Create
Notifications
New User posted their first comment
Advertisement

Duleep Trophy 2019: फाइनल मुकाबले के आयोजन को लेकर भ्रम की स्थिति पैदा हुई 

ऐसा माना जा रहा था कि खिताबी मुकाबला पिंक बॉल से डे-नाइट प्रारूप में खेला जायेगा
ऐसा माना जा रहा था कि खिताबी मुकाबला पिंक बॉल से डे-नाइट प्रारूप में खेला जायेगा
Ankit Pasbola
ANALYST
Modified 05 Sep 2019
न्यूज़

बुधवार से बैंगलोर के एम चिन्नास्वामी स्टेडियम में दिलीप ट्रॉफी 2019 का फाइनल मुकाबला इंडिया रेड और इंडिया ग्रीन के बीच शुरू हो गया। यह मुकाबला सुबह 9:30 बजे से लाल गेंद से खेला गया, जबकि ऐसा कहा जा रहा था कि दिलीप ट्रॉफी का खिताबी मुकाबला गुलाबी गेंद (पिंक बॉल) से डे-नाइट प्रारूप में खेला जायेगा।

बीसीसीआई के प्रमुख संचालनकर्ता सबा करीम ने इस बारे में क्रिकबज्ज को बताया, "मुझे नहीं पता कि इसमें भ्रम की स्थिति कैसे पैदा हुई। हमने कभी नहीं कहा कि फाइनल मुकाबला डे-नाइट में खेला जायेगा। हम सभी ने कहा था कि यह टीवी पर लाइव टेलीकास्ट होने वाला है। यहां तक कि खिलाड़ियों को भी इस बारे में पूरी जानकारी है।"

यह भी पढ़ें : Duleep Trophy 2019: फाइनल मैच में इंडिया ग्रीन की खराब शुरुआत, पहले दिन का स्कोर 147/8

बीसीसीआई के महाप्रबंधक सबा करीम ने कुछ हफ्ते पहले कहा था कि दिलीप ट्रॉफी के फाइनल को छोड़कर सभी मैच लाल गेंद से खेले जायेंगे लेकिन फाइनल मैच में लाल गेंद का ही इस्तेमाल किया जा रहा है। दूसरी तरफ इस बदलाव के बारे में खिलाड़ियों को अंतिम लीग मैच के बाद तक भी कोई जानकारी नहीं थी। खिलाड़ियों को इस बदलाव की जानकारी फाइनल मैच से दो दिन पहले हुई। फाइनल मुकाबले में शामिल होने वाले एक खिलाड़ी ने क्रिकबज्ज को बताया, "मुझे इस बदलाव के बारे में फाइनल मैच से दो दिन पहले जानकारी मिली थी।"

बीसीसीआई के संचालन स्टाफ ने भी कुछ इसी प्रकार की बात कही थी । हालांकि, इससे उलट दिलीप ट्रॉफी 2019 के आयोजनकर्ता कर्नाटक स्टेट क्रिकेट एसोसिएशन (KSCA) ने दावा किया कि उन्हें इस बारे में पहले से ही जानकारी थी। गौरतलब हो कि दिलीप ट्रॉफी का पिछला सत्र गुलाबी गेंद से खेला गया था।

Hindi Cricket News, सभी मैच के क्रिकेट स्कोर, लाइव अपडेट, हाइलाइट्स और न्यूज स्पोर्ट्सकीड़ा पर पाएं।

Published 05 Sep 2019, 11:01 IST
Advertisement
Fetching more content...
App download animated image Get the free App now