"भुवनेश्वर कुमार का नई गेंद को स्विंग कराना और विकेट लेना भारत के लिए अच्छी खबर है" - पार्थिव पटेल ने दी प्रतिक्रिया 

भुवनेश्वर कुमार ने दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ लय में वापसी के संकेत दिए
भुवनेश्वर कुमार ने दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ लय में वापसी के संकेत दिए

पूर्व भारतीय विकेटकीपर पार्थिव पटेल (Parthiv Patel) ने दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ संपन्न हुई टी20 सीरीज (IND vs SA) में भारत के लिए भुवनेश्वर कुमार (Bhuvneshwar Kumar) को सबसे बड़ा सकारात्मक बताया है। इस सीरीज में भुवी ने गेंद को स्विंग कराया और विकेट भी चटकाए।

भुवनेश्वर कुमार काफी समय तक चोट और फिटनेस की समस्या से परेशान रहे हैं और उन्होंने काफी क्रिकेट भी मिस की। हालाँकि अब धीरे-धीरे वह अपनी लय में वापसी कर रहे हैं। दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ भुवनेश्वर ने चार पारियों में 6.07 के इकॉनमी रेट से 6 विकेट हासिल किये। इस दौरान उनका सर्वश्रेष्ठ गेंदबाजी प्रदर्शन 13 रन देकर 4 विकेट लेना रहा, जो उन्होंने कटक में दूसरे टी20 मैच के दौरान दर्ज किया था। वह सीरीज में हर्षल पटेल (7 विकेट) के बाद दूसरे सबसे ज्यादा विकेट लेने वाले गेंदबाज रहे।

क्रिकबज पर भुवनेश्वर कुमार के प्रदर्शन को लेकर पार्थिव ने कहा,

भुवनेश्वर ने आईपीएल के साथ सुधार किया और उन्होंने इस सीरीज (दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ) में इसे दोहराया। अनुभव के साथ-साथ अगर आप अच्छी गेंदबाजी करते हैं तो यह बड़े टूर्नामेंट में बहुत बड़ी बात होती है। इसलिए मुझे लगता है कि भुवनेश्वर का गेंद को स्विंग कराना और जल्दी विकेट लेना इस सीरीज का एक बड़ा प्लस है।

भुवनेश्वर कुमार को रन खर्च करने के आधार पर नहीं आंकना चाहिए - पार्थिव पटेल

पहले टी20 का उदाहरण देते हुए, जिसमें भुवनेश्वर कुमार ने अपने चार ओवर में 43 रन खर्च किये थे, पार्थिव ने कहा कि इस खराब गेंदबाजी नहीं कहा जाना चाहिए क्योंकि आंकड़े पूरी कहानी नहीं बताते हैं।

पूर्व खिलाड़ी का मानना है कि भुवनेश्वर कुमार को रनों के बजाय, स्विंग के आधार पर आंका जाना चाहिए। उन्होंने कहा,

जैसे बल्लेबाजी में आपको यह जानना होता है कि कब कौन सा शॉट खेलना है और टीम की क्या मांगें हैं, ऐसा ही गेंदबाजी के मामले में भी है। इतने सारे विकल्प होने के बावजूद, आपको यह जानना होगा कि आपकी ताकत क्या है। भुवनेश्वर ने पहले गेम में वास्तव में अच्छी गेंदबाजी की, हालांकि आंकड़े 1/43 दिखाते हैं। हमें भुवनेश्वर को उनके नंबरों से कभी नहीं आंकना चाहिए, हम देखते हैं कि वह गेंद को स्विंग करा रहे हैं या नहीं और यह उनके हाथ से कैसे निकल रही है।

Quick Links