इंग्लैंड की रोटेशन प्रणाली को लेकर इयान बेल की प्रतिक्रिया

भारत और इंग्लैंड के बीच चार टेस्ट मैचों की चल रही सीरीज को लेकर अलग-अलग प्रतिक्रियाएं देखने को मिल रही है। इस क्रम में इयान बेल (Ian Bell) का नाम भी शामिल हो गया है। इयान बेल ने भारतीय सरजमीं पर टेस्ट मैच खेलना एशेज सीरीज से भी कठिन बताया है। इसके अलावा इयान बेल ने इंग्लैंड टीम की रोटेशन प्रणाली के ऊपर भी सवाल खड़े किये।

Espncricinfo से बातचीत करते हुए इयान बेल ने कहा कि भारत गर्मियों में इंग्लैंड आने वाला है। यदि वे 2-0 या 1-0 से आगे हैं, तो क्या वे रोटेट करेंगे? मुझे नहीं लगता कि वे करेंगे। यदि आप उन परिस्थितियों में जीते हैं, तो उन्हें लंबे समय तक याद किया जाता है। और मैं एक तथ्य जानता हूं कि जब भारत इंग्लैंड आता है और अगर वे 1-0 से आगे जाते हैं, तो वे अपने सर्वश्रेष्ठ गेंदबाजों को नहीं छोड़ेंगे। भारतीय टीम खिलाड़ी रोटेट नहीं करेगी।

इयान बेल का पूरा बयान

बेल ने कहा कि फॉर्म एक खिलाड़ी के रूप में अंदर और बाहर आता रहता है। जब आप अच्छा खेल रहे हों, तो इसे मत खोइए, इसे मत बदलिए। दुनिया में सर्वश्रेष्ठ टीमों के खिलाफ जीत के लिए संयोजन बहुत महत्वपूर्ण है और मुझे लगता है कि इंग्लैंड एशेज के लिए टीम बनाने के लिए बहुत आगे की सोच रहा है। यह ऐशज से बड़ा है। यह संभवतः एशेज जितना बड़ा है। हम सबसे बड़ी श्रृंखला में क्यों रोटेट कर रहे हैं जिसमें हम खेल सकते हैं, मुझे लगता है कि यहाँ हम थोड़े गलत जा रहे हैं।

गौरतलब है कि चेन्नई टेस्ट मैच के दौरान मोईन अली ने दोनों पारियों में 4-4 विकेट चटकाए थे। इसके बाद उन्हें अगले दोनों टेस्ट मैचों से बाहर कर इंग्लैंड भेज दिया गया। इस निर्णय को लेकर भी इंग्लिश मैनेजमेंट की आलोचना देखने को मिली है।

Quick Links