"मैंने विकेटकीपिंग करना शुरू किया क्योंकि मेरे पिता भी विकेटकीपर थे" - प्रमुख भारतीय खिलाड़ी का बड़ा खुलासा 

ऋषभ पंत भारत के प्राइमरी विकेटकीपर हैं
ऋषभ पंत भारत के प्राइमरी विकेटकीपर हैं

भारतीय विकेटकीपर बल्लेबाज ऋषभ पंत (Rishabh Pant) आज तीनों ही फॉर्मेट्स में टीम का अहम हिस्सा बन चुके हैं लेकिन उनके यह सफर आसान नहीं रहा। एमएस धोनी (MS Dhoni) के संन्यास के बाद उन्हें कई बार खराब ग्लव्स वर्क के लिए आलोचनाओं का भी शिकार होना पड़ा। हालाँकि पंत अब एक अहम सदस्य बन चुके हैं और दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ आगामी टी20 सीरीज (IND vs SA) में उन्हें टीम का उपकप्तान भी बनाया गया है।

पंत हाल ही में आईपीएल 2022 में खेलते हुए नजर आये थे। इस सीजन उनका खुद का प्रदर्शन भी बहुत अच्छा नहीं रहा। वहीँ उनकी टीम भी पांचवें स्थान पर रही और प्लेऑफ के क्वालीफाई करने में सफल नहीं हो पाई।

SG पॉडकास्ट में बात करते हुए ऋषभ पंत ने खुलासा किया कि कैसे वह विकेटकीपर बनने के लिए प्रेरित हुए। उन्होंने कहा,

मुझे नहीं पता कि मेरी विकेटकीपिंग बेहतर हुई है या नहीं, मैं हर दिन अपना 100 प्रतिशत देने की कोशिश कर रहा हूं। मैं हमेशा विकेटकीपर बल्लेबाज रहा हूं। एक बच्चे के रूप में, मैंने विकेटकीपिंग करना शुरू कर दिया क्योंकि मेरे पिता भी एक विकेटकीपर थे। इस तरह यह सब शुरू हुआ।

सफल विकेटकीपर बनने के लिए ऋषभ पंत ने बताई तीन अहम चीजें

ऋषभ पंत ने एक सफल विकेटकीपर बनने के लिए तीन प्राइमरी टिप्स का जिक्र किया। उन्होंने कहा,

अगर आप एक अच्छे विकेटकीपर बनना चाहते हैं तो आपको खुद को चुस्त रखने की जरूरत है। अगर आप काफी फुर्तीले हैं, तो यह आपकी मदद करेगा। दूसरी बात गेंद को अंत तक देखना है। कभी-कभी ऐसा होता है कि हम जानते हैं कि गेंद आ रही है, इसलिए हम रिलैक्स हो जाते हैं, लेकिन आपको इसे तब तक देखते रहना चाहिए जब तक आप इसे पकड़ नहीं लेते। अंत में, अनुशासित रहें और तकनीक पर काम करें।

ऋषभ पंत ने अपनी विकेटकीपिंग में काफी सुधार किया है और उन्होंने पिछले साल इंग्लैंड दौरे पर विकेट के पीछे जबरदस्त प्रदर्शन किया था।

Quick Links

Edited by Prashant Kumar