आयरलैंड के खिलाफ अंतिम 3 गेंदों से पहले कप्तान हार्दिक पांड्या की अहम सलाह का उमरान मलिक ने किया खुलासा 

उमरान मलिक ने आखिरी ओवर में हार्दिक पांड्या के भरोसे को सही साबित किया
उमरान मलिक ने आखिरी ओवर में हार्दिक पांड्या के भरोसे को सही साबित किया

आयरलैंड के खिलाफ दूसरे टी20 मैच (IND vs IRE) में आखिरी ओवर में जबरदस्त गेंदबाजी करते हुए, उमरान मलिक (Umran Malik) ने भारत को हाई स्कोरिंग मैच में जीत दिलाई। दूसरे मैच में जीत के साथ ही भारतीय टीम ने 2-0 से सीरीज भी अपने नाम कर ली। कप्तान हार्दिक पांड्या (Hardik Pandya) ने मैच का अंतिम ओवर युवा तेज गेंदबाज को दिया और उन्होंने अपने ऊपर दिखाए गए भरोसे को सही साबित किया।

आखिरी ओवर की पहली गेंद पर मलिक ने कोई रन नहीं दिया। इसके बाद अगली गेंद पर भी कोई रन नहीं गया लेकिन नो बॉल निकली। अगली दो गेंदों में मार्क अडेयर ने चौके जड़ दिए। इस तरह अंतिम 3 गेंदों में आयरलैंड को 8 रन की दरकार थी। उमरान ने चतुराई के साथ गेंदबाजी की और महज तीन रन खर्च किये तथा भारत को 4 रन मैच जिताया।

हार्दिक भाई ने डॉट गेंदें डालने के लिए कहा - उमरान मलिक

आखिरी ओवर के घटना क्रम को बीसीसीआई द्वारा पोस्ट किये गए वीडियो में साझा करते हुए, उमरान मलिक ने कहा:

अच्छा लगा जब मैंने आखिरी ओवर में 17 रन का सफलतापूर्वक बचाव किया। मेरी योजना पहली गेंद को थोड़ा वाइड करने की थी। तब हार्दिक भाई (हार्दिक पांड्या) ने मुझसे कहा कि मैं अपनी नॉर्मल गेंद डालूं। दुर्भाग्य से, यह नो-बॉल हो गई। जब तीन गेंदों पर आठ रन चाहिए थे, तो हार्दिक भाई ने मुझसे कहा कि अगर दो डॉट गेंदें भी हुईं, तो भी हम जीतेंगे। मैंने तीन सिंगल दिए और गेम जीत लिया।

डेब्यू कैप मिलने पर भावुक हो गए थे उमरान मलिक

उमरान मलिक को दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ डेब्यू का मौका नहीं मिला था लेकिन आयरलैंड के खिलाफ पहले टी20 में ही उन्हें खेलने का मौका मिला। अपने डेब्यू को लेकर मलिक ने खुलासा किया कि वह काफी भावुक हो गए थे और उनकी आँखों में आंसू थे। उन्होंने कहा,

भारत के लिए खेलना मेरा सपना था। सपना पूरा हुआ जब भुवी भाई (भुवनेश्वर कुमार) ने मुझे इंडियन कैप दी। मैं उस समय लगभग रो दिया था।

Quick Links

Edited by Prashant Kumar