Create
Notifications
Favorites Edit
Advertisement

 वर्ल्ड कप 2019: भारत को मध्य और निचले क्रम की बल्लेबाजी में सुधार की जरूरत- क्लाइव लॉयड

  • वेस्टइंडीज के लिए यह विश्वकप किसी सीख से कम नहीं
Richa Gupta
ANALYST
न्यूज़
Modified 20 Dec 2019, 23:41 IST

क्लाइव लॉयड
क्लाइव लॉयड

भारत ने इंग्लैंड से हारने के बावजूद सेमीफाइनल में जगह बना ली है। अब लीग मैचों में उसका आखिरी मुकाबला श्रीलंका से शुक्रवार को होना है। वेस्टइंडीज के महान बल्लेबाज क्लाइव लायड का मानना है कि भारत इस विश्वकप की सर्वश्रेष्ठ टीमों में से एक है लेकिन कप्तान विराट कोहली की टीम को नॉकआउट चरण से पहले अपने बल्लेबाजी के मध्य और निचले क्रम को मजबूत करना होगा।

वेस्टइंडीज को सन 1975 और 1979 के वर्ल्डकप जिताने वाले क्लाइव लॉयड ने आईसीसी के लिए लिखे अपने कालम में कहा कि भारत की बल्लेबाजी रोहित शर्मा और विराट कोहली पर हद से ज्यादा निर्भर है। महेंद्र सिंह धोनी समेत मध्यक्रम के बल्लेबाज अभी तक प्रभावशाली साबित होने में नाकाम रहे हैं। भारत के सामने चयन की दुविधा है। इंग्लैंड ने उसके स्पिनरों के खिलाफ आक्रामक बल्लेबाजी की। भारत को अपने मध्य और निचले क्रम के बल्लेबाजों को मजबूत बनाना होगा। अगर उसने ऐसा न किया तो फाइनल में पहुंचना मुश्किल में पड़ सकता है। वेस्टइंडीज के प्रदर्शन के बारे में उन्होंने कहा कि मेरी टीम के लिए यह टूर्नामेंट किसी सीख से कम नहीं रहा है। श्रीलंका से मिली हार उसकी मिसाल है। उम्मीद है कि टीम गलतियों से सीखेगी। 

उन्होंने भारत और ऑस्ट्रेलिया की तारीफ की कि दोनों टीमें सेमीफाइनल में पहुंच चुकी हैं। दोनों ने विश्वकप में लाजवाब प्रदर्शन किया है। उन्होंने हालात को समझा और उसी के मुताबिक क्रिकेट खेला। ये दोनों टीमें यहां की कंडीशन को अन्य टीमों के मुकाबले ज्यादा अच्छे तरीके से समझ रही हैं। यही वजह से है कि दोनों यहां तक पहुंची हैं। इंग्लैंड की पिचें काफी अच्छी हैं। ऐसा प्रतीत होता है कि भारत व ऑस्ट्रेलिया अपने घर में खेल रही हैं। नॉकआउट मुकाबलों में पिच की अहम भूमिका रहने वाली है।

Hindi Cricket News, सभी मैच के क्रिकेट स्कोर, लाइव अपडेट, हाइलाइट्स और न्यूज स्पोर्टसकीड़ा पर पाएं

Published 05 Jul 2019, 13:26 IST
Advertisement
Fetching more content...