IND vs ENG: रोहित शर्मा के राजकोट टेस्ट में लगाए गए शतक की दिग्गज ने बताई खासियत, अहम चीज का किया जिक्र

India  v England - 3rd Test Match: Day One
India v England - 3rd Test Match: Day One

राजकोट टेस्ट के पहले दिन इंग्लैंड के खिलाफ भारत (IND vs ENG) ने मजबूत स्थिति में दिन को समाप्त किया और इसमें कप्तान रोहित शर्मा (Rohit Sharma) की अहम भूमिका रही, जिन्होंने शानदार शतकीय पारी खेली। उनकी पारी की हर कोई प्रशंसा कर रहा है और अब इसमें पूर्व भारतीय खिलाड़ी संजय मांजरेकर (Sanjay Manjrekar) का नाम भी जुड़ गया है। मांजरेकर ने कहा कि रोहित ने जीवनदान मिलने के बाद पारम्परिक तरीके से मानसिक तौर पर मजबूती दिखाई और डटकर खेले।

पहले दिन की शुरुआत में इंग्लैंड ने कसी हुई गेंदबाजी की और भारत का स्कोर 10 ओवरों के अंदर ही 33/3 हो गया। रोहित शर्मा को भी शुरुआत में इंग्लिश गेंदबाजों ने तंग किया लेकिन उन्होंने अपनी क्लास दिखाई और अपने टेस्ट करियर का 11वां शतक जड़ने में कामयाब रहे। उन्होंने 196 गेंदों में 131 रनों की पारी खेली, जिसमें 14 चौके और तीन छक्के भी शामिल रहे। रोहित ने शुरुआत में बड़े शॉट के प्रयास किये थे लेकिन इसके बाद उन्होंने संयम से बल्लेबाजी की और विपक्षी गेंदबाजों को अपना विकेट आसानी से नहीं दिया।

संजय मांजरेकर ने रोहित की पारी को लेकर कहा कि रोहित ने बड़ी पारी खेलने के लिए जो मानसिक दृढ़ता दिखाई वह सराहनीय थी। मांजरेकर ने बताया कि रोहित ने अपने स्वाभाविक आक्रामक खेल पर लगाम लगाई और इंग्लैंड के तेज गेंदबाजों को थकाने का प्रयास किया, जब वे सुबह के सत्र में बहुत दबाव डाल रहे थे।

ईएसपीएन क्रिकइंफो पर पहले दिन के खेल के बाद, संजय मांजरेकर ने कहा:

रोहित शर्मा को पता था कि यहाँ सिर्फ 20-30 रन बनाने से काम नहीं चलेगा और उन्हें बड़ी पारी खेलनी होगी। जब भारत ने 3 विकेट गंवा दिए तो उनके ऊपर जिम्मेदारी और भी बढ़ गई थी। रोहित ने कुछ जोखिम लिया और भाग्यशाली रहे कि जो रूट (स्लिप में) ने उनका कैच छोड़ दिया। लेकिन उसके बाद वह मानसिक दृढ़ता के पारंपरिक तरीके पर वापस चले गए और यह वास्तव में सराहनीय था। बेन स्टोक्स ने फील्डिंग अंदर लगा रखी थी लेकिन रोहित ने खुद को उस चीज से वापस रखा जो उनके लिए बहुत स्वाभाविक रूप से आता है। उन्हें और जडेजा को समझ में आया कि इस स्थिति में क्या जरूरी है।

गौरतलब हो कि रोहित शर्मा और रविंद्र जडेजा (110*) के बीच हुई 204 रनों की साझेदारी की वजह से भारत ने स्टंप्स के समय तक 326/5 का स्कोर बनाया। इसमें डेब्यूटांट सरफ़राज़ खान का भी अहम योगदान रहा, जिन्होंने 66 गेंदों में 62 रनों की जबरदस्त पारी खेली।

Quick Links

Edited by Prashant Kumar