Create
Notifications
Favorites Edit
Advertisement

अफगानिस्तान क्रिकेट टीम (Afghanistan Cricket Team)


ABOUT
RECENT FIXTURES ALL CRICKET FIXTURES

L Sep 20 2019
T20
Afghanistan
Zimbabwe
155/8 (20.0 ov)
156/3 (19.3 ov)
MATCH CENTER
L Sep 21 2019
T20
Bangladesh
Afghanistan
139/6 (19.0 ov)
138/7 (20.0 ov)
MATCH CENTER
A Sep 24 2019
T20
Bangladesh
Afghanistan
MATCH CENTER
SQUAD

PLAYER ROLE STYLE AGE
Najeeb Tarakai Batsman Right Handed 28
नजीबुल्लाह जादरान (Najibullah Zadran) Middle Order Batsman - 26
Shahidullah Kamal Bowler Left Arm Orthodox 20
गुलबदीन नायब (Gulbadin Naib) All-rounder Right Handed 28
मोहम्मद नबी (Mohammad Nabi) All-rounder Right Handed 34
Farid Malik All-rounder - 25
मुजीब उर रहमान (Mujeeb Ur Rahman) Bowler Right Arm Off Spin 18
Rahmanullah Gurbaz All-rounder Right Handed 18
हज़रतुल्लाह ज़ज़ई (Hazratullah Zazai) Opening Batsman - 21
असगर अफगान (Asghar Afghan) Batsman Right Handed 32
Sharafuddin Ashraf Bowler Left Arm Orthodox 24
दवलत जादरान (Dawlat Zadran) Bowler Right Arm Fast Seam 31
Naveen-ul-Haq Bowler Right Arm Medium Seam 20
Fazal Niazai All-rounder Right Handed 29
राशिद खान (Rashid Khan) Bowler Right Arm Leg spin 21
Karim Janat Bowler Right Arm Medium Seam 21
Shafiqullah Wicket Keeper Right Handed 30
ABOUT

अफगानिस्तान क्रिकेट टीम के अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में संघर्षों की राह आसान नहीं रही है, उनकी टीम में कई उतार-चढ़ाव आये हैं। हालाँकि अफगानिस्तान में क्रिकेट का इतिहास 1839 में काबुल में ब्रिटिश सैनिकों द्वारा खेले गए मैच से शुरू होता है। लेकिन 1990 के दशक तक ऐसा नहीं था अफगानिस्तान देश अशांति में था जहां क्रिकेट खेलना आसान नहीं था इसीलिए अफगानिस्तान में क्रिकेट को अंतरराष्ट्रीय स्तर पर फल-फूलने से अभी कुछ दशक लगेंगे। अफगानिस्तान क्रिकेट टीम भारत में अपने सभी मैचों की मेजबानी करता है।


अफगानिस्तान क्रिकेट इतिहास:

अफगानिस्तान क्रिकेट पाकिस्तान में अफगान शरणार्थियों द्वारा स्थापित किया गया था, जिन्होंने 1995 में अफगानिस्तान क्रिकेट बोर्ड का गठन किया था। हालांकि इस खेल को मूल रूप से तालिबान द्वारा प्रतिबंधित किया गया था, जो वर्ष 2000 में तालिबान द्वारा अनुमोदित होने वाला एकमात्र खेल बना।


उसके बाद अफगानिस्तान क्रिकेट टीम की अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट में राह सीधी थी। वे 2001 में आईसीसी संबद्ध सदस्य बन गए, 2013 तक वे आईसीसी एसोसिएट सदस्य भी बन गए। जब तक उन्होंने अपने एसोसिएट का दर्जा हासिल नहीं किया था तब तक वे पाकिस्तानी घरेलू क्रिकेट के दूसरे टियर में खेलते थे, अमेरिका ने उसी समय उनके देश पर आक्रमण करना शुरू कर दिया।


अफगानिस्तान क्रिकेट इतिहास ऐसा है जो हमें दृढ़ संकल्प की शक्ति और शीर्ष पर पहुंचाने की दृढ़ इच्छाशक्ति दिखाता है। पाकिस्तान में कुछ टूर्नामेंट के बाद, अफगानिस्तान क्रिकेट टीम ने धीरे-धीरे एशियाई क्षेत्रीय टूर्नामेंट खेलना शुरू किया।


अफगानिस्तान टी20, वनडे और टेस्ट स्टेटस:


वर्ष 2011 के वर्ल्ड कप में अफगानिस्तान की टीम अपनी जगह बनाने में कामयाब नहीं रही लेकिन उन्होंने 4 वर्षों तक के वनडे स्टेटस को प्राप्त कर लिया था।


अफगानिस्तान क्रिकेट टीम ने 2009-10 में आईसीसी द्वारा आयोजित इंटरकॉन्टिनेंटल कप जीता जबकि 2011-13 में वे उपविजेता रहे। 2015-17 में उन्होंने एक बार फिर इस कप को जीता। दो वर्षों के समय में वर्ल्ड क्रिकेट लीग में उन्होंने अपने रैंक को बढ़ाया। उन्होंने डिवीजन पांच, डिवीजन चार और डिवीजन तीन का खिताब जीता।सम्बद्ध सदस्यता पाने के 12 वर्षों बाद अफगानिस्तान क्रिकेट टीम अंततः 2013 में आईसीसी की साथी सदस्य बन गई।


चार वर्षों बाद अफगानिस्तान क्रिकेट टीम और आयरलैंड के साथ ही पूर्ण सदस्यता मिली और उन्हें टेस्ट क्रिकेट खेलने की मान्यता मिली। अफगानिस्तान और आयरलैंड 11वें और 12वें टेस्ट स्टेटस पाने वाले देश बने। अफगानिस्तान ने अपना पहला टेस्ट भारत के खिलाफ बेंगलुरु में खेला था जिसमें उन्हें एक पारी और 262 रनों से हार का सामना करना पड़ा था। यह मैच मात्र 2 दिन में समाप्त हो गया था।


अफगानिस्तान क्रिकेट टीम के इतिहास में कई शानदार खिलाड़ी आये जो सीमित ओवरों के प्रारूप में विश्व के किसी भी देश को हराने का माद्दा रखते हैं। अफगानिस्तान क्रिकेट टीम ने अपना अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट पाकिस्तान में शुरू किया था।अफगानिस्तान की ओर से मोहम्मद शहजाद वनडे क्रिकेट में सबसे अधिक रन (2598) बनाने और राशिद खान सबसे अधिक विकेट (123) लेने वाले गेंदबाज हैं जबकि टी20 क्रिकेट में मोहम्मद शहजाद सर्वाधिक रन (1860) बनाने वाले बल्लेबाज और मोहम्मद नबी सर्वाधिक विकेट (89)लेने वाले गेंदबाज हैं। इस समय अफगानिस्तान क्रिकेट टीम के कोच फिल सिमंस हैं।


अफगानिस्तान में युद्ध शुरू होने के बाद उन्हें अपने देश में क्रिकेट खेलने में परेशानी आना शुरू हो गई। उनसे कहा गया कि वे अपने घरेलू मैच किसी अन्य देश में खेलें। भारत से अच्छे संबंधों के कारण बीसीसीआई ने उनकी मदद की। अफगानिस्तान क्रिकेट टीम अपने सभी मैचों की मेजबानी भारत में ही करता है। वे अपने मैच नोएडा और देहरादून में आयोजित कराते हैं।


Fetching more content...