Create
Notifications
Favorites Edit
Advertisement

मिस्बाह-उल-हक को पीसीबी ने दी मुख्य कोच और चयनकर्ता की दोहरी भूमिका

Richa Gupta
ANALYST
न्यूज़
Timeless

मिस्बाह-उल-हक
मिस्बाह-उल-हक

विश्वकप में खराब प्रदर्शन के बाद पाकिस्तान क्रिकेट टीम में उथल-पुथल कम होने का नाम नहीं ले रही है। एक के बाद एक बदलाव सामने आ रहे हैं। पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड (पीसीबी) अब खुद में बदलाव कर नए मॉडल पर काम करने की कोशिश कर रहा है। इसके तहत उसने टीम के पूर्व कप्तान मिस्बाह-उल-हक को ही कोच और मुख्य चयनकर्ता की दोहरी भूमिका दे दी है। पिछले सप्ताह ही पीसीबी ने टीम के कोच मिकी आर्थर, गेंदबाजी कोच अजहर महमूद और बल्लेबाजी कोच ग्रांट फ्लावर के अनुबंध को आगे नहीं बढ़ाने का फैसला किया था। 

लाहौर की नेशनल क्रिकेट अकैडमी (एनसीए) में 22 अगस्त से सात सितंबर तक 17 दिन चलने वाले अभ्यास कैंप के लिए मिस्बाह-उल-हक को कैंप कमांडेंट की जिम्मेदारी दी गई है। सूत्रों की मानें तो अभ्यास कैंप के लिए खिलाड़ियों का चयन मिस्बाह ने ही किया है। अब वह उनको ट्रेनिंग देंगे। माना जा रहा है कि यह पीसीबी के एक नए मॉडल का हिस्सा है। 

पीसीबी के अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट निदेशक जाकिर खान ने बताया था कि सीनियर टीम के चुनाव के लिए तीन नए मॉडल लाने पर विचार किया जा रहा है। पहले मॉडल में तीन व चार अन्य सदस्य और एक चेयरमैन होगा। दूसरे मॉडल में मुख्य चयनकर्ता के साथ छह राज्य की टीमों के कोचों के लिए यह जिम्मेदारी रहेगी कि वह बेहतर प्रतिभा को तलाशें और मुख्य चयनकर्ता को उन खिलाड़ियों के बारे में जानकारी दें। 

तीसरे मॉडल में बस एक ही व्यक्ति चुना जाएगा, जो मुख्य कोच और मुख्य चयनकर्ता की दोनों भूमिकाएं एक साथ निभाएगा। उसे सभी छह राज्यों की टीमों के कोच रिपोर्ट करेंगे और तमाम ऐसे खिलाड़ी जिनको उन्होंने चुना है, उसके बारे में जानकारी देंगे। लगता है कि अब पाकिस्तान बोर्ड तीसरे मॉडल को अपनाने पर ही काम कर रहा है। 

Hindi Cricket News, सभी मैच के क्रिकेट स्कोर, लाइव अपडेट, हाइलाइट्स और न्यूज स्पोर्टसकीड़ा पर पाएं।

Tags:
Advertisement
Advertisement
Fetching more content...