Create

"एक असफलता के बाद श्रेयस अय्यर को ड्रॉप नहीं कर सकते", दूसरे वनडे मैच में बदलावों को लेकर पूर्व खिलाड़ी की प्रतिक्रिया 

South Africa v India - 1st ODI
South Africa v India - 1st ODI
reaction-emoji
Prashant Kumar

पहले वनडे मैच (IND vs SA) में भारत की हार के बाद कई दिग्गजों ने टीम की प्लेइंग इलेवन पर सवाल उठाये थे और दूसरे मैच में कुछ खिलाड़ियों को बाहर करने का सुझाव भी दिया, जिसमें एक नाम श्रेयस अय्यर (Shreyas Iyer) का भी है। हालांकि पूर्व भारतीय खिलाड़ी आकाश चोपड़ा (Aakash Chopra) ने श्रेयस अय्यर का बचाव किया है और उनके मुताबिक टीम को बहुत ज्यादा बदलाव नहीं करने चाहिए तथा श्रेयस को एक और मौका देना चाहिए।

19 जनवरी को खेले गए पहले वनडे में भारतीय टीम 297 रन का लक्ष्य का पीछा करते हुए एक समय अच्छी तरह से बढ़ रही थी लेकिन टॉप ऑर्डर के बल्लेबाजों के आउट होने के बाद मध्यक्रम फ्लॉप साबित हुआ। इस तरह भारतीय टीम निर्धारित ओवर में 265 का स्कोर ही बना पाई और 31 रन से हार गई।

अपने यूट्यूब चैनल पर सवाल-जवाब के दौरान, चोपड़ा से दूसरे वनडे में श्रेयस को ड्रॉप कर सूर्यकुमार यादव को खिलाने के बारे में पूछा गया। इसका जवाब देते हुए उन्होंने कहा,

एक नाकामयाबी के बाद श्रेयस अय्यर को ड्रॉप कर किसी और को नहीं ला सकते। यह सही नहीं होगा क्योंकि उसे खुद को साबित करने के लिए पर्याप्त मौके मिलने चाहिए। अगर आप हर असफलता के बाद बदलाव करते रहे, तो चीजें काम नहीं करेंगी। लेकिन एक बात तो तय है कि श्रेयस के खिलाफ बाउंसर ट्रैप का ज्यादा से ज्यादा इस्तेमाल होने वाला है। यह बात स्पष्ट है कि वह छोटी गेंदों के खिलाफ असहज है। फिर भी, सूर्यकुमार ने पहला मैच नहीं खेला, इसलिए उसे अपने मौके का इंतजार करना होगा।

श्रेयस अय्यर पार्ल में पहले वनडे के दौरान 17 गेंद पर 17 रन ही बना पाए और लुंगी एनगिडी की शॉर्ट गेंद को पुल मारने के प्रयास में आउट हो गए।

राहुल को ही पारी की शुरुआत करनी चाहिए - आकाश चोपड़ा

South Africa v India - 1st ODI
South Africa v India - 1st ODI

आकाश चोपड़ा से एक और सवाल केएल राहुल के मध्यक्रम में खेलने और रुतुराज गायकवाड़ से पारी की शुरुआत करने के बारे में पूछा गया। उन्होंने जवाब में कहा,

मुझे लगता है कि राहुल को फिलहाल धवन के साथ ओपनिंग करते रहना चाहिए।

अपनी बात को समझाते हुए दिग्गज कमेंटेटर ने आगे कहा,

एक ओपनिंग बल्लेबाज के रूप में, राहुल अधिक फायदेमंद हैं। यदि वह लंबे समय तक बल्लेबाजी करता है तो वह 100-150 रन बना सकता है और वास्तव में भारत के लिए एक मैच जीत सकता है। रुतुराज आए तो राहुल को नीचे जाना होगा और किसी को बाहर जाना होगा। यह संभवत: वेंकटेश अय्यर होगा, जो फिर से अनुचित होगा। ज्यादा बदलाव करने के पक्ष में नहीं हूं क्योंकि इससे आपमें विश्वास की कमी का संकेत जाता है।

भारत और दक्षिण अफ्रीका के बीच तीन मैचों की वनडे सीरीज का दूसरा मैच आज पार्ल में ही खेला जायेगा।


Edited by Prashant Kumar
reaction-emoji

Comments

Quick Links

More from Sportskeeda
Fetching more content...