Create

'मैं वर्ल्ड के बेस्ट फील्डरों में हूँ लेकिन चीजों को हल्के में नहीं लेता'

भारतीय टीम (Indian Team) ने पिछले कुछ सालों में फिटनेस और फील्डिंग के स्तर में जबरदस्त सुधार किया है। रविन्द्र जडेजा (Ravindra Jadeja) भारतीय फील्डिंग विभाग में लीड करते हैं। उनके कैच और थ्रो धाकड़ होते हैं। इस पर प्रतिक्रिया देते हुए रविन्द्र जडेजा ने कहा कि मैं वर्ल्ड के बेस्ट फील्डरों में हूँ लेकिन किसी चीज को हल्के में नहीं लेता हू। वर्तमान में जडेजा इंग्लैंड के खिलाफ टेस्ट सीरीज (IND vs ENG) के लिए भारतीय टीम के साथ हैं।

टाइम्स ऑफ़ इंडिया से बातचीत हां, मैं दुनिया के सर्वश्रेष्ठ फील्डरों में से एक हूं। लेकिन मैं किसी भी चीज को हल्के में नहीं लेता, मैं अपने खेल और अपनी फिटनेस पर काम करता रहता हूं। उदाहरण के लिए मैं कंधे के बहुत सारे व्यायाम करता हूं और उसके लिए दौड़ता हूं। इस तरह मैं अपनी फिटनेस को बनाए रखता हूं, जिससे मुझे मैदान पर मदद मिलती है।

विराट कोहली की फिटनेस को लेकर जडेजा ने कहा कि विराट निश्चित रूप से बहुत उत्साही, सक्रिय और फिट रहे हैं। वह फिटनेस में भी काफी विश्वास करते हैं, इसलिए सभी को अपने फिटनेस मानकों को ऊपर उठाना होगा। टीम में हर कोई अपनी फिटनेस पर काम कर रहा है, इसलिए अब आप मैदान में अंतर देख सकते हैं।

India v New Zealand - ICC World Test Championship Final: Day 3
India v New Zealand - ICC World Test Championship Final: Day 3

पिछले कुछ सालों से रविन्द्र जडेजा को भारत के बेस्ट फील्डर के रूप में देखा जाता रहा है। मैदान पर उनकी फुर्ती से यह बात साबित भी हो जाती है। सीमा रेखा पर हो या घेरे के अंदर हो, जडेजा की फील्डिंग हर जगह बेहतरीन रही है। उनके थ्रो भी लाजवाब होते हैं और यही कारण है कि विपक्षी बल्लेबाज उनके सामने रन लेने से पहले सोचते हैं। इसके अलावा जडेजा की बैटिंग में अब काफी सुधार आया है। वह हर प्रारूप में भारतीय टीम के लिए बल्ले से उचित योगदान देते हैं। पिछले तीन सालों में उनकी बैटिंग में क्रांतिकारी सुधार आया है।

भारतीय टीम को इंग्लैंड के खिलाफ दूसरे टेस्ट मैच के लिए गुरुवार को मैदान पर उतरना है। दोनों टीमों के बीच ट्रेंट ब्रिज में खेला गया पहला टेस्ट मैच ड्रॉ के रूप में समाप्त हो गया था। देखना होगा कि इस बार मैच में क्या होता है।

Quick Links

Edited by Naveen Sharma
Be the first one to comment