्‍छी यॉर्कर, ऑफ स्‍टंप के ऊपर और यह बहुत था, जो उन्‍होंने अपने पूरे करियर में किया व सफल रहे।'

ली ने कहा, 'असली मैक्‍ग्रा बहुत अलग चरित्र वाले हैं। वो ऐसे हैं जो सिर्फ मैदान में अपनी आक्रमकता और प्रतिस्‍पर्धी बर्ताव दिखाते थे, जबकि मैदान के बाहर एकदम अलग व्‍यक्ति थे। मैक्‍ग्रा ऐसे व्‍यक्ति हैं जो किसी पर प्रैक्टिकल मजाक करते हैं।'

ब्रेट ली ने मैक्‍ग्रा की दरियादिली गतिविधियों के बारे में बताया और उसकी तारीफ भी की। उन्‍होंने कहा, 'मैदान के बाहर मैक्‍ग्रा फाउंडेशन के जरिये जो उन्‍होंने किया, वो शानदार है। वो ब्रेस्‍ट केयर नर्सेस के लिए पैसे इकट्ठा करते हैं। वो शानदार व्‍यक्ति हैं और लोग उनसे प्‍यार करते हैं। वो सुपरस्‍टार हैं।'


Edited by Prashant Kumar

Comments

Quick Links

More from Sportskeeda
Fetching more content...