बर्मिंघम टेस्ट के चौथे दिन भारतीय बल्लेबाजों के शॉट चयन पर सवाल उठाते हुए पूर्व पाकिस्तानी गेंदबाज ने दी प्रतिक्रिया

ऋषभ पंत रिवर्स स्वीप खेलते हुए आउट होकर पवेलियन लौटे (PIC - Getty Images)
ऋषभ पंत रिवर्स स्वीप खेलते हुए आउट होकर पवेलियन लौटे (PIC - Getty Images)

बर्मिंघम टेस्ट (ENG vs IND) के चौथे दिन इंग्लैंड के खिलाफ भारतीय बल्लेबाजों का खराब प्रदर्शन देखने को मिला और टीम ने अपने विकेट नियमित अंतराल में गंवाये। पाकिस्तान के पूर्व लेग स्पिनर दानिश कनेरिया (Danish Kaneria) ने दूसरी पारी में भारत के निराशाजनक प्रदर्शन के लिए खराब शॉट चयन को जिम्मेदर ठहराया। कनेरिया के मुताबिक इंग्लिश गेंदबाजों के अधिक प्रयास न करने के बावजूद, भारतीय बल्लेबाजों ने अपना विकेट गंवा दिया।

चौथे दिन भारत ने दिन की शुरुआत 125/3 के स्कोर से की थी और उनके पास 257 रनों की बढ़त थी। हालांकि भारतीय पारी 245 के स्कोर पर सिमट गई। टीम ने अपने आखिरी सात विकेट 92 रन पर गंवा दिए। बेन स्टोक्स ने इंग्लैंड के लिए चार विकेट चटकाए।

चौथे दिन के खेल की समीक्षा करते हुए, कनेरिया ने भारतीय बल्लेबाजों को बोर्ड पर अच्छा टोटल लगा पाने में विफलता के लिए दोषी ठहराया। उन्होंने अपने यूट्यूब चैनल पर कहा,

भारत जानता था कि इंग्लैंड ने हाल ही में न्यूजीलैंड के खिलाफ बड़े स्कोर का पीछा किया था। उन्हें यह भी एहसास होना चाहिए था कि उनके पास विकेट लेने वाला स्पिनर नहीं है। उनके बल्लेबाजों को क्रीज पर अधिक समय बिताना चाहिए था और खेल को और डीप ले जाना चाहिए था। लेकिन वैसा नहीं हुआ।

कनेरिया ने खराब शॉट खेलने के लिए भारतीय बल्लेबाजों पर साधा निशाना

चौथे दिन भारतीय बल्लेबाजों के आउट होने के तरीको की आलोचना करते हुए पाकिस्तानी गेंदबाज ने कहा,

ब्रॉड को कट करते पुजारा पॉइंट पर कैच आउट हुए। एक सेट बल्लेबाज के लिए इस तरह आउट होना बहुत खराब था। साथ ही, ऋषभ पंत एक क्लास बल्लेबाज हैं। उन्होंने तीसरे दिन बहुत अच्छा खेला, गेंदों को ऑफ स्टंप के बाहर छोड़ दिया। लेकिन विकेट पर पैच होने पर रिवर्स स्वीप कौन खेलता है? श्रेयस अय्यर अच्छी बल्लेबाजी कर रहे थे लेकिन उन्होंने शुरू में ही बहुत ज्यादा शॉट खेले। इंग्लैंड में आपको विकेट पर समय बिताने की जरूरत है। उन्होंने अपना विकेट भी गिफ्ट किया।

कनेरिया के मुताबिक भारत को कम से कम 400 रनों की लीड लेनी चाहिए थी। इसके साथ ही उन्होंने भारतीय गेंदबाजों के प्रदर्शन पर भी निराशा व्यक्त की। उन्होंने कहा,

भारत को 400 की बढ़त लेनी चाहिए थी। गेंदबाजी में जसप्रीत बुमराह और मोहम्मद शमी को छोड़कर कोई दूसरा गेंदबाज नहीं है जो कमाल कर सके। बुमराह असाधारण हैं लेकिन दूसरे गेंदबाज दूसरे छोर पर रन दे रहे हैं। कप्तान के तौर पर बुमराह कुछ नहीं कर सकते।

Quick Links

Edited by Prashant Kumar
App download animated image Get the free App now