Create
Notifications
New User posted their first comment
Advertisement

ग्लेन मैक्ग्रा ने सचिन तेंदुलकर को 2003 वर्ल्ड कप फाइनल में आउट करने को लेकर दी प्रतिक्रिया

ग्लेन मैक्ग्रा और सचिन तेंदुलकर
ग्लेन मैक्ग्रा और सचिन तेंदुलकर
SENIOR ANALYST
Modified 30 Nov 2020
न्यूज़

2003 वर्ल्ड कप फाइनल भारतीय टीम के लिए किसी बुरे सपने से कम नहीं था। ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ 360 रनों के विशाल लक्ष्य का पीछा करते हुए भारतीय टीम को 125 रनों के बड़े अंतर से शिकस्त का सामना करना पड़ा था। उस मुकाबले में भारतीय टीम की सबसे बड़ी उम्मीद सचिन तेंदुलकर को ग्लेन मैक्ग्रा ने सिर्फ 4 रन पर ही पवेलियन भेज दिया था। ग्लेन मैक्ग्रा ने सचिन के उस विकेट को लेकर बड़ी प्रतिक्रिया दी है।

2003 वर्ल्ड कप को 17 साल से भी ज्यादा का वक्त हो चुका है लेकिन मैक्ग्रा को अभी भी वो मुकाबला अच्छी तरह याद है। सचिन के उस विकेट के बारे में उन्होंने कहा कि भारतीय फैंस ने इसके लिए अभी तक उन्हें माफ नहीं किया है। भारत और ऑस्ट्रेलिया के बीच सिडनी वनडे मैच से पहले सोनी स्पोर्ट्स नेटवर्क पर मैक्ग्रा ने कहा,

मुझे वो मुकाबला अभी भी अच्छी तरह याद है और इंडिया से कई लोग मुझसे आकर ये कहते हैं कि उस पहले ओवर के लिए वो मुझे कभी माफ नहीं करेंगे। पहली दो गेंद डॉट गई थीं और तीसरी गेंद पर सचिन ने मिड ऑन के ऊपर से चौका लगाया था। मैदान में ज्यादातर फैंस भारत के ही थे और वो एकदम से जोश में आ गए थे, जबकि ऑस्ट्रेलिया के कम ही फैंस वहां पर थे।"

मैक्ग्रा ने आगे कहा,

मैदान में काफी शोर था और अगली गेंद थोड़ा और बाउंस हो गई और सचिन ने फिर से उसी तरह का शॉट लगाने की कोशिश की लेकिन गेंद उनके बल्ले से लगकर हवा में चली गई और मैंने एक आसान सा कैच लेकर उन्हें आउट किया। मैं तो खुश था लेकिन करोड़ों भारतीय फैंस दुखी थे।

ग्लेन मैक्ग्रा ने 2003 वर्ल्ड कप फाइनल में 3 विकेट चटकाए थे

ग्लेन मैक्ग्रा ने उस मुकाबले में 8.2 ओवर में 52 रन देकर 3 विकेट चटकाए थे और भारतीय टीम 40 ओवर में 234 रन बनाकर सिमट गई थी। भारत की तरफ से वीरेंदर सहवाग ने सबसे ज्यादा 82 और राहुल द्रविड़ ने 47 रनों की पारी खेली थी।

ये भी पढ़ें: डेविड वॉर्नर की अनुपस्थिति में मार्नस लैबुशेन ओपनिंग करने के लिए तैयार

Published 30 Nov 2020, 12:16 IST
Advertisement
Fetching more content...
App download animated image Get the free App now