Create

भारतीय टीम में राजस्थान रॉयल्स के कप्तान को क्यों नहीं मिली जगह, हरभजन सिंह ने बताया बड़ा कारण 

संजू सैमसन को आईपीएल में अच्छे प्रदर्शन के बावजूद नहीं चुना गया है
संजू सैमसन को आईपीएल में अच्छे प्रदर्शन के बावजूद नहीं चुना गया है

हरभजन सिंह (Harbhajan Singh) राजस्थान रॉयल्स (Rajasthan Royals) के कप्तान संजू सैमसन (Sanju Samson) के दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ टी20 सीरीज (IND vs SA) के लिए भारतीय टीम से बाहर होने से हैरान नहीं हैं। भज्जी का कहना है कि विकेटकीपर-बल्लेबाज ने नेशनल टीम में जगह बनाने के लिए पर्याप्त रन नहीं बनाए हैं।

हाल ही में जब बीसीसीआई ने अगले महीने दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ पांच मैचों की टी20 इंटरनेशनल सीरीज के लिए भारतीय टीम का चयन किया, तो सैमसन को चुना नहीं गया। अनुभवी विकेटकीपर बल्लेबाज दिनेश कार्तिक और ऑलराउंडर हार्दिक पांड्या ने अपने प्रभावशाली आईपीएल 2022 प्रदर्शन के आधार पर भारतीय टीम में वापसी की।

सैमसन को आईपीएल 2022 में खुद को साबित करने का एक और मौका मिलेगा, जब राजस्थान की टीम शुक्रवार को अहमदाबाद के नरेंद्र मोदी स्टेडियम में क्वालीफ़ायर 2 में रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर से भिड़ेगी। मौजूदा सीजन में राजस्थान के कप्तान की बल्लेबाजी की समीक्षा करते हुए, हरभजन ने स्पोर्ट्सकीड़ा से कहा,

संजू सैमसन में काफी पोटेंशियल है, लेकिन उन्होंने उतने रन नहीं बनाए हैं। उन्होंने 20s और 30s के कुछ स्कोर बनाये हैं लेकिन फिर अपनी लापरवाही के कारण आउट हो गए हैं। उन्होंने स्पिनरों और तेज गेंदबाजों दोनों के खिलाफ अपना विकेट कई बार गिफ्ट में दिया है। अगर उन्होंने 30s के बजाय 70s के स्कोर बनाये होते, तो वह भारतीय स्क्वाड में होते।
youtube-cover

सैमसन को फरवरी में श्रीलंका के खिलाफ तीन मैचों की टी20 सीरीज में मौका मिला। उन्होंने दो पारियों में 57 रन बनाए, जिसमें उनका सर्वाधिक स्कोर 39 रन था।

क्वालीफ़ायर 1 में जोस बटलर सर्वश्रेष्ठ लय में नहीं दिखे - हरभजन सिंह

हरभजन ने गुजरात टाइटंस के खिलाफ क्वालीफायर 1 में राजस्थान रॉयल्स के सलामी बल्लेबाज जोस बटलर की पारी की भी आलोचना की। पूर्व ऑफ स्पिनर ने कहा कि बटलर ने 56 गेंदों में 89 रन बनाए, लेकिन शुरुआत में उनकी धीमी बल्लेबाजी ने टीम की गति को प्रभावित किया। उन्होंने कहा,

जोस बटलर क्वालीफायर 1 में मेरी नजर में सर्वश्रेष्ठ नहीं दिखे, हालांकि उन्होंने रन बनाए। आईपीएल 2022 के पहले हाफ में उन्होंने बेहतरीन प्रदर्शन किया। उन्होंने पूरी आजादी के साथ अपने स्ट्रोक खेले। हालांकि पिछले मैच में उनकी पारी में काफी अनिश्चितता थी। उन्होंने अपनी पहली 35 गेंदों में 37 रन बनाए। अगर वह उस समय आउट हो गए होते तो वह बहुत सारी गेंदें बर्बाद कर देते। मुझे नहीं लगता कि यह सही तरीका है। अंत में उन्होंने 21 गेंदों में जो 50 रन बनाए, वह शुरुआत में ही आने चाहिए थे। ऐसे में उन्हें अपनी बल्लेबाजी रणनीति पर फिर से विचार करने की जरूरत है।

Quick Links

Edited by Prashant Kumar
Be the first one to comment