Create
Notifications
New User posted their first comment
Advertisement

आईपीएल 2019: टूर्नामेंट में मुंबई इंडियंस की खराब शुरूआत के 3 कारण

मुंबई इंडियंस ने अब तक अपने तीन में से दो मैच हारे हैं
Rahul Pandey
ANALYST
Modified 01 Apr 2019, 16:08 IST
टॉप 5 / टॉप 10
Advertisement

इंडियन प्रीमियर लीग का पहला हफ्ता खत्म हो चुका है और टूर्नामेंट की शुरुआत में मुंबई इंडियंस एक बार फिर से पहले की तरह अच्छा प्रदर्शन नही कर सकी है। तीन बार की विजेता मुंबई इंडियंस अपना पिछला मैच किंग्स इलेवन पंजाब सेआठ विकेट से हारे थे जिसके बाद अब वो अपने पहले तीन मैचों में से दो में हार चुके हैं।

जाहिर है, दिल्ली कैपिटल्स और किंग्स इलेवन दोनों ने उनके खिलाफ आरामदायक जीत दर्ज की। यहां तक कि रॉयल चैलेंजर्स बैंग्लोर के खिलाफ मिली जीत भी आसान नही थी और एक तरह से वह जीत केवल जसप्रीत बुमराह की करिश्माई गेंदबाज़ी के कारण मिली थी और यह टीम सौभाग्यशाली रही कि मैच की अंतिम गेंद जो कि एक नो-बॉल थी उसपर अंपायर का ध्यान नही गया।

एक टीम के रूप में मुंबई इंडियंस कागज पर सबसे मजबूत और सबसे संतुलित दिखती है, लेकिन मैदान पर उनके प्रदर्शन से ऐसा प्रतीत नही होता है। रोहित शर्मा की टीम अब तक उम्मीदों पर खरी नहीं उतरी है और फॉर्म और भाग्य में फिर से सुधार की जरूरत है। नही तो संभव है कि वे लगातार दूसरे सीजन प्लेऑफ़ में जगह बनाने में सफल न हो सकें। यहाँ हम अब तक कि ऐसी 3 कमियों पर नज़र डाल रहे हैं, जिनमे सुधार इस टीम को वापस जीत की पटरी पर ला सकता है।


# 3 मयंक मारकंडे का उपयोग

मयंक मार्कंडे

यह कोई रहस्य नहीं है कि आधुनिक क्रिकेट में कलाई के स्पिनर किसी भी टीम के लिए बेहद ख़ास योगदान देते हैं। युजवेंद्र चहल, कुलदीप यादव, राशिद खान और इमरान ताहिर जैसे खिलाड़ी अपने-अपने फ्रेंचाइजी के सबसे बड़े विकेट लेने के विकल्प हैं।

इसलिए, पिछले सीजन में मयंक मारकंडे का उभर के आना मुंबई इंडियंस के लिए बड़ी राहत की बात थी। उस समय वह युवा खिलाड़ी थे और उन्होंने चेन्नई सुपर किंग्स और सनराइजर्स हैदराबाद के खिलाफ अपने पहले दो मैचों में सात विकेट से शुरुआत की थी। इसके बावजूद कि उनका फॉर्म सीजन के दूसरे भाग में एक समान नही रहा, उन्हें सीजन की खोज में से एक माना गया।

आईपीएल के बाद, मारकंडे ने घरेलू क्रिकेट में पंजाब के लिए शानदार प्रदर्शन किया। इसके चलते उन्होंने फरवरी में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ टी 20 में भारत की टीम में जगह मिली। एक खिलाड़ी के रूप में इस 21 वर्षीय खिलाड़ी द्वारा इस सीजन में मुंबई इंडियंस के लिए एक प्रमुख भूमिका निभाने की उम्मीद थी। हालाँकि, अब तक ऐसा नहीं हुआ है। कई लोगों के लिए यह आश्चर्य की बात थी कि मार्कंडे दिल्ली कैपिटल्स के खिलाफ पहले मैच के लिए प्लेइंग इलेवन में नहीं थे।

जब वह रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर के खिलाफ वापस लौटे, तो उन्होंने सिर्फ 23 रन देकर 1 विकेट लिया इसके बावजूद उनसे केवल तीन ओवर करवाए गये। वो भी तब युवराज सिंह ने एबी डीविलियर्स का एक कैच उनकी गेंद पर छोड़ दिया था और डीविलियर्स उनके सामने संघर्ष कर रहे थे।

इसके अलावा, मारकंडे को किंग्स इलेवन पंजाब के खिलाफ केवल एक ओवर दिया गया था। दोनों मैचों में, रोहित शर्मा ने एक महंगे ओवर के बाद मार्कंडे को गेंद नहीं दी। अगर मुंबई टूर्नामेंट जीतना चाहती है, तो रोहित शर्मा को अपने लेग स्पिनर पर अधिक विश्वास दिखाना होगा।

1 / 3 NEXT
Published 01 Apr 2019, 16:08 IST
Advertisement
Fetching more content...
App download animated image Get the free App now
❤️ Favorites Edit