Create
Notifications

"मेरा नाम बिकता है, मुझे इसमें कोई समस्या नहीं" - आलोचनाओं को लेकर हार्दिक पांड्या ने दी बड़ी प्रतिक्रिया

हार्दिक पांड्या के लिए आईपीएल 2022 शानदार साबित हुआ है
हार्दिक पांड्या के लिए आईपीएल 2022 शानदार साबित हुआ है
Prashant Kumar

आईपीएल 2022 (IPL 2022) से पहले हार्दिक पांड्या (Hardik Pandya) को लेकर काफी सवाल उठ रहे थे लेकिन इस खिलाड़ी ने सभी सवालों का जवाब मौजूदा सीजन में दिया है। बतौर कप्तान उनकी टीम फाइनल में पहुँच चुकी है तथा उन्होंने व्यक्तिगत तौर पर बल्ले और गेंद के साथ भी परिपक्वता दिखाते हुए शानदार प्रदर्शन किया है। हार्दिक की टीम गुजरात टाइटंस (GT) लीग चरण में सबसे ऊपर रही और फाइनल में भी सबसे पहले पहुंची है। इससे साफ़ तौर पर पता चलता है कि उन्होंने अपने खिलाड़ियों को कितने बेहतरीन तरीके से लीड किया है।

राजस्थान रॉयल्स के खिलाफ क्वालीफ़ायर 1 जीतने के बाद हार्दिक से जब उनकी फिटनेस और प्रदर्शन को लेकर हुई आलोचना के बारे में पूछा गया तो उन्होंने मजेदार जवाब दिया।

प्रेस कॉन्फ्रेंस में उन्होंने कहा,

लोग हमेशा बात करते हैं, यही उनका काम है। मैं मदद नहीं कर सकता। 'हार्दिक पांड्या' नाम हमेशा बिकता है। मुझे इससे कोई समस्या नहीं है, मैं बस मुस्कुराते हुए चेहरे के साथ इसे आसानी के साथ मैनेज करता हूँ।

पिछले कुछ समय हार्दिक पांड्या किसी न किसी कारण से लगातार चर्चा में रहे हैं लेकिन इस खिलाड़ी ने सब कुछ पीछे छोड़ते हुए शानदार वापसी की है।

मैंने उनसे काफी अच्छी चीजें सीखी हैं - एमएस धोनी

मुंबई इंडियंस द्वारा रिलीज किये जाने के बाद हार्दिक को गुजरात ने 15 करोड़ देकर ड्राफ्ट के माध्यम से चुना था और उन्हें अपनी टीम का कप्तान भी बनाया।

हालाँकि उनको कप्तान बनाये जाने को लेकर कई लोगों ने सवाल भी उठाये थे लेकिन उन्होंने सबको गलत सबित कर दिया। हार्दिक ने आगे बताया कि उन्होंने एमएस धोनी से काफी कुछ सीखा है और ठंडे दिमाग से स्थिति के मुताबिक एप्रोच किया है।

गुजरात टाइटंस के कप्तान ने कहा,

जाहिर है माही भाई ने मेरे जीवन में एक बड़ी भूमिका निभाई है। वह मेरे लिए एक प्रिय भाई, एक प्रिय मित्र और परिवार है। मैंने उनसे काफी अच्छी चीजें सीखी हैं।
मेरे लिए, यह व्यक्तिगत रूप से मजबूत होने के बारे में अधिक था, साथ ही मैंने सभी भागों को अच्छे से कैसे मैनेज किया मुझे वास्तव में खुद पर गर्व है। कप्तानी से पहले भी, मैंने हमेशा यह सुनिश्चित किया कि मैं सभी परिस्थितियों का सामना ठंडे दिमाग से करूं। आम तौर पर, आप इस तरह से बेहतर निर्णय लेते हैं। मेरे लिए मेरे जीवन में, और मेरी क्रिकेट यात्रा में, जल्दबाजी करने के बजाय 10 सेकंड का अतिरिक्त समय देना महत्वपूर्ण था।

Edited by Prashant Kumar

Comments

comments icon2 comments

Quick Links:

More from Sportskeeda
Fetching more content...