Create
Notifications
Advertisement

गौतम गंभीर ने एमसके प्रसाद पर साधा निशाना, अंबाती रायडू के मुद्दे को लेकर दी तीखी प्रतिक्रिया

  • गौतम गंभीर ने सेलेक्शन के मुद्दे को लेकर एमएसके प्रसाद पर जमकर निशाना साधा
  • गौतम गंभीर ने अंबाती रायडू का मुद्दा उठाया और बड़ी बात कही
SENIOR ANALYST
न्यूज़
Modified 23 May 2020, 11:25 IST

गौतम गंभीर
गौतम गंभीर

भारतीय टीम के पूर्व बल्लेबाज गौतम गंभीर ने पूर्व मुख्य चयनकर्ता एमएसके प्रसाद पर निशाना साधा है। गंभीर ने खासकर अंबाती रायडू वाले मामले को लेकर अपनी तीखी प्रतिक्रिया दी। साथ ही उन्होंने अपना उदाहरण देते हुए कहा कि किस तरह चयनकर्ता खिलाड़ियों को सही मैसेज नहीं पहुंचाते हैं।

गौतम गंभीर, एमएसके प्रसाद और कृष्णमाचारी श्रीकांत स्टार स्पोर्ट्स के क्रिकेट कनेक्टेड शो में बात कर रहे थे। इस दौरान भारतीय टीम में चयन प्रक्रिया को लेकर बात चल रही थी।

ये भी पढ़ें: विराट कोहली को लगता है कि आईपीएल 2020 दुबई में हो सकता है- अतुल वासन

गौतम गंभीर ने कहा कि चयनकर्ता खिलाड़ियों से सही तरीके से बात नहीं करते हैं और खिलाड़ियों को पता ही नहीं लग पाता है कि अचानक से उनके करियर को क्या हो गया है। गंभीर ने खुद अपना उदाहरण दिया और बताया कि किस तरह उन्हें 2016 की इंग्लैंड टेस्ट सीरीज से ड्रॉप कर दिया गया था और किसी ने उनसे इस बारे में बताया तक भी नहीं था।

ये भी पढ़ें: विंसी प्रीमियर टी10 लीग- पहले दिन खेले गए सभी मैचों की रिपोर्ट

गंभीर ने कहा ' जब मुझे 2016 में इंग्लैंड के खिलाफ पहले टेस्ट मैच के बाद ड्रॉप कर दिया गया था तो मुझसे कोई बात नहीं की गई थी। करुण नायर का ही उदाहरण आप देख लीजिए, उसने कहा कि उसे कोई क्लैरिटी नहीं दी गई। इसके अलावा युवराज सिंह और सुरेश रैना समेत कई खिलाड़ियों का उदाहरण आपके सामने है।

गौतम गंभीर ने अंबाती रायडू का मुद्दा उठाया

गौतम गंभीर ने इसके बाद एमएसके प्रसाद के सामने ही अंबाती रायडू का मुद्दा उठाया। रायडू को वर्ल्ड कप टीम से ड्रॉप कर दिया गया था और उनकी जगह विजय शंकर को शामिल किया गया था जिन्हें एमएसके प्रसाद ने 3डी प्लेयर कहा था। इसको लेकर बाद में रायडू का एक कमेंट भी आया था।

ये भी पढ़ें: विराट कोहली सबसे बेहतरीन कवर ड्राइव खेलते हैं - इयान बेल

Advertisement

गौतम गंभीर ने कहा ' अंबाती रायडू के साथ क्या हुआ। आपने उसे दो साल तक टीम में रखा और उन दो सालों के दौरान उसने नंबर 4 पर बल्लेबाजी की। लेकिन वर्ल्ड कप से ठीक पहले आपको थ्री डी प्लेयर की जरुरत पड़ गई। क्या इस तरह की चीजें आप चयन समिति के चेयरमैन से देखना चाहते हैं कि हमें थ्री-डी क्रिकेटर की जरुरत है।

एमएसके प्रसाद ने इस सवाल के जवाब में अपना बचाव किया और कहा कि टीम को एक तेज गेंदबाजी ऑलराउंडर की जरुरत थी और इंग्लैंड की परिस्थितियों को देखते हुए उसकी जरुरत थी। प्रसाद ने कहा कि शिखर धवन, रोहित शर्मा, विराट कोहली में से कोई भी गेंदबाजी नहीं कर सकता था। विजय शंकर टॉप ऑर्डर में बल्लेबाजी के अलावा इंग्लैंड की परिस्थितियों में गेंदबाजी में भी कारगर साबित हो सकते थे।


Published 23 May 2020, 11:24 IST
Advertisement
Fetching more content...
Get the free App now
❤️ Favorites Edit