Create
Notifications

IPL 2019: 3 रिटायर्ड खिलाड़ी जो अपनी टीम की सफलता की चाबी बन सकते हैं 

ए.बी. डीविलियर्स
Sheryansh Jain
visit

इंडियन प्रीमियर लीग का 12वां संस्करण 23 मार्च को महेंद्र सिंह धोनी की चेन्नई सुपर किंग्स और विराट कोहली की रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर के बीच होने वाले मुकाबले से शुरू होने वाला है। क्रिकेट जगत की इस प्रसिद्ध लीग ने भारत के साथ साथ दुनिया भर के युवा खिलाड़िओं को अपनी प्रतिभा दिखाने और खुद को सर्वश्रेष्ठ साबित करने का मंच दिया है।

यूँ तो आईपीएल की सभी टीमें युवा प्रतिभाओं को खरीदने पर ज़्यादा ध्यान देती है, ताकि टीम में उन्हें अपने प्रकार से तैयार किया जा सके। लेकिन दूसरी तरफ सभी टीमें अपनी टीमें कुछ अनुभव खिलाड़ी भी शामिल करती है, ताकि प्रतिभा से भरपूर युवा खिलाड़ी उन अनुभवी खिलाड़िओं की छत्र छाया में निखार सके।

आईपीएल के इस सीजन में काफी ऐसे खिलाड़ी है, जिन्होंने अंतराष्ट्रीय क्रिकेट के सभी प्रारूपों से संन्यास ले लिया है, जिसके कारण वह पूरे सीजन में टीम के लिए खेल पाएंगे व युवा खिलाड़िओं को निखार पाएंगे। आज इस लेख में हम उन तीन रिटायर्ड खिलाड़िओं की बात करेंगे, जो इस सीजन में अपनी-अपनी टीम के लिए सफलता की चाबी बन सकते हैं।

#3 शेन वाटसन

शेन वाटसन

पूर्व ऑस्ट्रेलियाई आल राउंडर शेन वाटसन इस आईपीएल सीजन में फिर से चेन्नई सुपर किंग्स के लिए खेलते हुए नज़र आएँगे। साल 2018 के आईपीएल सीजन में शेन वाटसन को चेन्नई सुपर किंग्स ने 4 करोड़ के मूल्य पर ख़रीदा था, जिसे उन्होंने अपने प्रदर्शन के दम पर उचित ठहराया ।

इस ऑस्ट्रेलियाई आल राउंडर ने चेन्नई सुपर किंग्स के लिए 2018 आईपीएल सीजन में 15 मुकाबले खेले, जिसमे उन्होंने 39.64 की औसत और 154.59 के ताबड़तोड़ स्ट्राइक रेट से 555 रन बनाए। शेन वाटसन ने इस सीजन में 2 शतक और 2 अर्दशतक लगाए और उनका सर्वाधिक स्कोर 117 था, जो उन्होंने सनराइजर्स हैदराबाद के खिलाफ आईपीएल 2018 के फाइनल में बनाया था।

गेंदबाज़ी की बात करें तो शेन वाटसन ने 15 मैचों में कुल 28 ओवर फेंके, जिसमे उन्होंने की 41.83 की औसत और 8.96 की इकॉनमी के साथ 6 विकेटें झटकी।

आईपीएल 2018 के बाद शेन वाटसन ने अनेक टी20 लीग्स में शिरकत की है, जिससे वह एक अच्छी लेह में है और उसी लेह को 2019 के आईपीएल सीजन में दिखाने का प्रयास करेंगे।

#2 ड्वेन ब्रावो

ड्वेन ब्रावो

ड्वेन ब्रावो ने साल 2018 में अंतराष्ट्रीय क्रिकेट के सभी प्रारूपों से रिटायरमेंट की घोषणा की, जिसके चलते वह पूरे सीजन में चेन्नई के लिए खेल पाएंगे। पिछले सीजन में ब्रावो अपनी सर्वश्रेष्ठ फॉर्म में दिखने में नाकाम रहे थे। अंत के ओवरों में ज़्यादा रन देने के चलते ब्रावो के प्रदर्शन पर काफी सवाल उठाए गए थे, लेकिन आईपीएल 2018 के बाद खेली गईं दूसरी टी20 लीग्स ने यह स्पष्ट कर दिया की ब्रावो के पास अब भी काफी हुनर है, जिससे वह टीम को मैच जितवा सकते हैं।

बल्लेबाज़ी की बात करें तो ब्रावो ने चेन्नई सुपर किंग्स के लिए 2018 आईपीएल सीजन में 16 मुकाबले खेले, जिसमे उन्होंने 35.25 की औसत और 154.94 के ताबड़तोड़ स्ट्राइकरेट से 141 रन बनाए। ब्रावो ने 2018 के आईपीएल सीजन में एक अर्दशतक लगाया, और उनका सर्वाधिक स्कोर 68 रन था, जो उन्होंने लीग के पहले मुकाबले में मुंबई के खिलाफ बनाया था।

गेंदबाज़ी की बात करें तो ब्रावो ने 16 मैचों में कुल 54 ओवर फेंके, जिसमे उन्होंने की 38.07 की औसत और 9.96 की इकॉनमी के साथ 14 विकेटें झटके।

#1 एबी डीविलियर्स

ए.बी. डीविलियर्स

साल 2018 में ए.बी. डीविलियर्स ने अंतराष्ट्रीय क्रिकेट के सभी प्रारूपों से संन्यास लेखर पूरे क्रिकेट जगत को हैरान कर दिया था। संन्यास के बाद दक्षिण अफ्रीका के इस बल्लेबाज़ ने विश्व की सभी टी20 लीग खेली, और दिखाया की भले ही उन्होंने संन्यास ले लिया है, लेकिन उनके रनों की भूख अभी तक ख़त्म नहीं हुई है।

क्योंकि अब एबी डीविलियर्स ने संन्यास ले लिया है, तो वह रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर के लिए पूरे सीजन उपलब्ध रहेंगे। दक्षिण अफ्रीका के इस बल्लेबाज़ ने रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर के लिए 2018 आईपीएल सीजन में 12 मुकाबले खेले, जिसमे उन्होंने 39.64 की औसत और 154.59 के ताबड़तोड़ स्ट्राइकरेट से 480 रन बनाए।ए.बी. डीविलियर्स ने इस सीजन में 6 अर्दशतक लगाए और उनका सर्वाधिक स्कोर 90 रन था, जो उन्होंने दिल्ली डेयरडेविल्स के खिलाफ बनाया था।

अपने अनुभव के चलते इस बार एबी डीविलियर्स अपनी टीम को उसकी पहली आईपीएल ट्रॉफी जिताने में कोई कसर नहीं छोड़ेंगे।

Edited by सावन गुप्ता
Article image

Go to article

Quick Links:

More from Sportskeeda
Fetching more content...
App download animated image Get the free App now