Create
Notifications
Favorites Edit
Advertisement

Hindi Cricket News - भारतीय स्पिनर प्रज्ञान ओझा ने क्रिकेट से संन्यास का ऐलान किया, लगभग सात पहले खेला था आखिरी अंतरराष्ट्रीय मुकाबला

  • सचिन तेंदुलकर का आखिरी मैच प्रज्ञान ओझा का भी आखिरी मैच साबित हुआ
FEATURED WRITER
न्यूज़
Modified 21 Feb 2020, 12:01 IST

प्रज्ञान ओझा
प्रज्ञान ओझा

भारतीय टीम के स्पिनर प्रज्ञान ओझा ने क्रिकेट के सभी फॉर्मेट से संन्यास का ऐलान कर दिया है। 33 वर्षीय प्रज्ञान ने एक ट्वीट के जरिये अपने संन्यास की जानकारी दी।  उन्होंने भारत के लिए 24 टेस्ट, 18 एकदिवसीय अंतरराष्ट्रीय और 6 टी20 अंतरराष्ट्रीय खेले और कुल मिलाकर 144 विकेट लिए। भारतीय घरेलू क्रिकेट में वह हैदराबाद और बिहार एवं आईपीएल में डेक्कन चार्जर्स और मुंबई इंडियंस का हिस्सा रहे। प्रथम श्रेणी में उन्होंने 424, लिस्ट ए में 123 और टी20 में 156 विकेट लिए।

गौरतलब है कि प्रज्ञान ओझा ने भारत के लिए आखिरी अंतरराष्ट्रीय मैच नवंबर 2013 में वेस्टइंडीज के खिलाफ खेला था और उस मैच में 10 विकेट लेकर मैन ऑफ़ द मैच रहे थे, लेकिन उसके बाद उन्हें भारत की तरफ से खेलने का मौका नहीं मिला। संयोग से वह मैच विश्व क्रिकेट के महान क्रिकेटर सचिन तेंदुलकर का भी आखिरी अंतरराष्ट्रीय मुकाबला था।

यह भी पढ़ें - न्यूजीलैंड के खिलाफ पहला टेस्ट में भारतीय टीम की खराब शुरुआत, बारिश के कारण पहले दिन का खेल जल्दी समाप्त

प्रज्ञान ने 2009 में श्रीलंका के खिलाफ कानपुर में अपना टेस्ट डेब्यू किया था। टेस्ट की एक पारी में उनका सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन वेस्टइंडीज के खिलाफ 2011 में आयाम जब मुंबई टेस्ट में उन्होंने 47 रन देकर 6 विकेट लिए। इसके अलावा टेस्ट में 10 विकेट लेने का रिकॉर्ड भी उन्होंने वेस्टइंडीज के खिलाफ ही अपने आखिरी मैच में लगाया।

वनडे में ओझा ने 2008 में पाकिस्तान के खिलाफ कराची में अपना डेब्यू किया था और उनका सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन 4/38 रहा, जो 2009 में श्रीलंका के खिलाफ कोलंबो में आया।  उन्होंने अपना आखिरी वनडे 2012 में श्रीलंका के खिलाफ ही खेला। 

टी20 अंतरराष्ट्रीय में ओझा ने 2009 वर्ल्ड टी20 में अपना डेब्यू किया था और पहले ही मैच में 21 रन देकर 4 विकेट लिए और मैन ऑफ द मैच रहे थे। उन्होंने भारत के लिए अपना अपना आखिरी टी20 ज़िम्बाब्वे के खिलाफ 2010 में खेला था। 2010 में प्रज्ञान ओझा आईपीएल में सबसे ज्यादा विकेट लेने वाले गेंदबाज रहे और उन्हें पर्पल कैप मिला था। 

2005 में अपना प्रथम श्रेणी डेब्यू करने वाले ओझा ने 2018 में बिहार की तरफ से अपना आखिरी प्रथम श्रेणी मुकाबला खेला था। ओझा ने अपना आखिरी लिस्ट ए और टी20 मैच भी 2018 में खेला, जिसमें उन्होंने क्रमशः 2006 और 2007 में डेब्यू किया था। 

Published 21 Feb 2020, 12:01 IST
Advertisement
Fetching more content...