Create

कप्तान के रूप में टेस्ट फॉर्मेट में खुद को ढालने को लेकर रोहित शर्मा के लिए आई बड़ी प्रतिक्रिया 

रोहित शर्मा के लिए एक नयी शुरुआत होगी
रोहित शर्मा के लिए एक नयी शुरुआत होगी

टेस्ट प्रारूप में शुरुआत हमेशा ही एक अलग चुनौती होती है, आप बतौर खिलाड़ी खेलें एक एक कप्तान के तौर पर। कुछ ऐसी ही एक नयी शुरुआत रोहित शर्मा (Rohit Sharma) करने जा रहे हैं, जिन्हें हाल ही में भारत का टेस्ट कप्तान नियुक्त किया गया है। रोहित श्रीलंका के टेस्ट सीरीज (IND vs SL) से अपनी कप्तानी पारी का आगाज करेंगे। कप्तान के तौर पर रोहित के सामने इस प्रारूप में खुद को ढालने की चुनौती होगी। हालांकि पूर्व भारतीय दिग्गज सुनील गावस्कर (Sunil Gavaskar) का मानना है कि टेस्ट कप्तानी रोहित शर्मा के लिए कोई बड़ा मुद्दा नहीं होना चाहिए।

दिसंबर-जनवरी में दक्षिण अफ्रीका के दौरे पर 2-1 से मिली हार के बाद विराट कोहली ने भारतीय टीम की टेस्ट कप्तानी छोड़ने की घोषणा कर दी थी। रोहित, जिन्हें पहले ही सीमित ओवरों के लिए फुलटाइम कप्तान बना दिया गया था। अब उन्हें क्रिकेट के सबसे लंबे प्रारूप की भी कप्तानी दे दी गयी है।

स्टार स्पोर्ट्स पर चर्चा के दौरान, सुनील गावस्कर से जब पूछा गया कि रोहित शर्मा के लिए भारतीय टेस्ट कप्तान के रूप में जिम्मेदारी संभालना कितना मुश्किल होगा। इस पर उन्होंने कहा,

पिछले कुछ सालों से विभिन्न टीमों की कप्तानी करने का अनुभव है ऐसे में कोई बड़ा मुद्दा नहीं होना चाहिए। हां, यह लंबा प्रारूप है, इसलिए प्लानिंग और नजरिया अलग होगा लेकिन उनके पास काफी है, इसलिए कप्तान के लिए वास्तव में कुछ भी मुश्किल नहीं है।

रोहित शर्मा का बहुत सारे खिलाड़ियों के साथ तालमेल है - अजीत अगरकर

🚨BREAKING🚨BCCI have appointed Rohit Sharma as the captain of the Indian Men's Test team ahead of the two-match Test series against Sri Lanka.#India #TeamIndia https://t.co/wtpDDFtqNi

अजीत अगरकर ने भी गावस्कर की बात से सहमति जताई। उन्होंने कहा कि सीमित ओवरों के कप्तान के रूप में रोहित को काफी अनुभव है जिसका फायदा उन्हें टेस्ट सीरीज में मिलेगा। उन्होंने विस्तार से कहा,

अनुभव निश्चित रूप से मदद करेगा अगर आप इतने लंबे समय से खेल रहे हैं और आप देख सकते हैं कि खिलाड़ी उन्हें रिस्पॉन्ड भी करते हैं। मेरा मतलब है कि हमने अभी तक उन्हें केवल सीमित ओवरों के क्रिकेट में कप्तानी करते हुए देखा है और यह पहली बार होगा जब वह टेस्ट क्रिकेट में कप्तानी करेंगे। आप देख सकते हैं कि उनका बहुत सारे खिलाड़ियों के साथ तालमेल है। वह लंबे समय से उनके साथ खेल रहे है हैं, इसलिए वह खिलाड़ियों को जानते हैं।

भारत के पूर्व तेज गेंदबाज ने कहा कि मेजबान टीम का घर में शानदार रिकॉर्ड और खुद रोहित की फॉर्म भी इसमें मददगार साबित होगी। उन्होंने आगे कहा,

घर पर भारत का रिकॉर्ड शानदार है, इसलिए यह निश्चित रूप से मदद करेगा क्योंकि आप विदेश में नहीं खेल रहे हैं और आपको अचानक बहुत सारे बदलाव करने पड़ जाए। तो इससे निश्चित रूप से मदद मिलेगी। मैं देख सकता हूं कि खिलाड़ी उन्हें रिस्पॉन्ड कर रहे हैं और एक कप्तान के रूप में आप यही पहली चीज चाहते हैं और वह रन भी बना रहे हैं, जिससे उनको काफी मदद मिलने वाली है।

रोहित शर्मा ने पिछले साल टेस्ट क्रिकेट में शानदार प्रदर्शन किया था। उन्होंने 2021 में 11 टेस्ट मैच खेले थे और 47.68 के औसत की मदद से 906 रन अपने नाम किये थे।

Quick Links

Edited by Prashant Kumar
Be the first one to comment