Create

चयनकर्ताओं की तरफ से सौरव गांगुली को विराट कोहली से बात नहीं करनी चाहिए थी, पूर्व क्रिकेटर का बयान

विराट कोहली और सौरव गांगुली के बीच हालिया विवाद ने सबका ध्यान अपनी तरफ खींचा है
विराट कोहली और सौरव गांगुली के बीच हालिया विवाद ने सबका ध्यान अपनी तरफ खींचा है

भारतीय टीम (Indian Cricket Team) के पूर्व क्रिकेटर दिलीप वेंगसरकर (Dilip Vengsarkar) ने बीसीसीआई प्रेसिडेंट सौरव गांगुली (Sourav Ganguly) पर निशाना साधा है। विराट कोहली मामले में जिस तरह से विवाद हुआ सौरव गांगुली ने उसकी काफी आलोचना की है। वेंगसरकर ने कहा है कि गांगुली को चयनकर्ताओं की तरफ से कोहली से बात करने का कोई हक नहीं था।

खलीज टाइम्स से बातचीत में दिलीप वेंगसरकर ने सौरव गांगुली और विराट कोहली के बीच हुए हालिया विवाद को लेकर प्रतिक्रिया दी। उन्होंने कहा,

ये जो पूरी घटना हुई है वो काफी दुर्भाग्यपूर्ण रही है। मेरा ये मानना है कि क्रिकेट बोर्ड को इस मामले को ज्यादा प्रोफेशनल तरीके से हैंडल करना चाहिए था। सौरव गांगुली को सेलेक्शन कमेटी की तरफ से बोलने का कोई हक नहीं है। गांगुली बीसीसीआई के प्रेसिडेंट हैं। कप्तानी और सेलेक्शन के बारे में केवल चेयरमैन ऑफ सेलेक्शन कमेटी को बात करना चाहिए।

विराट कोहली ने सौरव गांगुली के बयान पर किया था पलटवार

दरअसल विराट कोहली ने साउथ अफ्रीका रवाना होने से पहले एक प्रेस कॉन्फ्रेंस की थी और इसमें उन्होंने सौरव गांगुली के उस बयान का जवाब दिया था जिसमें गांगुली ने कहा था कि वो नहीं चाहते थे कि विराट कोहली टी20 टीम की कप्तानी छोड़ें और उन्होंने खुद इस बारे में कोहली से बात की थी लेकिन वो नहीं माने। हालांकि विराट ने इस बयान को सिरे से खारिज कर दिया और कहा कि उनसे ऐसा कुछ भी नहीं कहा गया। वहीं विराट कोहली ने ये भी बताया था कि उन्हें कप्तानी से हटाने के बारे में पहले नहीं बताया गया था।

इस मामले को लेकर कई पूर्व दिग्गजों ने अपनी प्रतिक्रिया दी। ज्यादातर दिग्गजों ने इस पूरे मामले के लिए सौरव गांगुली की आलोचना की है।

Quick Links

Edited by सावन गुप्ता
Be the first one to comment