Create

"हमने अपना सर्वश्रेष्ठ क्रिकेट नहीं खेला" - दक्षिण अफ्रीका के हेड कोच की आई बड़ी प्रतिक्रिया

भारत बनाम दक्षिण अफ्रीका टी20 सीरीज बराबरी पर समाप्त हुई
भारत बनाम दक्षिण अफ्रीका टी20 सीरीज बराबरी पर समाप्त हुई

भारत और दक्षिण अफ्रीका के बीच टी20 सीरीज (IND vs SA) का समापन हो गया है। सीरीज खत्म होने के बाद प्रोटियाज टीम के कोच मार्क बाउचर (Mark Boucher) ने कहा कि वह इस सीरीज में 2-2 के नतीजे को स्वीकार करेंगे। पांच मैचों की सीरीज का आखिरी मैच बेंगलुरु में बारिश के कारण नहीं हो पाया और रद्द कर दिया गया। इसी वजह से शुरुआती चार मैचों के नतीजों के आधार पर सीरीज बराबरी पर समाप्त हुई।

दक्षिण अफ्रीका ने शुरूआती दो मैचों में जीत दर्ज करते हुए बहुत ही जबरदस्त खेल दिखाया और ऐसा लगा कि शायद भारत को आसानी से सीरीज में हरा देगी। हालांकि, ऐसा नहीं हुआ भारत ने अगले दो मैचों में प्रोटियाज टीम को कोई मौका ना देते हुए सीरीज बराबर की।

इस सीरीज में दक्षिण अफ्रीका को कुछ खिलाड़ियों की कमी भी महसूस हुई। बल्लेबाज एडेन मार्करम कोरोना के कारण एक भी मैच नहीं खेल पाए। वहीँ क्विंटन डी कॉक ने भी कुछ मैच नहीं खेले।

मार्क बाउचर ने माना कि दक्षिण अफ्रीका अपने सर्वश्रेष्ठ क्रिकेट से बहुत दूर थी। उन्होंने कहा,

आप आईपीएल सीजन के बाद भारत आते हैं। उनके कई खिलाड़ी अच्छी फॉर्म में हैं। उन्होंने इन परिस्थितियों में काफी क्रिकेट खेली है। मैं टू-ऑल लूंगा। हमने अपना सर्वश्रेष्ठ क्रिकेट नहीं खेला। कुछ चरणों में हमारी गेंदबाजी बहुत अच्छी थी। और अन्य अवसरों पर, हम थोड़े रूखे दिखे। लेकिन हाँ, वर्ल्ड कप ईयर में बहुत सारे सबक जहाँ हम अभी भी देख सकते हैं कि क्या हम ऑस्ट्रेलिया जाने के लिए कुछ कमियों को दूर कर सकते हैं।

पूरी सीरीज में भुवी असाधारण थे - मार्क बाउचर

सीनियर भारतीय तेज गेंदबाज भुवनेश्वर कुमार ने नई गेंद के साथ जबरदस्त गेंदबाजी की और इसी वजह से दक्षिण अफ्रीका पावरप्ले का फायदा उठाने में ज्यादातर मौकों पर नाकाम रही। प्लेयर ऑफ़ द सीरीज भुवनेश्वर ने चार पारियों में 6.07 के इकॉनमी रेट से 6 विकेट हासिल किये। इस दौरान उनका सर्वश्रेष्ठ गेंदबाजी प्रदर्शन 13 रन देकर 4 विकेट लेना रहा, जो उन्होंने कटक में दूसरे टी20 मैच के दौरान दर्ज किया था।

भुवनेश्वर की प्रशंसा करते हुए बाउचर ने कहा,

हमने कुछ अच्छी गेंदबाजी का भी सामना किया। इस पूरी सीरीज में भुवी असाधारण थे। उन्होंने पावरप्ले में हम पर दबाव बनाया। एक खेल को छोड़कर, यह एक ऐसा क्षेत्र है जिसमें भारत हमारे खिलाड़ियों पर बल्ले और गेंद दोनों के साथ हावी है और यह ऐसी चीज है जिस पर हम निश्चित रूप से गौर करेंगे और कोशिश करेंगे और सुधार करेंगे।

Quick Links

Edited by Prashant Kumar
Be the first one to comment