Create

"KKR के लिए प्रदर्शन के बाद लोगों ने मुझे नोटिस करना शुरू किया" - Umesh Yadav की बड़ी प्रतिक्रिया 

उमेश यादव ने KKR के लिए आईपीएल 2022 में शानदार गेंदबाजी की थी
उमेश यादव ने KKR के लिए आईपीएल 2022 में शानदार गेंदबाजी की थी
Prashant Kumar

भारतीय टीम के अनुभवी गेंदबाज उमेश यादव (Umesh Yadav) काफी समय से सफ़ेद गेंद की टीम से बाहर थे लेकिन ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ टी20 सीरीज (IND vs AUS) के लिए टीम में उन्हें रिप्लेसमेंट के तौर पर शामिल किया गया है। हालाँकि, इसके पीछे उमेश ने आईपीएल (IPL) में कोलकाता नाइट राइडर्स (KKR) के लिए किये गए प्रदर्शन को श्रेय दिया। दाएं हाथ के तेज गेंदबाज ने कहा कि आईपीएल 2022 में केकेआर के सीजन के बाद लोगों ने उन्हें देखना शुरू कर दिया था।

ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ 20 सितंबर से मोहाली में शुरू होने वाली तीन मैचों की टी20 सीरीज से पहले उमेश यादव ने मोहम्मद शमी की जगह भारत की टीम में जगह बनाई है। शमी के कोविड-19 की चपेट में आने के बाद बीसीसीआई ने रिप्लेसमेंट का ऐलान किया था।

भारत के लिए 2019 में आखिरी टी20 खेलने वाले दिग्गज गेंदबाज ने खुलासा किया कि मौके न मिलने के बावजूद, उन्होंने अभ्यास करना जारी रखा। उन्होंने यह भी कहा कि लोगों को यह समझने की जरूरत है कि वह सिर्फ ऑफ सीजन में आराम नहीं कर रहे थे।

जर्नलिस्ट विमल कुमार के यूट्यूब चैनल पर उमेश ने कहा,

आईपीएल 2020 में आरसीबी के लिए खेलने के बाद मैंने कोई सफेद गेंद वाला क्रिकेट नहीं खेला। मैं अच्छा कर रहा था, अच्छा अभ्यास कर रहा था, लेकिन मुझे मौका नहीं मिला। किसी को पता नहीं था कि मैं नेट्स में कैसा कर रहा हूं। आईपीएल 2022 में केकेआर के साथ मौका मिलने पर सभी को यह देखने को मिला कि मैं कितना अच्छा कर रहा हूं। लोगों को समझ में आया कि मैं सिर्फ ऑफ सीजन में आराम नहीं कर रहा था।

आईपीएल 2022 में उमेश ने 12 मैचों में 16 विकेट झटके थे। नई गेंद के साथ उन्होंने कई विकेट चटकाए थे और विरोधियों को पावरप्ले में ही झटके दे देते थे।

मिडलसेक्स के लिए खेलने को लेकर भी उमेश यादव ने दी प्रतिक्रिया

उमेश यादव ने भारत में घरेलू क्रिकेट से मिले ब्रेक का फायदा उठाया और इंग्लैंड में रॉयल लंदन वनडे कप में जाकर मिडलसेक्स के कुछ मुकाबले खेले। उन्होंने काउंटी में भी लाल गेंद से कुछ मैच खेले थे। मिडलसेक्स के लिए खेलने के पीछे दिग्गज तेज गेंदबाज ने अहम वजह साझा की। उन्होंने कहा,

आप कह सकते हैं कि मैं भाग्यशाली था, क्योंकि भारत में बारिश के कारण ज्यादा मैच नहीं हो रहे थे, इसलिए मिडलसेक्स की पेशकश के साथ भाग्यशाली हो गया। मैं जानता था कि केवल अभ्यास करने और मैच नहीं खेलने से कुछ भी नहीं होगा। जब आप खेलते हैं तो आपका शरीर उस वातावरण में रहता है, आपकी मांसपेशियां ढीली रहती हैं और आप अधिक चुस्त रहते हैं। मैं अपने काउंटी कार्यकाल का आनंद ले रहा था, इंग्लैंड में मौसम अच्छा है।

Edited by Prashant Kumar

Comments

Quick Links

More from Sportskeeda
Fetching more content...