Create
Notifications
New User posted their first comment
Advertisement

दानिश कनेरिया ने एक बार फिर पीसीबी पर साधा निशाना

दानिश कनेरिया
दानिश कनेरिया
Nitesh
ANALYST
Modified 08 Aug 2020, 12:38 IST
न्यूज़
Advertisement

पाकिस्तान क्रिकेट टीम के पूर्व दिग्गज स्पिनर दानिश कनेरिया ने एक बार फिर पीसीबी पर निशाना साधा है। दानिश कनेरिया ने कहा है कि पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड का व्यवहार अन्य खिलाड़ियों के साथ सही रहता है लेकिन जब मेरी बात आती है तो उनका रवैया बदल जाता है। दानिश कनेरिया पिछले कई महीने से पीसीबी के खिलाफ बयान देते रहे हैं।

इंडिया टीवी के साथ खास बातचीत में दानिश कनेरिया ने कहा, पाकिस्तान क्रिकेट टीम के लिए खेलना मेरे लिए काफी सम्मान की बात रही। एक हिंदू क्रिकेटर होने के बावजूद पाकिस्तान का प्रतिनिधित्व करना और टीम को मैच जिताना मेरे लिए एक अचीवमेंट की तरह है और साथ ही काफी गर्व की भी बात है।'

ये भी पढ़ें: संजू सैमसन ने टी20 क्रिकेट में अपनी बल्लेबाजी को लेकर दी प्रतिक्रिया

दानिश कनेरिया ने आगे कहा कि लोग मेरे ऊपर आरोप लगाते हैं कि मैं रिलीजन कार्ड खेलता हूं लेकिन मैंने ऐसा कभी नहीं किया है। मेरी शिकायत केवल पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड और उनके दोहरे रवैये से है। पीसीबी का रवैया बाकी खिलाड़ियों के साथ बहुत अच्छा है लेकिन जब मेरी बात आती है तो उनका व्यवहार बदल जाता है। मुझे इस बात का काफी दुख है।

दानिश कनेरिया लगातार पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड पर सवाल उठाते रहे हैं

आपको बता दें दानिश कनेरिया इससे पहले भी लगातार पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड पर सवाल उठाते रहे हैं। कुछ दिनों पहले ही उन्होंने बोर्ड पर निशाना साधा था और कहा था कि भ्रष्ट्राचार में जीरो टोलरेंस की नीति की बात करके उमर अकमल का बैन आधा कर दिया गया। वे दोषी भी साबित हो गए थे। आमिर और आसिफ को भी वापसी का मौका मिला। मेरे मामले में ऐसा क्यों नहीं किया गया। मेरे बारे में कहते हैं कि मैं मजहब की बात करता हूँ। पक्षपात सबके सामने दिखता है तो मैं क्यों न बोलूं।

ये भी पढ़ें: लिस्ट ए में सबसे बेहतरीन औसत वाले 3 भारतीय बल्लेबाज

दानिश कनेरिया ने कहा था कि उमर अकमल ज्यादातर समय विवादों में घिरे रहे हैं। इसके बाद भी उसकी सजा आधी कर दी गई है। क्या उसने किसी को रिश्वत दी है? इसके बाद दानिश कनेरिया ने कहा कि मेरे बारे में कहा जाता है कि मैं हिन्दू की बात करता हूँ। मेरे बाद में इतने सालों तक कितने हिन्दू खिलाड़ी खेले। उन्हें एक भी हिन्दू खिलाड़ी खेलने लायक नहीं लगा, विश्वास करना मुश्किल है।

Published 08 Aug 2020, 12:38 IST
Advertisement
Fetching more content...
App download animated image Get the free App now
❤️ Favorites Edit