अफगानिस्तान के प्रतिभाशाली स्पिनर पर लगा एक साल का बैन, अहम कारण आया सामने 

नूर अहमद ने एसए20 में डरबन सुपरजायंट्स की तरफ से शानदार प्रदर्शन किया
नूर अहमद फ्रेंचाइजी क्रिकेट में काफी लोकप्रिय हैं

इंटरनेशनल लीग टी20 (ILT20) की अनुशासनात्‍मक समिति ने अफगानिस्‍तान (Afghanistan Cricket Team) के स्पिनर नूर अहमद (Noor Ahmed) पर शारजाह वॉरियर्स (Sharjah Warriors) के साथ अनुबंध का उल्‍लंघन करने के कारण एक साल का प्रतिबंध लगा दिया। नूर आईएलटी20 द्वारा प्रतिबंधित किए जाने वाले दूसरे क्रिकेटर बने। इससे पहले अफगानिस्‍तान के ही तेज गेंदबाज नवीन उल हक पर भी इसी कारण से प्रतिबंध लगाया गया था।

19 साल के नूर अहमद को शारजाह वॉरियर्स ने रिटेन किया था। मगर अहमद रिटेंशन नोटिस पर हस्‍ताक्षर करने के बाद इसके खिलाफ गए और एसए20 टूर्नामेंट में हिस्‍सा लिया, जहां उन्‍होंने डरबन सुपर जायंट्स का प्रतिनिधित्‍व किया। नूर ने प्‍लेयर सहमति अनुबंध पर हस्‍ताक्षर करने से मना किया, जिसके कारण वॉरियर्स को आईएलटी20 के पास जाना पड़ा ताकि इस मामले पर आगे एक्‍शन लिया जा सके।

अनुशासनात्‍मक समिति ने खिलाड़ी और फ्रेंचाइजी के लिए अलग-अलग सुनवाई का आयोजन किया और फिर अंतिम निर्णय पर आई। शुरुआत में नूर अहमद पर नवीन उल हक की तरह 20 महीने का प्रतिबंध लगाया गया था, लेकिन पहले आईएलटी20 सीजन में वो नाबालिग थे, तो सजा कम करके 12 महीने की कर दी गई।

याद दिला दें कि नूर ने पहले सीजन में वॉरियर्स के लिए सात मैच खेले, जिसमें 4 विकेट लिए। उन्‍होंने 148 रन खर्च किए और उनकी औसत 37 व इकोनॉमी 7.04 की रही। वहीं एसए20 2024 में रनर्स-अप रही डरबन सुपर जायंट्स की तरफ से नूर ने छह मैचों में 12 विकेट चटकाए, जिसमें एक पारी में पांच विकेट भी शामिल हैं।

नूर अहमद इस समय अफगानिस्‍तान टीम के साथ श्रीलंकाई दौरे पर हैं, जहां उन्‍हें राशिद खान की गैरमौजूदगी में बड़ी भूमिका अदा करनी है। वैसे, आईपीएल 2024 में नूर अहमद के गुजरात टाइटंस की तरफ से खेलने की पूरी उम्‍मीद है।

नूर अहमद प्रतिबंध के कारण शायद ही आईएलटी20 के तीसरे सीजन में हिस्‍सा ले सकेंगे, जिसकी शुरुआत 2025 में होनी है।

Quick Links