Create

भारत की पांच तेज गेंदबाजों की रणनीति को लेकर पूर्व क्रिकेटर ने उठाए सवाल 

भारत ने लम्बे समय से पांच गेंदबाजों की रणनीति अपनाई है
भारत ने लम्बे समय से पांच गेंदबाजों की रणनीति अपनाई है

भारतीय टीम ने पिछले कुछ समय से सभी तरह की परिस्थितियों में पांच मुख्य गेंदबाजों के साथ खेलने की रणनीति जारी रखी है। कई बार टीम को इसका फायदा मिला है लेकिन कुछ मौकों पर नुकसान भी हुआ है। कुछ ऐसा ही केपटाउन टेस्ट (IND vs SA) में भी देखने को मिला, जिसे हारकर भारत ने सीरीज गंवा दी। सीरीज के हार के बाद सवाल उठ रहे हैं और इसी क्रम में पूर्व भारतीय खिलाड़ी आकाश चोपड़ा का नाम भी शामिल हो गया है। चोपड़ा ने खराब बल्लेबाजी के बावजूद लगातार पांच गेंदबाज खिलाने की रणनीति पर कायम रहने को लेकर सवाल उठाया है।

दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ टेस्ट सीरीज में टीम इंडिया की हार के कारणों पर विचार करते हुए, चोपड़ा ने पांच गेंदबाजों को खिलाने की भारत की ज़िद की आलोचना की। अपने यूट्यूब चैनल पर साझा किए गए वीडियो में उन्होंने कहा,

अगर आपकी बल्लेबाजी लगातार खराब हो रही है, तो आप इतने कठोर क्यों हैं? आप इतने अडिग क्यों हैं कि आप पांच बल्लेबाजों और ऋषभ पंत के साथ हमेशा पांच गेंदबाजों को खिलाएंगे। ऋषभ पंत ने पिछली पारी में शतक बनाया था, लेकिन उससे पहले उनका प्रदर्शन भी कुछ बहुत खास नहीं था।
youtube-cover

आकाश चोपड़ा ने इस बार पर प्रकाश डाला कि खराब प्रदर्शन के बावजूद भारत ने अतिरिक्त बल्लेबाज नहीं खिलाया। इस बात को समझाते हुए उन्होंने कहा,

रहाणे रन नहीं बना रहे हैं, पुजारा रन नहीं बना रहे हैं, कोहली ने शतक नहीं बनाया है, लेकिन फिर भी, हम पांच बल्लेबाज खिलाते हैं। हम छठे बल्लेबाज को खिलाने के लिए बिल्कुल तैयार नहीं हैं। मेरा मतलब है कि यह थोड़ी सी जिद थी कि हम केवल यही करेंगे।

गेंदबाजी की मददगार पिचों में अतिरिक्त गेंदबाज को खिलाने की जरूरत नहीं है - आकाश चोपड़ा

आकाश चोपड़ा ने आगे कहा कि आपको गेंदबाजी की मददगार पिचों में चार गेंदबाजों के साथ ही उतरना चाहिए। उन्होंने कहा,

पांच गेंदबाज खिलाने पर आपको लगा कि कम स्कोर पर भी आप उसे बचा लेंगे लेकिन आप ऐसा नहीं कर सके। आखिरकार, आपको रनों की जरूरत है। जब पिच में मदद, और विरोधी पक्ष की बल्लेबाजी थोड़ी कमजोर है, आपको पांच गेंदबाजों की जरूरत नहीं है।

पूर्व सलामी बल्लेबाज का मानना है कि टीम इंडिया पांच गेंदबाजों को खिलाने के अपने फैसले पर पछता रही है, खासकर जब रोहित शर्मा सीरीज के लिए उपलब्ध नहीं थे और विराट कोहली को दूसरा टेस्ट से बाहर बैठना पड़ा था। आकाश चोपड़ा ने कहा,

आप चार गेंदबाजों के साथ मैनेज कर सकते हैं और एक अतिरिक्त बल्लेबाज खिला सकते हैं, लेकिन टीम कोहली और रोहित के ना होने के बावजूद भी नहीं खिलाया। लेकिन जब आप पीछे मुड़कर देखेंगे, तो आपको लगेगा कि रणनीति विफल हो गई, और आप भी थोड़े जिद्दी हो गए।

Quick Links

Edited by Prashant Kumar
Be the first one to comment