Create
Notifications
Favorites Edit
Advertisement

Hindi Cricket News: जिम्बाब्वे और नेपाल की सदस्यता को आईसीसी ने फिर से बहाल किया     

  • जिम्बाब्वे क्रिकेट बोर्ड सरकारी हस्तक्षेप को खत्म करने में नाकाम रहा था, जिस वजह से उसको निलंबित कर दिया था
Ankit Pasbola
ANALYST
न्यूज़
Modified 21 Dec 2019, 00:34 IST

अब जिम्बाब्वे की पुरुष और महिला टीम फिर से आईसीसी के टूर्नामेंटो में खेलती हुई नजर आयेगी।
अब जिम्बाब्वे की पुरुष और महिला टीम फिर से आईसीसी के टूर्नामेंटो में खेलती हुई नजर आयेगी।

पिछले कुछ महीनों से निलंबन झेल रहे जिम्बाब्वे क्रिकेट के लिए एक अच्छी खबर सामने आयी है। आईसीसी ने जिम्बाब्वे को फिर से अपने सदस्य देश के रूप में शामिल किया है। इनके अलावा नेपाल क्रिकेट की सदस्यता को भी आईसीसी ने फिर से बहाल कर दिया है। सोमवार को आईसीसी की बैठक के बाद यह निर्णय लिया गया है। गौरतलब है कि जिम्बाब्वे क्रिकेट बोर्ड को जुलाई में तत्काल प्रभाव से निलंबित कर दिया गया था।

आईसीसी के इस फैसले के बाद निश्चित ही जिम्बाब्वे क्रिकेट ने राहत की साँस ली होगी। आईसीसी निलंबित देश को आर्थिक मदद नहीं देती और जिम्बाब्वे की आर्थिक स्थिति इस समय बेहद कमजोर है। इसके अलावा अब जिम्बाब्वे की पुरुष और महिला टीम फिर से आईसीसी के टूर्नामेंटो में खेलती हुई नजर आयेगी।

यह भी पढ़ें : जब गौतम गंभीर ने अपना मैन ऑफ द मैच विराट कोहली को दे दिया था

आईसीसी चेयरमैन शशांक मनोहर ने इस बारे में बताया, "मैं जिम्बाब्वे के खेल मंत्री का उनके समर्थन के लिए शुक्रिया अदा करता हूं जिन्होंने जिम्बाब्वे क्रिकेट की बहाली में अपना अहम योगदान दिया। उनकी जिम्बाब्वे में खेल के प्रति काम करने की ललक साफ देखी जा सकती थी और वह आईसीसी बोर्ड द्वारा रखी गई शर्तों पर पूरी तरह की राजी हो गई थी। जिम्बाब्वे क्रिकेट की फंडिंग को नियंत्रण के साथ जारी रखा जाएगा।"

नेपाल क्रिकेट को भी 2016 में निलंबित किया गया था, लेकिन हालिया विकास को देखते हुए उन्हें फिर से एक मौका दिया गया है। इस महीने की शुरुआत में क्रिकेट एसोसिएशन ऑफ़ नेपाल के 17 सदस्यीय कार्यकारी समिति का चुनाव भी किया गया था और इसे कारण से आईसीसी ने बड़ा फैसला लिया।

इससे पहले अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट परिषद ने जिम्बाब्वे क्रिकेट बोर्ड को जुलाई 2019 में तत्काल प्रभाव से निलंबित कर दिया था। आईसीसी की वार्षिक बैठक में सर्वसम्मति के साथ यह निर्णय लिया गया था। जिम्बाब्वे क्रिकेट बोर्ड सरकारी हस्तक्षेप को खत्म करने में नाकाम रहा था, जिस वजह से उस पर यह कार्रवाई की गई थी।


Hindi Cricket Newsसभी मैच के क्रिकेट स्कोर, लाइव अपडेट, हाइलाइट्स और न्यूज़ स्पोर्ट्सकीड़ा पर पाएं।

Published 15 Oct 2019, 10:26 IST
Advertisement
Fetching more content...