Create
Notifications
Favorites Edit
Advertisement

Hindi Cricket News: टीम से अंदर-बाहर होने से खिलाड़ी के मनोबल पर असर पड़ता है-श्रेयस अय्यर 

  • श्रेयस अय्यर ने कहा किसी भी खिलाड़ी को खुद को साबित करने के लिए पर्याप्त मौके मिलने चाहिए
ANALYST
न्यूज़
Modified 20 Dec 2019, 23:58 IST

श्रेयस अय्यर
श्रेयस अय्यर

प्रत्येक खिलाड़ी अपनी टीम में जगह को लेकर टीम प्रबंधन का भरोसा चाहता है और श्रेयस अय्यर भी उन्हीं खिलाड़ियों में से एक हैं। अय्यर का मानना है की टीम से बार-बार अंदर बाहर किया जाना किसी भी खिलाड़ी के लिए एक अच्छा उदहारण नहीं प्रस्तुत करता। इसके साथ ही उसके मनोबल पर भी बुरा असर पड़ता है।

24 वर्षीय श्रेयस अय्यर इंडियन प्रीमियर लीग के सबसे युवा कप्तान है, जिन्होंने अपनी कप्तानी में दिल्ली की टीम को 7 साल बाद प्लेऑफ तक पहुंचाया। श्रेयस अय्यर आने वाले वेस्टइंडीज दौरे के लिए तैयारियों में जुटे हुए हैं। अय्यर टीम में वापसी कर रहे हैं और वह चाहते हैं कि इस बार उन्हें खुद को साबित करने के लिए पर्याप्त मौके दिए जाएं। जिससे वह भारतीय टीम में अपनी जगह पक्की कर सकें। श्रेयस ने भारत के लिए अभी तक 6 वनडे और 6 टी-20 मैच खेले हैं।

अय्यर ने कहा, "अगर आप प्रतिभाशाली खिलाड़ी हैं तो निश्चित तौर पर आपको खुद को साबित करने के लिए और परिस्तिथियों में ढलने के लिए कुछ मौको की जरूरत होती है।" 

यह भी पढ़े: उन खिलाड़ियों की सर्वश्रेष्ठ XI जो अगले वर्ल्ड कप में खेलते हुए नजर नहीं आएंगे

इसके साथ ही उन्होंने कहा, " अगर आप बार-बार टीम से अंदर- बाहर किये जाते हैं तो यह खिलाड़ी के मनोबल के लिए अच्छा नहीं है और खिलाड़ी खुद की काबिलियत पर संदेह करना शुरू कर देता है।"

श्रेयस अय्यर ने वेस्टइंडीज दौरे के लिए पुल और स्वीप शॉट पर काम किया है। उन्होंने कहा वह अपनी बल्लेबाजी पर काम कर रहे हैं और ऐसे शॉट शामिल करने की कोशिश कर रहे हैं जो उन्हें भारत के बाहर रन बनाने में सहायक साबित हो सकते हैं।

Hindi Cricket News, सभी मैच के क्रिकेट स्कोर, लाइव अपडेट, हाइलाइट्स और न्यूज स्पोर्टसकीड़ा पर पाएं।

Published 28 Jul 2019, 19:49 IST
Advertisement
Fetching more content...