Create

इंग्लैंड के बल्लेबाज ने 45 साल की उम्र में बनाया तूफानी शतक, पारी में जड़े 15 छक्के

क्रिकेट में उम्र से नहीं बल्कि अनुभव और कौशल से सफलता मिलती है। कई बार देखा गया है कि 16 साल की उम्र में खिलाड़ी अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में आ जाते हैं और लम्बे समय तक खेलकर जाते हैं। कई मौकों पर ज्यादा उम्र के बाद भी बल्ला चलते हुए देखा गया है। ऐसा ही कुछ इंग्लिश काउंटी क्रिकेट में हुआ, जब एक 45 वर्षीय बल्लेबाज ने 190 रन की पारी खेली। भारतीय खिलाड़ी रविचंद्रन अश्विन (Ravichandran Ashwin) और शिखा पांडे (Shikha Pandey) ने भी इस पर अपनी प्रतिक्रिया दी।

काउंटी क्रिकेट में केंट के खेलते हुए ग्लैमॉर्गन के विरुद्ध डैरेन स्टीवंस ने 45 साल की उम्र में 190 रन जड़े। यह उनका फर्स्ट क्लास क्रिकेट में 36वां सैकड़ा रहा। इस दौरान उनके बल्ले से 15 चौके और 15 छक्के आए। उनकी इस पारी के कारण 8 विकेट पर 128 पर खोने वाली केंट की टीम ने 307 रन बनाए।

भारतीय खिलाड़ियों की प्रतिक्रिया

भारतीय महिला खिलाड़ी शिखा पांडे ने डैरेन स्टीवंस की इस धाकड़ पारी के बाद ट्विटर पर प्रतिक्रिया देते हुए कहा कि डैरेन स्टीवंस वास्तव में एक इनक्रेडिबल क्रिकेटर हैं। शिखा की बात का समर्थन करते हुए रविचंद्रन अश्विन ने भी प्रतिक्रिया देते हुआ 'हां' कहा।

गौरतलब है कि जब डैरेन की उम्र 43 साल थी, उस समय उनसे काउंटी क्लब ने कहा कि अब आपका अनुबंध नहीं बढ़ाया जा सकेगा। उसी साल उन्होंने यॉर्कशायर के खिलाफ 237 रन बनाए थे। इसके बाद उन्हें वापस खिलाने का निर्णय लिया गया। इस बार उन्होंने 190 रन की पारी में महज 149 गेंदों का सामना किया और तेजी से बल्लेबाजी की।

डैरेन का फर्स्ट क्लास करियर काफी लाजवाब रहा है। उन्होंने 315 मैचों में 16 हजार से भी ज्यादा रन बनाए हैं। उन्होंने 80 फिफ्टी जड़ने के अलावा 36 शतक भी लगाए हैं। इसके अलावा उनके नाम 565 विकेट भी हैं। देखा जाए तो वह दुर्भाग्यपूर्ण रहे हैं, जो इंग्लैंड की टीम में नहीं खेल पाए।

Edited by Naveen Sharma
Be the first one to comment