Create

आईपीएल 2019: चार अंतरराष्ट्रीय दिग्गज जो आईपीएल में असफल रहे

बड़े बड़े दिग्गज आईपीएल में रहे हैं नाकाम
बड़े बड़े दिग्गज आईपीएल में रहे हैं नाकाम

आईपीएल के 12वें सीजन की शुरुआत 23 मार्च को होगी जब विराट कोहली की रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर एमएस धोनी की अगुवाई वाली चेन्नई सुपर किंग्स के विरुद्ध चेन्नई के एम ए चिदंबरम स्टेडियम में खेलने उतरेगी। आईपीएल सबसे लोकप्रिय टूर्नामेंटों में से एक है और कई महान खिलाड़ी इस बड़े मंच पर प्रदर्शन करने के लिए उत्सुक हैं।

इस टूर्नामेंट ने कई खिलाड़ियों को अपने अंतर्राष्ट्रीय टीमों में वापसी का मौका दिया है। उदाहरण के तौर पर शेन वॉटसन एक ऐसे लोकप्रिय अंतरराष्ट्रीय खिलाड़ी रहे हैं जिन्होंने इस टूर्नामेंट में अच्छे प्रदर्शन से अपनी राष्ट्रीय टीम में वापसी की है। 2008 में आईपीएल के पहले सीज़न में राजस्थान रॉयल्स के साथ उनके बेहतरीन प्रदर्शन के बाद उन्हें ऑस्ट्रेलियाई टीम में वापस बुलाया गया था। लेकिन जहां एक और टूर्नामेंट कुछ खिलाड़ियों के लिए भाग्यशाली रहा है, वहीं कुछ दिग्गज ऐसे भी रहे हैं जिन्हें इस लीग में वैसी सफलता नही मिली, जिसकी उनसे उम्मीद थी। यहां हम ऐसे ही 4 खिलाड़ियों पर नज़र डाल रहे हैं जो आईपीएल में अपनी उपस्थिति दर्ज कराने में असफल रहे हैं:


# 1 सनथ जयसूर्या

जयसूर्या 90 के दशक में सबसे विस्फोटक बल्लेबाजों में से एक थे
जयसूर्या 90 के दशक में सबसे विस्फोटक बल्लेबाजों में से एक थे

खेल के दिग्गजों में से एक, श्रीलंका के सनथ जयसूर्या अपने पूरे करियर में विस्फोटक बल्लेबाजी के लिए जाने जाते थे। टेस्ट क्रिकेट और धीमी स्ट्राइक-रेट के ज़माने में, जब 75 के ऊपर का स्ट्राइक रेट बड़ी बात होती थी, जयसूर्या का एकदिवसीय स्ट्राइक रेट 91 का था और विपक्षी गेंदबाज हमेशा पावर प्ले ओवरों में जयसूर्या को गेंदबाजी करने से घबराते थे।

उन्होंने अपने समय में सबसे तेज 50 (17 गेंद) और सबसे तेज 100 (48 गेंद) का रिकॉर्ड बनाया था जो कि बाद में जा के टूटा। 2008 में आईपीएल में आते हुए, वह सबसे अधिक विस्फोटक बल्लेबाजों में से एक थे और नीलामी के समय सभी टीमों की सूची में थे।

हालांकि, मुंबई इंडियंस के लिए खेलते हुए श्रीलंका के इस बल्लेबाज़ का प्रदर्शन निराशाजनक था। 30 आईपीएल मैच में, सनथ सिर्फ 27 के औसत से 768 रन बनाने में सफल रहे। चौथे आईपीएल सीज़न से, जयसूर्या को नीलामी में कोई खरीदार नही मिला और वह इंडियन प्रीमियर लीग में फिर कभी नहीं खेले।

Hindi Cricket News, सभी मैच के क्रिकेट स्कोर, लाइव अपडेट, हाइलाइट्स और न्यूज़ स्पोर्ट्सकीड़ा पर पाएं।

# 2 ब्रेट ली

ब्रेट ली अपने समय के सबसे तेज गेंदबाजों में से एक थे
ब्रेट ली अपने समय के सबसे तेज गेंदबाजों में से एक थे

ब्रेट ली ने क्रिकेट की दुनिया में आगमन से ही सबको अपनी तेज़ गेंदबाजी से अपना कायल बना दिया। ऑस्ट्रेलिया के सबसे सफल टेस्ट गेंदबाजों में से एक, ब्रेट ली बेहद तेज़ गति से गेंदबाज़ी करते थे और शानदार सटीकता के साथ। नई गेंद के साथ उनकी क्षमता ने उन्हें उस समय उभरते हुए टी 20 प्रारूप के लिए एकदम फिट बना दिया।

2008 में जब वह अपने चरम पर थे तो आईपीएल के पहले सीज़न में वह किंग्स इलेवन पंजाब की ओर से खेले थे। दुर्भाग्य से ली आईपीएल में उतना प्रभाव नहीं छोड़ पाए, जितना कि उन्होंने अपनी राष्ट्रीय टीम ऑस्ट्रेलिया के लिए किया था। जहां ली का अंतर्राष्ट्रीय टी 20 में गेंदबाजी औसत 25.5 का था, वही इसके विपरीत आईपीएल में वह 38 मैचों में, 43.8 की खराब औसत से केवल 25 विकेट ले पाए।

आईपीएल में ली कुल 2 आईपीएल टीमों के लिए खेले थे, पहले पंजाब के लिए और बाद में वह कोलकाता नाइट राइडर्स के साथ जुड़े थे।

# 3 रिकी पोंटिंग

रिकी पोंटिंग वर्तमान में दिल्ली कैपिटल के कोच हैं
रिकी पोंटिंग वर्तमान में दिल्ली कैपिटल के कोच हैं

इस सूची में सबसे बड़े नामों में से एक पूर्व ऑस्ट्रेलियाई कप्तान और 3 बार के विश्व चैंपियन, रिकी पोंटिंग हैं। पोंटिंग टी 20 प्रारूप खेलने वाले पहले खिलाड़ियों में से एक थे। न्यूज़ीलैण्ड के खिलाफ पहले टी 20 अंतरराष्ट्रीय मैच में पोंटिंग ने 98 रनों की तूफानी पारी खेली थी और उन्हें मैन ऑफ़ द मैच का पुरस्कार दिया गया था।

हालांकि, जैसे-जैसे साल बीतते गए, पोंटिंग उसी प्रकार निरंतर प्रदर्शन नहीं कर सके, जो उन्होंने टेस्ट क्रिकेट और एकदिवसीय प्रारूप में किया था। पोंटिंग ने 43 टी 20 पारियों में 909 रन बनाए हैं।

इसके आलावा आईपीएल में, वह खेले गए 10 मैचों में 10.11 की बेहद खराब औसत से केवल 91 रन बनाने में सफल रहे थे। पोंटिंग आईपीएल में कोलकाता नाइट राइडर्स और मुंबई इंडियंस का हिस्सा रहे थे। वर्तमान में, वह दिल्ली कैपिटल के कोच और मेंटर हैं।

# 4 इयोन मॉर्गन

मॉर्गन 2010 टी 20 विश्व कप विजेता इंग्लैंड की टीम का हिस्सा थे
मॉर्गन 2010 टी 20 विश्व कप विजेता इंग्लैंड की टीम का हिस्सा थे

वनडे और टी 20 में इंग्लैंड के वर्तमान कप्तान, इयोन मॉर्गन क्रिकेट की दुनिया के विस्फोटक बल्लेबाजों में से एक हैं। अपने अपरंपरागत शॉट्स के लिए जाने जाने वाले मॉर्गन हमेशा इंग्लैंड के लिए टी 20 में एक महान खिलाड़ी रहे हैं। वह 2010 के टी 20 विश्व कप विजेता इंग्लैंड का हिस्सा था और इंग्लैंड की टीम के लिए मध्य क्रम में एक महत्वपूर्ण किरदार निभाया था।

हालाँकि, मॉर्गन आईपीएल में अपनी राष्ट्रीय टीम की सफलता को दोहराने में सक्षम नहीं थे। 52 आईपीएल मैच में, वह 21.35 के औसत से 854 रन बनाने में सफल रहे हैं। मॉर्गन अब तक रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर, कोलकाता नाइट राइडर्स, सनराइजर्स हैदराबाद और किंग्स इलेवन पंजाब का हिस्सा रहे हैं। 2019 की आईपीएल नीलामी में, उन्हें उनके विश्व कप के लिए आगे की तैयारियों और अनुपलब्धता के चलते कोई भी खरीदार नही मिला।

Quick Links

Edited by Naveen Sharma
Be the first one to comment