एशिया कप के फाइनल में हांगकांग ने बनाया 200 से ऊपर का स्कोर, जबरदस्त जीत के साथ खिताब पर किया कब्ज़ा

Photo - Hong Kong Cricket Team
Photo - Hong Kong Cricket Team

हांगकांग में 14 से 17 फरवरी तक 2024 T20 East Asia Cup का आयोजन हुआ, जिसके फाइनल में मेजबान हांगकांग ने जापान को 35 रनों से हराकर खिताब पर कब्ज़ा किया। टूर्नामेंट की तीसरी टीम चीन थी, लेकिन वह लीग स्टेज के 4 मैचों में एक भी जीत नहीं हासिल कर सकी।

टूर्नामेंट के पहले दिन 14 फरवरी को हांगकांग ने पहले मैच में चीन को 123 रनों से बुरी तरह हराया। हांगकांग ने पहले खेलते हुए 20 ओवर में 171/5 का स्कोर बनाया, जिसके जवाब में चीन की टीम 20 ओवर में 48/8 का स्कोर ही बना सकी। अंशुमन रथ को 46 गेंदों में 72 रनों की ताबड़तोड़ पारी के लिए प्लेयर ऑफ द मैच चुना गया।

उसी दिन के दूसरे मैच में हांगकांग ने जापान को 7 विकेट से हराया। जापान ने पहले खेलते हुए 20 ओवर में 179/5 का स्कोर बनाया था, जिसके जवाब में हांगकांग ने 16.1 ओवर में ही 3 विकेट खोकर जीत हासिल कर ली। जेमी एटकिंसन को 36 गेंदों में 68 रनों की धुआंधार पारी के लिए प्लेयर ऑफ द मैच चुना गया।

15 फरवरी को तीसरे मैच में जापान को चीन को 180 रनों के रिकॉर्ड अंतर से हराया। जापान ने पहले खेलते हुए 20 ओवर में 258/0 का स्कोर बनाया था और टी20 अंतरराष्ट्रीय में सबसे बड़ी साझेदारी का नया वर्ल्ड रिकॉर्ड बना। बड़े स्कोर के जवाब में चीन की टीम 16.5 ओवर में 78 रन बनाकर ही ढेर हो गई। जापान की तरफ से लाचलान यामामोटो-लेक ने 68 गेंदों में 134 और कप्तान केंडल कडोवाकी-फ्लेमिंग ने 53 गेंदों में 109 रनों की बेहतरीन शतकीय पारी खेली। दोनों को प्लेयर ऑफ द मैच चुना गया।

15 फरवरी को ही चौथे मैच में हांगकांग ने जापान को 27 रनों से हराया। हांगकांग ने पहले खेलते हुए 19.4 ओवर में 155 रन बनाये, जिसके जवाब में जापान की टीम 18.5 ओवर में 128 रन बनाकर ही ऑल आउट हो गई। यासीम मुर्तज़ा को 26 गेंदों में 48 रनों की तेज़ पारी के अलावा एक विकेट लेने के लिए प्लेयर ऑफ द मैच चुना गया।

16 फरवरी को पांचवें मैच में हांगकांग ने जापान को 10 विकेट से हराया। चीन की टीम ने पहले खेलते हुए 12.4 ओवर में सिर्फ 41 रन बनाये, जिसके जवाब में हांगकांग ने 5 ओवर में ही बिना विकेट खोये जीत हासिल कर ली। हारून अरशद को सिर्फ 7 रन देकर 4 विकेट लेने के लिए प्लेयर ऑफ द मैच चुना गया।

16 फरवरी को ही छठे मैच में जापान ने चीन को 44 रनों से हराया। जापान ने पहले खेलते हुए 19.3 ओवर में 143 रन बनाये, जिसके जवाब में चीन की टीम 20 ओवर में 99/8 का स्कोर ही बना सकी। जापान के मियां सिद्दीकी को 18 गेंदों में 28 रनों की पारी के अलावा 2 विकेट लेने के लिए प्लेयर ऑफ द मैच चुना गया।

17 फरवरी को फाइनल में हांगकांग ने पहले खेलते हुए 20 ओवर में 219/7 का विशाल स्कोर बनाया, जिसके जवाब में जापान की टीम 20 ओवर में 184/8 का स्कोर ही बना सकी। हांगकांग के निज़ाकत खान को 48 गेंदों में 81 रनों की तेज़ पारी के लिए प्लेयर ऑफ द मैच चुना गया।

जापान के केंडल कडोवाकी-फ्लेमिंग ने टूर्नामेंट में सबसे ज्यादा 217 रन बनाये, जिसमें एक शतक और एक अर्धशतक शामिल था। गेंदबाजी में जापान के ही सबाओरिश रविचन्द्रन में सबसे ज्यादा 9 विकेट लिए, जिसमें उनकी सर्वश्रेष्ठ गेंदबाजी हांगकांग के खिलाफ 5/22 रही।