Create

पूर्व पाकिस्तानी कप्तान ने विराट कोहली की कप्तानी की तारीफ करते हुए दी बड़ी प्रतिक्रिया 

विराट कोहली ने कप्तान के तौर पर अभी तक कुछ शानदार फैसले लिए हैं
विराट कोहली ने कप्तान के तौर पर अभी तक कुछ शानदार फैसले लिए हैं

पाकिस्तान के पूर्व कप्तान मुश्ताक मोहम्मद ने भारतीय (Indian Cricket Team) कप्तान विराट कोहली (Virat Kohli) की कप्तानी और रवैये की प्रशंसा की, जो यकीनन इस सीरीज (ENG vs IND) में अभी तक चर्चा का विषय रहा है। इंग्लैंड के खिलाफ लॉर्ड्स टेस्ट में 151 रन से जीत दर्ज करने के बाद विराट कोहली इस प्रारूप के सबसे सफल कप्तानों की लिस्ट में चौथे स्थान पर पहुँच गए हैं और उन्होंने इस मामले में वेस्टइंडीज के पूर्व कप्तान क्लाइव लॉयड को पीछे छोड़ दिया है। विराट कोहली भले ही मौजूदा सीरीज में बतौर बल्लेबाज बड़ी पारी अभी तक नहीं खेल पाए हों लेकिन इस चीज का मैदान पर उनकी आक्रामकता और कप्तानी पर कोई भी असर नहीं पड़ा है।

मुश्ताक मोहम्मद ने कोहली की तारीफ करते हुए कहा कि वह पक्ष को प्रेरित करने की काबिलियत रखते हैं। वहीं मुश्ताक मानते हैं कि कोहली अपनी हरकतों से शीर्ष पर जा सकते हैं, उनका मानना है कि भारतीय कप्तान दिल से अच्छे हैं। द टेलीग्राफ से बात करते हुए उन्होंने कहा,

"विराट आक्रामक रहे हैं और चीजों के होने के लिए उत्सुक रहे हैं। वह प्रेरणादायक हैं और अकेले पक्ष को प्रेरित कर सकते हैं। यह चीजों को व्यक्त करने का उनका तरीका है।"
"ऐसा नहीं है कि मैं हर समय उनकी सोच से सहमत हूं। कभी-कभी वह ज्यादा ही आक्रामक हो जाते हैं लेकिन अगर आप उसे जानते हैं तो आप समझेंगे कि वह दिल से एक अच्छे इंसान हैं।"

मुश्ताक मोहम्मद ने तीसरे टेस्ट में अश्विन को खिलाये जाने की दी सलाह

रविचंद्रन अश्विन को अभी तक इस सीरीज में खेलने का मौका नहीं मिला है
रविचंद्रन अश्विन को अभी तक इस सीरीज में खेलने का मौका नहीं मिला है

मुश्ताक मोहम्मद का मानना है कि भारतीय टीम को अगले टेस्ट में रविचंद्रन अश्विन को प्लेइंग XI में शामिल करना चाहिए। उनका मानना है कि तीसरे दिन के बाद गेंद घूम सकता है और इसको देखते हुए एक तेज गेंदबाज के स्थान पर अश्विन को खिलाया जा सकता है। मुश्ताक ने इशांत शर्मा की जगह अश्विन को खिलाने की बात कही है। उन्होंने कहा,

"यह मूर्खतापूर्ण लग सकता है लेकिन भारत तीन तेज गेंदबाजों के साथ ऐसा कर सकता था... अश्विन को सिर्फ इसलिए खेलना चाहिए था क्योंकि वह मैच विजेता है। जब गेंद टर्न कर रही होती है तो वह पक्ष को अतिरिक्त एडवांटेज देते हैं। भारत को उन्हें XI में शामिल करना चाहिए क्योंकि गेंद तीन दिन बाद टर्न करेगी। तब एक गेंदबाज बाहर बैठ सकता है।"

देखना होगा कि कप्तान विराट कोहली 25 अगस्त से हेडिंग्ले में खेले जाने वाले तीसरे टेस्ट में 4 तेज गेंदबाजों की रणनीति पर कायम रहते हैं या फिर एक तेज गेंदबाज को बाहर कर अश्विन को मौका देते हैं।

Quick Links

Edited by Prashant Kumar
Be the first one to comment