Create

'श्रीलंका को आर्थिक संकट से उबारने के लिए भारत ने अपनी टीम वहां भेजी है'

पाकिस्तान (Pakistan) के पूर्व लेग स्पिनर दानिश कनेरिया (Danish Kaneria) ने श्रीलंका में भारत की कमजोर टीम भेजने सम्बंधित बयान को लेकर अर्जुन रणतुंगा को फटकार लगाई है। कनेरिया ने कहा कि भारत ने अपनी टीम भेजकर श्रीलंका की मदद की है। उन्होंने कहा कि वित्तीय संकट का सामना कर रहे श्रीलंकाई बोर्ड की सहायता करने के लिए भारत ने अपनी टीम वहां भेजी है।

कनेरिया ने अपने यूट्यूब चैनल पर कहा कि सबसे पहले, श्री रणतुंगा, आपने यह बयान सुर्खियों में बने रहने के लिए दिया है। क्योंकि अभी केवल भारत ही ऐसी टीम है जिसके पास 50-60 खिलाड़ियों का पूल है, जो दो अलग-अलग टीमों को मैदान में उतारने के लिए काफी मजबूत है। इस टीम में भी भुवनेश्वर कुमार, शिखर धवन, युजवेंद्र चहल, हार्दिक पांड्या जैसे खिलाड़ी लगातार भारत का प्रतिनिधित्व करते रहते हैं। श्रीलंका क्रिकेट में गिरावट जारी है। यह लगभग ऐसा ही है कि वे क्रिकेट खेलना भूल गए हैं। आपको खुश होना चाहिए कि भारत आपको आर्थिक संकट से उबारने के लिए अपनी टीम भेज रहा है। बोर्ड को प्रायोजक, फंड और क्या नहीं मिलेगा।

श्रीलंका को होगी करोड़ों की कमाईकुछ रिपोर्ट्स में दावा किया गया है कि भारत के खिलाफ सीरीज खेलने से श्रीलंकाई बोर्ड को 89 करोड़ रूपये से ज्यादा का लाभ मिलेगा। यानी इतनी कमाई श्रीलंका क्रिकेट बोर्ड को होगी।

श्रीलंका क्रिकेट के अध्यक्ष शम्मी सिल्वा ने खुलासा किया कि शुरू में केवल तीन मैच होने वाले थे लेकिन उन्होंने अंततः बीसीसीआई से अनुरोध किया कि वे उन्हें 6 की मेजबानी करने दें। श्रीलंका क्रिकेट इस हाई-प्रोफाइल श्रृंखला से बहुत अधिक अतिरिक्त राजस्व प्राप्त करने में सक्षम होगा और इस राशि से एक मजबूत अर्थव्यवस्था बनाने का लक्ष्य रखता है।

भारतीय टीम

शिखर धवन (कप्तान), पृथ्वी शॉ, देवदत्त पडीक्कल, रुतुराज गायकवाड़, सूर्यकुमार यादव, मनीष पांडे, हार्दिक पांड्या, नीतीश राणा, इशान किशन, संजू सैमसन, युजवेंद्र चहल, राहुल चाहर, कृष्णप्पा गौतम, क्रुणाल पांड्या, कुलदीप यादव, वरुण चक्रवर्ती, भुवनेश्वर कुमार, नवदीप सैनी, दीपक चाहर, चेतन सकारिया।

नेट बॉलर्स: इशान पोरेल, संदीप वॉरियर, अर्शदीप सिंह, साई किशोर, सिमरजीत सिंह।

Quick Links

Edited by निरंजन
Be the first one to comment