जब तक मेरा शरीर साथ देता है मैं खेलता रहुंगा - इशांत शर्मा

इशांत शर्मा
इशांत शर्मा

भारतीय क्रिकेट टीम के तेज गेंदबाज इशांत शर्मा ने एक बड़ी प्रतिक्रिया दी है। उन्होंने कहा है कि जब तक उनकी बॉडी साथ देती है वो क्रिकेट खेलना जारी रखेंगे। इशांंत शर्मा 13 साल से भारतीय टीम के लिए खेल रहे हैं और क्रिकेट में उनके बेहतरीन योगदान के लिए उन्हें इस साल अर्जुन अवॉर्ड से सम्मानित किया गया है।

नेशनल स्पोर्ट्स डे के मौके पर इशांत शर्मा समेत 27 खिलाड़ियों को अर्जुन अवॉर्ड से सम्मानित किया गया। आईपीएल के लिए दुबई में मौजूद इशांत शर्मा अवॉर्ड सेरेमनी का हिस्सा नहीं बन सके लेकिन वर्चुअल सेरेमनी में वो शामिल हुए और सबका आभार प्रकट किया।

इशांत शर्मा ने ट्वीट कर कहा " जब मैं काफी छोटा था तभी मुझे क्रिकेट से काफी लगाव हो गया था और तब से लेकर अब तक जब भी मैं मैदान में उतरता हूं तो अपना 100 प्रतिशत देने की कोशिश करता हूं। अपना गेम सुधारने के लिए जब भी मैंने कुछ किया तो उसका केवल एक ही मकसद रहा भारत को सफलता के शिखर तक पहुंचाना। जब तक मेरा शरीर साथ देता है, मैं खेलता रहुंगा और भगवान के आर्शीवाद से उसके बाद भी।"

ये भी पढ़ें: "पृथ्वी शॉ थोड़ा बहुत ब्रायन लारा और सचिन तेंदुलकर की तरह हैं"

इशांत शर्मा ने इसके अलावा अर्जुन अवॉर्ड मिलने के लिए स्पोर्ट्स मिनिस्टरी और भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड का आभार जताया। उन्होंने लिखा,

इस सम्मान के लिए मैं खेल मंत्रालय का आभार प्रकट करता हूं। इसके अलावा बीसीसीआई का भी काफी शुक्रगुजार हूं जिन्होंने मेरे अब तक के करियर में मुझे काफी सपोर्ट किया है। अर्जुन अवॉर्ड जीतने वाले सभी खिलाड़ियों को बधाई।

इशांत शर्मा ने 2007 में किया था अपना अंतर्राष्ट्रीय डेब्यू

इशांत शर्मा ने भारत के लिए कई मुकाबले खेले हैं और 13 साल से वो भारत के लिए खेल रहे हैं। 2007 में उन्होंने अपना अंतर्राष्ट्रीय डेब्यू किया था और तब से लेकर वो अभी तक भारत के लिए 97 टेस्ट, 80 वनडे और 14 टी20 मुकाबले खेल चुके हैं। 2013 में चैंपियंस ट्रॉफी की जीत में उनका अहम योगदान था।

ये भी पढ़ें: चेन्नई सुपर किंग्स की टीम शायद इस आईपीएल सीजन के पहले मुकाबले में हिस्सा ना ले पाए

Quick Links

App download animated image Get the free App now