Create
Notifications

'श्रीलंका में अच्छा प्रदर्शन कर पाया, तो मेरे दिवंगत पिता की आत्मा को शांति मिलेगी'

reaction-emoji
निरंजन

आईपीएल (IPL) ने भारतीय टीम (Indian Team) को कई खिलाड़ी दिए हैं और हर साल ऐसा होता है। इस बार भी राजस्थान रॉयल्स (Rajasthan Royals) के लिए खेलने वाले चेतन सकारिया (Chetan Sakariya) को टीम इंडिया में श्रीलंका जाने का मौका मिला है। हर सीजन में युवाओं का कौशल देखने को मिलता है और राष्ट्रीय टीम में उनका चयन भी होता है। चेतन सकारिया ने कहा है कि श्रीलंका में अच्छा करने से उनके पिता की आत्मा को शांति मिलेगी।

चेतन सकारिया ने कहा कि मैं सोच रहा था कि मैं अपनी मां की देखभाल कैसे करूं। हालांकि मैंने मेडिटेशन के जरिए खुद को मानसिक रूप से मजबूत रखने की कोशिश की है। अगर मैं श्रीलंका में कुछ अच्छा कर पाया तो मेरे पिता की आत्मा को भी शांति मिलेगी। चिंटू (पुजारा) भैया ने कहा है, दबाव में आने की कोई वजह नहीं है। इस जगह तक पहुंचना मुश्किल है। इसलिए अगर कोई दिक्कत होगी तो सबसे पहले चिंटू भैया को बताऊंगा।

चेतन सकारिया के लिए यह साल मुश्किल भरा रहा

यह साल इस युवा खिलाड़ी के लिए रोलर कॉस्टर रहा है। उन्होंने सबसे पहले अपने भाई को खो दिया और फिर घरेलू क्रिकेट और आईपीएल में उनके प्रदर्शन ने परिवार को थोड़ी खुशी दी। व्यक्तिगत नुकसान से उबरने और मैदान पर अच्छा प्रदर्शन करने के लिए बहुत साहस चाहिए। सकारिया ने स्वभाव दिखाया। लेकिन, जब उन्हें अपना भारत कॉल-अप मिला, तब उनका परिवार उनके पिता के खोने का शोक मना रहा था। वह कोरोना वायरस की वजह से दुनिया को अलविदा कह गए। चेतन सकारिया के ऊपर दुखों का पहाड़ टूट पड़ा।

इस साल की शुरुआत में घरेलू क्रिकेट में उनके प्रदर्शन ने उन्हें आईपीएल में अनुबंध दिलाने में मदद की। बाद में उनके आईपीएल प्रदर्शन ने उन्हें भारतीय टीम में एक मौका दिया और वह श्रीलंका दौरे के लिए चुने गए। गुजरात के भरतेज के रहने वाले युवा चेतन पहले ही 15 प्रथम श्रेणी मैचों में 41 विकेट ले चुके हैं और उनका आईपीएल प्रदर्शन अगले स्तर के लिए तैयार होने के लिए मददगार रहा।


Edited by निरंजन
reaction-emoji

Comments

Quick Links:

More from Sportskeeda
Fetching more content...