Create

"जब अंपायरों ने खेल के आखिरी दिन मैच खत्म करने का फैसला किया तो मैं हैरान रह गई थी"

भारतीय महिला टीम
भारतीय महिला टीम
reaction-emoji
Nitesh

भारतीय महिला टीम की कप्तान मिताली राज (Mithali Raj) ने इंग्लैंड के खिलाफ खेले गए एकमात्र टेस्ट मुकाबले को लेकर बड़ी प्रतिक्रिया दी है। उन्होंने कहा है कि खेल के आखिरी दिन जब अंपायरों ने मैच को जल्दी खत्म करने का फैसला किया तो मैं हैरान रह गई थी। यहां तक कि मैदान में मौजूद भारतीय टीम की दोनों बल्लेबाज भी आगे बैटिंग करना चाहती थीं।

इंग्लैंड के खिलाफ उस मुकाबले में अपना डेब्यू कर रही स्नेह राना और विकेटकीपर बल्लेबाज तानिया भाटिया ने 9वें विकेट के लिए 108 रनों की अविजित साझेदारी कर मैच बचाया था। ये दोनों ही बल्लेबाज उस वक्त क्रीज पर मौजूद थीं जब खराब रोशनी के कारण अंपायरों ने खेल को पहले ही खत्म करने का फैसला किया था। स्नेह राना उस वक्त 80 रन पर नाबाद थीं और उनके पास अपना पहला टेस्ट शतक पूरा करने का सुनहरा मौका था। हालांकि अंपायरों ने खेल को पहले ही समाप्त कर दिया। भारतीय बल्लेबाजों ने इंग्लैंड की कप्तान हीथर नाइट से भी आग्रह किया था कि वे लगातार खेलना चाहती हैं लेकिन उनकी बात नहीं मानी गई।

ये भी पढ़ें: "चेतेश्वर पुजारा द्वारा रॉस टेलर का कैच ड्रॉप करना भारतीय टीम को काफी महंगा पड़ा"

अंपायरों द्वारा मैच जल्दी खत्म करने को लेकर मिताली राज की प्रतिक्रिया

मिताली राज ने वर्चुअल प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान कहा "हम लोग लगातार बैटिंग करना चाहते थे और इस बारे में विरोधी टीम की कप्तान को बता भी दिया था। मैं उस वक्त काफी हैरान रह गई थी जब अंपायर्स ने बॉल ले ली थी। स्नेह राना ने बताया कि खराब रोशनी के कारण अंपायरों ने खेल को रोक दिया है। यही चीज हमसे बताई गई। दोनों ही टीमों की खिलाड़ी एक दूसरे से हाथ मिलाने लगीं। इससे पता चल गया कि मैच खत्म हो गया है।"

ये भी पढ़ें: नील वैगनर ने किया खुलासा, पुलिस वाले भी रोककर WTC मेस के साथ तस्वीर लेना चाह रहे थे


Edited by Nitesh
reaction-emoji

Comments

comments icon

Quick Links:

More from Sportskeeda
Fetching more content...