"अगर मुझे लगेगा कि मैं अच्छा नहीं हूँ या योगदान नहीं दे रहा, तो खेलना बंद कर दूंगा"- इयोन मोर्गन का बड़ा बयान 

इयोन मोर्गन ने अपने भविष्य को लेकर कुछ अहम बातों का जिक्र किया
इयोन मोर्गन ने अपने भविष्य को लेकर कुछ अहम बातों का जिक्र किया

इंग्लैंड के सफ़ेद गेंद के कप्तान इयोन मोर्गन (Eoin Morgan) ने कहा कि अगर उन्हें लगा कि वह योगदान नहीं दे पा रहे हैं, तो अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट खेलना बंद कर देंगे। मोर्गन ने कहा कि वह भी एक निश्चित समय पर अपने करियर को समाप्त करना पसंद करेंगे लेकिन इसके लिए वह अपनी टीम पर बोझ नहीं बनेंगे।

इंग्लैंड की टीम आयरलैंड के दौरे पर है, जहाँ उन्हें तीन मैचों की वनडे सीरीज 17 जून से खेलनी है। इंग्लिश कप्तान का बल्ले के साथ पिछले कुछ समय से फॉर्म अच्छा नहीं रहा है और उनको लेकर लगातार सवाल उठते रहे हैं। अपनी कप्तानी में पिछले साल टी20 वर्ल्ड कप 2021 के सेमीफाइनल में पहुंचाने वाले मोर्गन पूरे साल फॉर्म से जूझते दिखे। उन्होंने 16 टी20 मैचों में 16.67 की साधारण औसत से महज 150 रन ही बनाये।

मेरा शरीर अब पहले जैसा नहीं रहा - इयोन मोर्गन

स्काई स्पोर्ट्स से बात करते हुए, मोर्गन ने स्वीकार किया कि उनका शरीर कमजोर हो रहा है; इसलिए, वह टीम के लिए बोझ नहीं बनना चाहेंगे। इंग्लिश कप्तान ने टिप्पणी की कि अगर उन्हें लगता है कि वह काफी अच्छे नहीं हैं, तो वह करियर पर विराम लगा देंगे और उम्मीद है कि बाकी खिलाड़ियों की भी यही मानसिकता होगी। उन्होंने कहा,

मुझे यह कहना अच्छा लगेगा कि मैं यहां या वहां खत्म कर रहा हूं और बस इतना ही। मुझे इस तरह काम करना अच्छा लगेगा लेकिन इस समय मेरा शरीर जिस स्थिति में है, मैं उस तरह काम नहीं कर सकता। अगर मैं कल खुद को चोटिल कर लेता और यह काफी लंबी चोट होती है तो मैं टीम और खुद पर कोई एहसान नहीं कर रहा यदि मैं अभी भी एक निश्चित पॉइंट पर खत्म करने की प्रतिबद्धता रखता। अगर मुझे नहीं लगता कि मैं काफी अच्छा हूं या मुझे नहीं लगता कि मैं टीम में योगदान दे रहा हूं, तो मैं खेलना बंद कर दूंगा।

Quick Links