Create
Notifications
New User posted their first comment
Advertisement

इंग्लैंड के पूर्व क्रिकेटर फिलिप डिफ्राइटस को मिली थी गोली मारने की धमकी

  • फ़िलिप डिफ्राइटस ने खुद ही ये सनसनीखेज खुलासा किया है
  • उन्होंने कहा कि अश्वेत होने के कारण उन्हें ये धमकी दी गई थी
SENIOR ANALYST
न्यूज़
Modified 28 Jun 2020, 12:46 IST
फ़िलिप डिफ्राइटस 
फ़िलिप डिफ्राइटस 

इंग्लैंड के पूर्व खिलाड़ी फ़िलिप डिफ्राइटस ने एक सनसनीखेज खुलासा किया है। फ़िलिप डिफ्राइटस ने कहा है जब वो खेल रहे थे तो उन्हें धमकी मिली थी कि अगर तुम इंग्लैंड के लिए खेलोगे तो फिर तुम्हे गोली मार दी जाएगी। फ़िलिप डिफ्राइटस ने बताया कि ऐसा उनसे इसलिए कहा गया था क्योंकि वो अश्वेत थे।

54 साल के फ़िलिप डिफ्राइटस ने इंग्लैंड क्रिकेट टीम के लिए 44 टेस्ट और 103 वनडे मुकाबले खेले हैं। इस दौरान उन्होंने टेस्ट मैचों में 140 और वनडे में 115 विकेट चटकाए। उन्होंने कहा कि लगातार धमकी मिलने की वजह से वो अपने करियर पर पूरी तरह से ध्यान नहीं लगा पाए और इसकी वजह से उनका अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट काफी प्रभावित हुआ।

ये भी पढ़ें: आकाश चोपड़ा ने नाथन लियोन और रविचंद्रन अश्विन की तुलना को लेकर दिया बड़ा बयान

स्काई क्रिकेट पोडकास्ट में फ़िलिप डिफ्राइटस ने कहा कि मुझे कई बार धमकी भरे खत मिले। 2 या 3 बार मुझे धमकी दी गई कि अगर तुम इंग्लैंड के लिए खेलोगे तो हम तुम्हे गोली मार देंगे। डिफ्राइट्स ने कहा कि पुलिस मेरे घर की सुरक्षा में लगी हुई थी और एक स्पॉन्सर्ड कार मेरे पास थी, जिस पर मेरा नाम लिखा हुआ था। मुझे वो नाम कार पर से हटाना पड़ा था। तो आप कल्पना कर सकते हैं कि कैसे मैं ड्राइव करके लंदन जा सकता था। टेस्ट मैच के दो दिन पहले मैं होटल में हूं और सोच रहा हूं कि खेलूं या नहीं खेलूं। क्या कोई मेरे ऊपर निशाना लगाकर बैठा होगा।

मेरे पास उस वक्त कोई सपोर्ट नहीं था-फ़िलिप डिफ्राइटस 

फ़िलिप डिफ्राइटस ने कहा कि ऐसे में मैं पूरी प्रतिबद्धता के साथ इंग्लैंड के लिए क्रिकेट खेलने पर कैसे ध्यान दे सकता था लेकिन मैं उन लागों को खुद पर हावी नहीं होने देना चाहता था। मेरे पास कोई सपोर्ट नहीं था और ना ही कोई मदद करने वाला था। मुझे खुद उन सब चीजों से निपटना था। मुझे अभी भी याद है कि जब मैं अपनी मां के पास जाता था तो उनसे कहता था कि शायद मैं उनके बीच का नहीं हूं लेकिन मैंने अपने करियर में जो कुछ भी हासिल किया, उस पर मुझे गर्व है।

डिफ्राइटस ने कहा कि उस समय उन्होंने नस्लवाद के खिलाफ कोई आवाज नहीं उठाया क्योंकि उन्हें डर था कि वो इंग्लैंड क्रिकेट टीम से कहीं बाहर ना हो जाएं।

ये भी पढ़ें: रोहित शर्मा बिल्कुल वसीम जाफर की तरह बैटिंग करते हैं-इरफान पठान

Published 28 Jun 2020, 12:46 IST
Advertisement
Fetching more content...
Get the free App now
❤️ Favorites Edit