"वह ऐसे व्यक्ति थे जिन्हें सुबह 2:30-3:00 बजे फोन कर सकता था"- एंड्रयू साइमंड्स के लिए हरभजन सिंह ने दिया भावुक बयान

मुंबई इंडियंस के लिए साइमंड्स के साथ खेल चुके हैं हरभजन
मुंबई इंडियंस के लिए साइमंड्स के साथ खेल चुके हैं हरभजन

बीते रविवार की सुबह क्रिकेट फैंस के लिए काफी दुखद रही। ऑस्ट्रेलिया के दिग्गज ऑल राउंडर एंड्रयू साइमंड्स (Andrew Symonds) का कार दुर्घटना में निधन हो गया। साइमंड्स की मौत ने क्रिकेट जगत को हिला कर रख दिया है। ऑस्ट्रेलिया के साथ दो वर्ल्ड कप जीतने वाले साइमंड्स और हरभजन सिंह (Harbhajan Singh) कई चीजों को लेकर चर्चा में रहे थे। 2008 में दोनों के बीच हुआ मंकीगेट कांड हमेशा क्रिकेट जगत में याद रखा जाएगा। हालांकि, हरभजन ने साइमंड्स की तारीफ की है और उनके लिए एक भावुक संदेश दिया है।

स्पोर्ट्सकीड़ा के साथ बात करते हुए भावुक हरभजन ने कहा कि 2008 में जो घटना हुई थी वह उनकी स्टोरी का एक छोटा सा हिस्सा था। हरभजन ने कहा,

2008 में मेरे और साइमंड्स के बीच में जो भी समस्या थी वह एक अलग मुद्दा था और यह कुछ ऐसा था जो एक मैच के दौरान हुआ था। मैं मुंबई इंडियंस और आईपीएल को धन्यवाद देना चाहूंगा। उनके कारण हम दोबारा मिले और साथ में खेले और मुझे उनको जानने का मौका मिला।

youtube-cover

मुंबई इंडियंस के अपने पूर्व साथी खिलाड़ी साइमंड्स की तारीफ करते हुए 41 वर्षीय हरभजन ने कहा कि वह एक शानदार व्यक्ति थे। हरभजन ने कहा,

हमने साथ में काफी समय बिताया था और एक दूसरे को जानने की कोशिश की थी और वास्तव में हम अच्छे दोस्त बन गए थे। वह उन लोगों में से एक थे जिन्हें मैं सुबह के 2:30-3:00 बजे भी फोन कर सकता था और वह मेरे लिए उपलब्ध रहते।

साइमंड्स ने खेले हैं 200 से ज्यादा इंटरनेशनल मुकाबले

1998 में अपना इंटरनेशनल डेब्यू करने वाले साइमंड्स ने ऑस्ट्रेलिया के लिए 198 वनडे, 26 टेस्ट और 14 टी20 इंटरनेशनल मुकाबले खेले थे। इसके अलावा उन्होंने 39 आईपीएल मैच भी खेले थे। साइमंड्स जितने बेहतरीन क्रिकेटर थे उतना ही उनका विवादों के साथ भी रिश्ता रहा था। लगातार अनुशासनहीनता करने के कारण 2009 में उन्हें ऑस्ट्रेलिया की टीम से बाहर कर दिया गया था और इसके बाद वह दोबारा ऑस्ट्रेलिया के लिए नहीं खेल पाए थे।

Quick Links