Create
Notifications

वर्ल्ड कप 2019: 5 भारतीय खिलाड़ी जिनका यह आखिरी विश्व कप हो सकता है

Dhoni during his unbeaten knock against Australia
आशीष कुमार
visit

आईसीसी क्रिकेट वर्ल्ड कप दुनिया की सबसे बड़ी क्रिकेट प्रतियोगिता है। बहुत कम भाग्यशाली खिलाड़ियों को ही विश्व कप में अपने देश का प्रतिनिधित्व करने का अवसर मिलता है।

अतीत में कई महान खिलाड़ी ऐसे रहे हैं जो चोटों या खराब फॉर्म की वजह से विश्व कप में अपने देश का प्रतिनिधित्व नहीं कर पाए।

भारतीय टीम की बात करें तो इसमें वीवीएस लक्ष्मण, इरफान पठान, प्रवीण कुमार जैसे कुछ बड़े खिलाड़ी ऐसे हैं जिनको भारत की विश्व कप टीम का हिस्सा बनने का मौका नहीं मिला। वर्तमान भारतीय टीम में कुछ ऐसे खिलाड़ी हैं जिनके लिए विश्व कप 2019 उनके करियर का आखिरी विश्व कप साबित हो सकता है।

तो आइये एक नज़र डालते हैं ऐसे पांच भारतीय खिलाड़ियों पर जिनके लिए इंग्लैंड में होने वाला आगामी विश्व कप आखिरी साबित हो सकता है:

#5. केदार जाधव

Kedar Jadhav has been an integral part of the Indian team

केदार जाधव इस समय टीम इंडिया में एक बैटिंग आलराउंडर की हैसियत से खेल रहे हैं। निचले मध्य-क्रम में एक बेहतरीन बल्लेबाज़ के साथ-साथ वह एक उपयोगी स्पिनर भी हैं। जब भी नियमित गेंदबाज़ों को विकेट नहीं मिलता, कप्तान उन्हें गेंद थमाते हैं और जाधव हमेशा कप्तान के भरोसे पर खरे उतरते हैं।

निश्चित रूप से, जाधव अपनी ऑलराउंड क्षमताओं के कारण आगामी विश्व कप में महत्वपूर्ण भूमिका निभाएंगे। वह टीम में छठे गेंदबाज की भूमिका बखूबी निभा रहे हैं जो कप्तान विराट कोहली के लिए राहत की बात है। भारतीय टीम प्रबंधन काफी समय से ऐसे बल्लेबाज़ की तलाश में था जो एक फिनिशर के साथ एक स्पिनर की भूमिका भी बखूबी निभा सकता हो।

अपने पांच साल के छोटे से करियर में, वह चोटिल होने की वजह से काफी सारी सीरीज़ खेलने से चूक गए हैं।

अगर वह 2019 विश्व कप के लिए टीम का हिस्सा बनना चाहते हैं, तो उन्हें यह सुनिश्चित करना होगा कि वह अपनी फिटनेस बरकरार रखें। जाधव इस समय 33 साल के हैं और उनकी फिटनेस को देखते हुए उनके लिए विश्व कप 2023 में खेल पाना बहुत मुश्किल लगता है। लिहाज़ा विश्व कप 2019 उनके करियर का आखिरी विश्व कप होगा।

Hindi Cricket News, सभी मैच के क्रिकेट स्कोर, लाइव अपडेट, हाईलाइटस और न्यूज़ स्पोर्ट्सकीड़ा पर पाएं

#4. शिखर धवन

Dhawan won the man of the series award in 2013 ICC Champions Trophy

धवन जब भी किसी आईसीसी टूर्नामेंट में खेलते हैं तो हमेशा अपना सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन करते हैं। हालाँकि, वह पिछले काफी समय से फॉर्म में नहीं हैं लेकिन भारतीय टीम को आगामी विश्व कप में उनसे बेहतर प्रदर्शन की उम्मीद होगी।

वह पिछले तीन एकदिवसीय आईसीसी टूर्नामेंटों में भारत के प्रमुख रन स्कोरर रहे हैं। वह 2013 और 2017 में खेली गई चैंपियंस ट्रॉफी में अग्रणी रन स्कोरर थे और फिर 2015 के विश्व कप में 5वें सबसे ज्यादा रन बनाने वाले खिलाड़ी रहे थे। 2013 में भारत को चैंपियंस ट्रॉफी जिताने में उनकी अहम भूमिका थी, इसमें उन्होंने 'मैन ऑफ द टूर्नामेंट' का पुरस्कार भी जीता था।

धवन अभी 33 साल के हैं और 2023 के विश्व कप तक वह 37 साल के हो जाएंगे, इसलिए पृथ्वी शॉ और शुभमन गिल जैसे खिलाड़ियों के टीम में आने से उनका विश्व कप 2023 का हिस्सा बनना बहुत मुश्किल होगा।

#3. दिनेश कार्तिक

Dinesh Karthik hit six of the final ball to help India lift the Nidahas Trophy

दिनेश कार्तिक भी एक ऐसे खिलाड़ी हैं जिनके लिए आगामी विश्व कप उनके करियर का आख़िरी विश्व कप साबित हो सकता है। कार्तिक ने साल 2014 में राष्ट्रीय टीम में वापसी की लेकिन कभी भी भारतीय टीम का नियमित हिस्सा नहीं रहे। अपने प्रदर्शन में निरंतरता की कमी के कारण वह लगातार टीम से अंदर-बाहर होते रहे।

लेकिन तमिलनाडु के यह बल्लेबाज़ पिछले दो सालों से अपनी सर्वश्रेष्ठ फॉर्म में हैं, वह पहले की अपेक्षा दबाव में भी शानदार प्रदर्शन कर रहे हैं। अब वह टीम में एक फिनिशर की भूमिका बखूबी निभा रहे हैं।

निदाहस ट्रॉफी में उन्होंने आखिरी गेंद पर छक्का लगाकर भारत को ख़िताबी जीत दिलाई थी। इसके बाद आईपीएल सीज़न 2018 में भी उनका प्रदर्शन लाजबाव रहा। कार्तिक इस समय 33 साल के है और विश्व कप 2023 तक 37 साल के होंगे, इसलिए इस बात की संभावना बहुत कम है कि वह भारत में होने वाले इस विश्व कप में वह खेल पाएंगे। बहरहाल, इस साल वह अपना आखिरी विश्व कप खेलेंगे।

#2. अंबाती रायडू

Ambati Rayudu

अंबाती रायडू ने भारतीय टीम में लंबे समय से चली आ रही नंबर 4 के बल्लेबाज़ी स्लॉट पर किसी बेहतरीन बल्लेबाज़ की कमी को पूरा किया है। कम से कम आगामी विश्व कप तक वह नंबर 4 पर ही बल्लेबाज़ करेंगे। हालाँकि, रायडु ने 2013 में अपने एकदिवसीय अंतर्राष्ट्रीय करियर का आगाज़ किया था लेकिन उसके बाद वह ज़्यादातर टीम से बाहर ही रहे।

लेकिन पिछले साल उनकी किस्मत ने करवट ली और आईपीएल में चेन्नई सुपर किंग्स के लिए शानदार बल्लेबाज़ी कर उन्होंने अपनी टीम की ख़िताबी जीत में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई। वह टूर्नामेंट में चेन्नई के अग्रणी रन स्कोरर थे। आईपीएल में अपने बेहतरीन प्रदर्शन के दम पर उन्हें दोबारा भारतीय टीम में शामिल होने का मौका मिला।

पिछले साल वह इंग्लैंड दौरे से पहले यो-यो टेस्ट में फेल हो गए थे, जिसकी वजह से वह टीम में अपनी जगह नहीं बना सके थे। रायडू फिलहाल 33 वर्ष के हैं, अगर वह खुद को फिट रख पाते हैं और यो-यो टेस्ट भी पास करते हैं तो निसंदेह वह भारत की विश्व कप टीम का हिस्सा होंगे। लेकिन उनके फिटनेस स्तर को देखकर यह कहना उचित होगा कि रायुडू के लिए यह उनके करियर का आख़िरी विश्व कप साबित हो सकता है।

#1. एमएस धोनी

Related image

एमएस धोनी भारतीय टीम के महानतम कप्तानों में से एक रहे हैं। भारत को पहली बार टेस्ट में नंबर 1 बनाने का श्रेय भी उन्हीं को जाता है।

पिछले कुछ सालों से उनकी बल्लेबाज़ी क्षमता पर सवाल उठते रहे हैं लेकिन ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ हाल ही में सम्पन्न हुई एकदिवसीय श्रृंखला में उन्होंने 'प्लेयर ऑफ द टूर्नामेंट' का पुरस्कार जीतकर अपने आलोचकों का मुँह बंद करा दिया है। इस श्रृंखला में धोनी ने तीन अर्धशतक सहित सबसे ज़्यादा रन बनाकर यह दिखाया कि उनमें अभी भी काफी क्रिकेट बची है। विकेट के पीछे भी उनका प्रदर्शन लाजबाव था।

धोनी इस समय 37 साल के हैं और वर्तमान टीम में सबसे उम्रदराज खिलाड़ी हैं और निश्चित रूप से इंग्लैंड में होने वाला विश्व कप उनके करियर का आखिरी विश्व कप होगा। विराट ने उनकी कप्तानी में खेलना शुरू किया था और इसलिए पूरी टीम धोनी को विश्व कप 2019 जीतकर शानदार विदाई देना चाहेगी।

Get Cricket News In Hindi Here

Edited by निशांत द्रविड़
Article image

Go to article

Quick Links:

More from Sportskeeda
Fetching more content...
App download animated image Get the free App now