Create

बेंगलुरु टेस्ट के दूसरे दिन के खेल के बाद हनुमा विहारी ने दिया बड़ा बयान 

हनुमा विहारी ने खुद की बल्लेबाजी को लेकर कुछ अहम बातों का जिक्र किया
हनुमा विहारी ने खुद की बल्लेबाजी को लेकर कुछ अहम बातों का जिक्र किया

भारत और श्रीलंका (IND vs SL) के बीच बेंगलुरु में खेले जा रहे टेस्ट मैच में भारतीय टीम काफी मजबूत स्थिति में पहुँच चुकी है और टीम एक और जीत की तरफ अग्रसर दिख रही है। भारत ने श्रीलंका को मैच जीतने के लिए 447 रन का विशाल लक्ष्य दिया है, जिसके जवाब में श्रीलंकाई टीम एक विकेट के नुकसान पर 28 रन बना चुकी है। जीत के लिए अभी 419 रन की जरूरत है जो नामुमकिन ही लग रहा है। दूसरे दिन के खेल के बाद भारतीय बल्लेबाज हनुमा विहारी (Hanuma Vihari) ने खुद की बल्लेबाजी और टीम द्वारा पारी घोषित करने के पीछे की अहम वजह का जिक्र भी किया।

इस मैच की दोनों पारियों में हनुमा विहारी अच्छी शुरुआत को बड़े स्कोर में तब्दील नहीं कर पाए। उन्होंने पहली पारी में 31 तथा दूसरी पारी में 35 रन बनाये। विहारी ने मैच के बाद पिच को मुश्किल बताया।

मैं दूसरी पारी में बेहतर कर सकता था - हनुमा विहारी

दाएं हाथ के बल्लेबाज ने कहा,

यह एक चुनौतीपूर्ण विकेट है, जहाँ नई गेंद पर आप आउट हो सकते हैं। मुझे लगा कि हमने दोनों पारियों में अच्छी बल्लेबाजी की। हमें विश्वास है कि हम कल प्रदर्शन कर सकते हैं और उनके विकेट हासिल कर सकते हैं। मैं अपने डिफेंस पर भरोसा कर रहा था, जानता था कि कौन सी गेंदब खेलनी है और कौन सी छोड़नी है, मुझे पहली पारी में अच्छी गेंद मिली, लेकिन मुझे लगता है कि मैं दूसरी पारी में बेहतर कर सकता था। ओस की वजह से स्पिनरों के खिलाफ रोशनी में बल्लेबाजी करना आसान था, लेकिन फिर भी यह चुनौतीपूर्ण था। मैं उन क्षेत्रों को जानता था जहां मैं स्कोर कर सकता था और मैं इसके लिए इंतजार करना चाहता था।

पारी को घोषित करने के बारे में बताते हुए विहारी ने कहा,

हमने पहले आज रात गेंदबाजी करने की योजना नहीं बनाई थी लेकिन विकेट गिर रहे थे और हमे लगा कि हम 35-40 ओवर की गेंदबाजी करते हुए एक-दो विकेट लेने का प्रयास कर सकते हैं।

Quick Links

Edited by Prashant Kumar
Be the first one to comment